खेलते समय कार हुई लॉक, दम घुटने से तीन सहेलियां की मौत

रूपवास थाना क्षेत्र के गांव कांदोली में बुधवार दोपहर खेलते समय घर के बाहर खड़ी एक कार में तीन बच्चियां बैठी हुई थी। अचानक होने से कार लॉक हो गई।

By: rohit sharma

Published: 14 Apr 2021, 11:00 PM IST

भरतपुर. रूपवास थाना क्षेत्र के गांव कांदोली में बुधवार दोपहर खेलते समय घर के बाहर खड़ी एक कार में तीन बच्चियां बैठी हुई थी। अचानक होने से कार लॉक हो गई। परिजनों को जब इसकी जानकारी हुई और कार का दरवाजा खोला तो तीनों बच्चियां बेसुध मिली। जिस पर इन्हें अस्पताल ले गए, जहां इन्हें मृत घोषित कर दिया। अचानक हुई इस घटना से ग्रामीण अंचभित हैं। खास बात ये है मृतकों में शामिल एक बच्ची का जन्म नवरात्रा में ही हुआ था जिस पर परिजन घर पर सत्संग का कार्यक्रम करा रहे थे। कार्यक्रम संपन्न होने पर जब बच्चियों को तलाशा तो वह कार में बेसुध मिली। इस हादसे में परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है।

जानकारों के अनुसार बुधवार दोपहर के समय गांव में एक घर के पास कैलाशचंद शर्मा की कार खड़ी थी। बताया जा रहा है कि उनकी छह वर्षीय पुत्री पीहू कार की चाबी ले आई और अपनी दो सहेली हीना (६ वर्ष) पुत्री रामबाबू जाट व वैष्णवी (६ वर्ष) पुत्री लक्ष्मण जाट निवासी कांदोली के साथ रोजाना की तरफ खेलते हुए कार में सवार हो गई। इस दौरान कार के अंदर एक हिस्से के पर्दे को हटाकर उसके अंदर पहुंच गई और दरवाजे अंदर से बंद कर लिया जिससे कार अंदर से लॉक हो गई। तीनों बालिकाएं अंदर खेलती रही, लेकिन कुछ समय बाद दम घुटने की स्थिति में बालिकाओं ने कार खोलने का प्रयास किया, लेकिन लॉक नहीं खुल सका और तीनों की दम घुटने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि कैलाशचंद के घर पुत्री पीहू की जन्मदिन को लेकर सत्संग कार्यक्रम का आयोजन चल रहा था। आयोजन शाम करीब 4 बजे समाप्त हुआ तो सभी ने तलाश किया तो तीन बच्चियां कार में मिली। उन्हें अस्तपाल ले गए, जहां पर तीनों को मृत घोषित कर दिया।


अपहत नाबालिग लड़की को बरामदगी को लेकर एएसपी से मिला प्रतिनिधिमण्डल


डीग. थाना क्षेत्र के करीब 5 दर्जन लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल नगर पालिका अध्यक्ष निरंजन टकसालिया के नेतृत्व में एएसपी बुगलाल मीणा से मिला और गत 27 मार्च को कस्बे से बहला फुसलाकर अपहरण करके ले जाई गई एक नाबालिग लड़की को बरामद करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में शामिल लोगों का कहना था कि गत 27 मार्च को कक्षा 10वीं की छात्रा अपने घर से पढऩे स्कूल जाने के लिए निकली थी। आरोप है कि उसे एक युवक बहला-फुसलाकर अपहरण करके ले गया। उक्त आरोपी पिछले 3 वर्ष से अपनी बहन के पास लड़की के पड़ोस में ही रह रहा था। इस आशय की रिपोर्ट लड़की के पिता द्वारा गत 30 मार्च को थाना पर दर्ज कराई गई है। इसमें बताया कि आरोपित के माता पिता के पास जब वह अपनी लड़की को तलाश करते हुए उनके घर पर पहुंचे तो आरोपी के पिता और मा ने उनसे कहा कि वह अपने पुत्र की शादी उसकी पुत्री के साथ करेंगे। अब उसकी पुत्री को वापस नहीं करेंगे। प्रतिनिधिमंडल में शामिल लोगों का आरोप था कि लड़की के परिजन एक पखवाड़े से डीग कोतवाली के चक्कर काट रहे हैं लेकिन पुलिस कार्यवाही के स्थान पर सिर्फ झूठे आश्वासन दे रही है। जिस पर एएसपी मीणा ने थाना प्रभारी रघुवीर सिंह को बुलाकर इस मामले में अब तक की प्रगति की रिपोर्ट ली और प्रतिनिधिमंडल को शीघ्र ही अपहृत लड़की को दस्तयाब करने का आश्वासन दिया।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned