इकलौते भाई की सड़क दुर्घटना में मौत के बाद साथी पुलिसकर्मियों ने निभाया भाई का धर्म

- पुलिसकर्मियों ने की मृतक साथी की बहन की शादी
- शादी की पूरी व्यवस्था के साथ ही विदाई तक रहे मौजूद

By: Meghshyam Parashar

Updated: 01 Jul 2020, 11:05 AM IST

भरतपुर/रुदावल . पांच बहनों के इकलौते भाई की सड़क दुर्घटना में मौत के बाद सवाईमाधोपुर जिले की पुलिस ने मृतक पुलिसकर्मी की बहन की शादी कर अनूठी मिसाल पेश की है। हादसे में दिवंगत हुए साथी की बहन की मंगलवार को कस्बे में हुई। इस शादी में पुलिसकर्मियों की ओर से निभाए गए धर्म की खासी चर्चा रही।
जानकारी के अनुसार 19 जून को रूपवास थाना क्षेत्र के नगला पूठियां के निकट कार एवं बाइक की टक्कर में बाइक सवार कस्बा निवासी रामेन्द्र सक्सैना पुत्र लौहरे सक्सैना की मौत हो गई। मृतक सवाईमाधोपुर कोतवाली थाने पर कांस्टेबल था। मृतक पुलिसकर्मी पांच बहनों का इकलौता भाई होने के साथ ही पिता के निधन के बाद वह घर का मुखिया था। चार बहनों की शादी के बाद सबसे छोटी बहन साधना की 30 जून को होने वाली शादी के लिए अपनी अन्य बहनों की ससुराल निमंत्रण देने के लिए जाते समय हादसे का शिकार हो गया। घटना के बाद पुलिसकर्मी साथी उसके घर आए तो परिवार में कोई जिम्मेदार नहीं होने की जानकारी मिली। साथी पुलिसकर्मी प्रेम सिनसिनी ने बताया कि मृतक रामेन्द्र ने बहन की शादी करने के लिए छह लाख रुपए का लोन लेने के लिए आवेदन किया था। वह अपनी छोटी बहन की शादी धूमधाम से करने की बात करता था। इस घटना के बाद साथी पुलिसकर्मियों ने ऐसी स्थिति में मृतक साथी रामेन्द्र की बहन की शादी करने का बीड़ा उठाया। पुलिसकर्मियों ने मृतक के परिजनों को शादी का पूरा खर्चा करने का संकल्प लेते हुए जहां शादी पर करीब पांच लाख रुपए खर्च किए। वहीं मृतक साथी की मां हीरादेई को तीन लाख रुपए की फिक्स डिपोजिट कराकर दी है।

भाई बनकर शादी की निभाई जिम्मेदारी

शादी से एक दिन पूर्व ही कस्बे के एक मैरिज होम में दावत की व्यवस्थाएं रखी गईं। पुलिसकर्मियों की ओर से मैरिज होम, दावत, दहेज एवं नकदी के अलावा अन्य सभी खर्च उठाए गए। मंगलवार को हरियाणा के फाटनगर, पलवल से आई बारात का पुलिसकर्मियों ने पहले स्वागत सत्कार किया। वहीं फेरों से पूर्व लग्न का कार्यक्रम रखा गया, जिसमें साथी पुलिसकर्मियों ने साधना के भाई का धर्म निभाते हुए मृतक रामेन्द्र के पुत्र से लग्न कार्यक्रम को सम्पन्न कराया। लग्न में दो लाख 21 हजार रुपए नगद, सोने की जंजीर, अंगूठी, झुमकी एवं सभी के कपड़े, घडी, मिठाई व अन्य सामान दिया। वहीं कन्यादान स्वरूप सोफा, बैड, फ्रीज, कूलर, एलईडी, मिक्सी, वाशिंग मशीन, सिलाई मशीन एवं ड्रेसिंग सहित अन्य घरेलू सामान दिया है।

इन पुलिसकर्मियों का रहा सहयोग

पूर्व पुलिसकर्मी दौलतसिंह चौधरी ने बताया कि साथी पुलिसकर्मी प्रेम सिनसिनी ने जब इस घटना की जानकारी देते हुए सभी साथी पुलिसकर्मियों की भावनाओं से अवगत कराया तो वह भी अपने आप को इस पुनीत कार्य में शामिल करने से नहीं रोक सके। इस पुनीत कार्य में कांस्टेबल रामेश्वर सोलंकी, विश्वेन्द्र सिंह, संग्राम सिंह, अजीत, हैड कास्टेबल धर्मेन्द्र मीणा, जितेन्द्र मीणा, पवन फौजदार, अजय डागुर, अजय अग्रे एवं जितेन्द्र परसवारा का विशेष सहयोग रहा। वहीं मृतक रामेन्द्र के पड़ोसियों ने भी शादी की तैयारियों में अपना योगदान दिया।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned