गणतंत्र दिवस के बाद बजट में यहां मिलेगी सौगात...

-किसान संवाद कार्यक्रम में बोले राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग

By: Meghshyam Parashar

Published: 25 Jan 2021, 02:38 PM IST

भरतपुर. भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के पांच गांवों में किसान संवाद एवं जनसुनवाई कार्यक्रम हुए। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने केन्द्र सरकार की ओर से लाए गए तीन काले कानूनों से होने वाले नुकसानों की जानकारी देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को किसानों की मन की बात सुननी चाहिए और इन कानूनों को शीघ्र वापस लेकर किसान हितों को ध्यान में रखते हुए बनाएं। ताकि किसानों का करीब 60 दिनों से चल रहा आंदोलन समाप्त हो सके।
किसान संवाद एवं जनसुनवाई कार्यक्रम तमरोली, सहनावली, मोरोली खुर्द, महंगाया एवं नगला हरचंद में हुए। जहां उन्होंने बताया कि कृषि देश के विकास में महत्वपूर्ण भागीदारी निभाता है और सर्वाधिक रोजगार भी प्रदान करता है लेकिन केन्द्र सरकार की ओर से अध्यादेश के माध्यम से लाए गए तीन कानून किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बना देंगे। उन्होंने कहा कि इन कानूनों को वापस लें और नए सिरे से कानून बनाते समय किसान प्रतिनिधियों के सुझावों को भी इनमेें शामिल करें। उन्होंने कहा कि किसानों को सार्वाधिक आपत्ति न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी नहीं मिलने एवं स्टॉक सीमा को समाप्त करने से है। यदि इन्हें इन कानूनों से नहीं हटाया गया तो किसानों को पूंजीपतियों की ओर से बर्बाद कर दिया जाएगा। डॉ. गर्ग ने जनसुनवाई के दौरान बताया कि भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के करीब 26 हजार ओलावृष्टि प्रभावित किसानों में से लगभग 25 हजार किसानों को मुआवजे की राशि प्रदान की जा चुकी है जिन किसानों को यह राशि नहीं मिली है वे उपखण्ड अधिकारी से सम्पर्क कर आवेदन में रही कमियों को दूर करा लें। इससे उनकी राशि उनके खाते में आ सके। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के किसानों की आय तभी दोगुनी हो सकती है जब केन्द्र सरकार 40 हजार करोड़ रुपए की महत्वकांक्षी परियोजना ईस्र्टन कैनाल प्रोजेक्ट को स्वीकृत कर दे। इस परियोजना से भरतपुर सहित 13 जिले के किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने यह भी बताया कि राज्य सरकार बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करने के लिए निरन्तर प्रयास कर रही है अब तक करीब 81 हजार युवक-युवतियों को रोजगार दिया जा चुका है तथा 34 हजार नई भर्तियों की विज्ञप्ति जारी की जा चुकी है। इधर, तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने रविवार को बी नारायण गेट से होकर निकलते समय जर्जर हालत में गेट को देखा तो उन्होंने तुरन्त जिला कलक्टर नथमल डिडेल का निर्देश दिए कि गेट कभी भी धराशाही हो सकता है और इससे जानमाल का नुकसान भी होने की संभावना है।

चम्बल का पानी पहुंचने पर ग्रामीणों के चेहरों पर आई मुस्कान

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने किसान संवाद कार्यक्रम से पहले जनसुनवाई की। जहां उन्होंने तमरोली गांव में कहा कि गांव की खाली पड़ी भूमि की चारदीवारी कराकर इसे खेल मैदान के रूप में विकसित कराया जाएगा और चम्बल का पानी भी शीघ्र मुहैया कराने के प्रयास जारी हैं। जिन गांवों में चम्बल का पानी पहुंच गया। उन गांवों के लोगों के चेहरों पर खुशी दिखाई दी क्योंकि ये लोग वर्षों से मीठे पानी का इन्तजार कर रहे थे। सहनावली गांव में उन्होंने डीपबोर लगाने, पोखर की चारदीवारी व नालियों का निर्माण कराने तथा गांव के संस्कृत विद्यालय को संस्कृत महाविद्यालय के रूप में क्रमोन्नत कराने का विश्वास दिलाया। मोरोली खुर्द गांव में सामुदायिक भवन निर्माण कराने के साथ ही गांव की आवारा गायों को नंदीशाला भिजवाने का आश्वासन दिया। महंगाया गांव में चम्बल के पानी की शीघ्र आपूर्ति कराने और भरतपुर रेल्वे पुल के पास से सौंख तक स्वीकृत सड़क का शीघ्र कार्य शुरू करने का आश्वासन दिया जबकि नगला हरचंद गांव में उन्होंने चम्बल पेयजल के लिए शीघ्र भूमिगत पाइप लाइन डलवाने का विश्वास दिलाया। किसान संवाद कार्यक्रमों में राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष संतोष फौजदार, सतीश सोगरवाल, डॉ. सौदान सिंह, सुरेश मदेरणा, ईश्वर सिंह, मोहन सिंह,राकेश होल्कर, अजयपाल, मनीष, राजू, तुहीराम,रनवीर, मुंशी पहलवान आदि उपस्थित थे।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned