850 रुपए में पूरा परिवार पा सकता पांच लाख रुपए के बीमा का लाभ

- एमएसजे कॉलेज में स्मार्ट साइंस लैब एवं एलिमेंट्री कंप्यूटर लैबों के लोकार्पण समारोह में बोले राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग

By: Meghshyam Parashar

Published: 11 Apr 2021, 02:18 PM IST

भरतपुर. तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने शनिवार को महारानी श्रीजया महाविद्यालय में स्मार्ट साइंस लैब एवं एलिमेंट्री कंप्यूटर लैबों का उद्घाटन किया। जहां उन्होंने कहा कि इन लैबों के माध्यम से कोरोना काल में विद्यार्थियों को अध्ययन एवं प्रायोगिक कार्य करने की सुविधा प्राप्त हो सकेगी। डॉ. गर्ग ने सुझाव दिया कि इन दोनों लैबों का विद्यार्थी अधिकाधिक लाभ उठाएं। इसके लिए वे ऑडियो सिस्टम की व्यवस्था भी कराएं। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल के समय विद्यार्थियों के अध्ययन एवं प्रायोगिक कार्य करने में हो रही परेशानियों से इन लैबों के माध्यम से मुक्ति मिल जाएगी और वे अपना अध्ययन का कार्य नियमित जारी रख सकेंगे। उन्होंने महाविद्यालय के प्राचार्य को निर्देश दिए कि राज्य सरकार की ओर से शुरू की गई मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में अधिकाधिक लोगों के नामांकन कराने के लिए महाविद्यालय परिसर में काउंटर लगवाए और विद्यार्थियों को भी इस योजना की जानकारी दें। इससे वे अपने परिवारीजनों एवं आसपास के लोगों को प्रेरित करें और वे काउन्टरों पर आकर अपना पंजीयन करा सकें।
राज्य मंत्री गर्ग ने कहा कि मुख्यमंत्री की ओर से शुरू हुई इस अनूठी बीमा योजना में 850 रुपए जमा कराकर पूरा परिवार पांच लाख रुपए के बीमा का लाभ प्राप्त कर सकता है। इस बीमा योजना में खाद्य सुरक्षा एवं गरीबी रेखा के सर्वे के अलावा कोई भी व्यक्ति अपना आवेदन दे सकता है। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय में इस योजना के प्रचार प्रसार के लिए प्राध्यापक कक्षाओं में विद्यार्थियों को भी विस्तार से जानकारी दें। इससे वे इस मुहिम को आगे बढा सकें। प्रारम्भ में उन्होंने दोनों लैबों का फीता काटकर लोकार्पण किया। इस अवसर पर नगर निगम के महापौर अभिजीत कुमार, लुपिन के अधिशाषी निदेशक सीताराम गुप्ता, प्राचार्य डॉ. विवेक शर्मा आदि उपस्थित थे।

एमएसजे कॉलेज में बनेगा 50 हजार लीटर क्षमता का उच्च जलाश्य

महारानी श्री जया महाविद्यालय विकास समिति की शनिवार को आयोजित बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि शिक्षकों को अपने दायित्वों का निर्वहन कर विद्यार्थियों को ऐसी शिक्षा देनी चाहिए कि ताकि वे उच्च अध्ययन संस्थानों में प्रवेश लेकर अपनी प्रतिभा का परिचय दे सकें। बैठक में विशिष्ठ अतिथि के रूप में बोलते हुए लुपिन के अधिशाषी निदेशक सीताराम गुप्ता ने कहा कि मानव के विकास में चिकित्सा एवं शिक्षा का सबसे महत्वपूर्ण अंग माना गया है। उन्होंने महाविद्यालय के विकास के लिए 51 हजार रुपए का सहयोग देने की घोषणा भी की। अध्यक्षता करते हुए नगर निगम के महापौर अभिजीत कुमार ने कहा कि नगर निगम की ओर से 50 हजार लीटर क्षमता के उच्च जलाश्य का निर्माण कराया जाएगा। प्राचार्य डॉ. विवेक शर्मा ने अतिथियों का स्वागत किया।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned