वसुंधरा की धार्मिक यात्रा पर सियासी घमासान, करीब छह हजार लोगों का बनेगा भोजन

-पूर्व विधायक विजय बंसल बोले: वसुंधरा राजे ही सीएम पद का चेहरा
-आदिबद्री में वसुंधरा राजे समर्थित पदाधिकारियों व पूर्व विधायकों को सौंपा भीड़ जुटाने का जिम्मा
-सात मार्च को आएंगी गोवर्धन के गांव कौंथरा, अब अगले दो-तीन में दिन वरिष्ठ नेता भरतपुर आकर लेंगे कार्यकर्ताओं की बैठक

By: Meghshyam Parashar

Published: 23 Feb 2021, 01:14 PM IST

भरतपुर. पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की धार्मिक यात्रा से पहले अब सियासी घमासान भी शुरू हो गया है। उनके समर्थित पूर्व विधायक विजय बंसल ने तो सोमवार को यहां तक बयान दिया कि भाजपा में कोई मनभेद या मतभेद नहीं है। सीएम पद का चेहरा वसुंधरा राजे ही है। आगामी चुनाव में भाजपा उनके ही नेतृत्व में सरकार बनाएगी। इधर, आठ मार्च को प्रस्तावित वसुंधरा राजे की धार्मिक यात्रा की तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं। कार्यक्रम के अनुसार वे हेलीकॉप्टर से उत्तरप्रदेश के गोवर्धन स्थित गांव कौंथरा पहुंचेंगी। जहां निजी वाहन से पूंछरी में पूजा अर्चना करेंगी। श्रीनाथजी के दर्शन करने के बाद दानघाटी समेत अन्य धार्मिक स्थलों के दर्शन करेंगी। इसके बाद डीग के आदिबद्री धाम जाएंगी। जहां पांच से छह हजार लोगों की भोजन व्यवस्था की गई है। जहां धार्मिक यात्रा के रूप में ही वे कार्यकर्ताओं के साथ आठ मार्च को अपना जन्मदिन मनाएंगी। भीड़ जुटाने का जिम्मा भी राजे समर्थित भाजपा के पूर्व विधायकों को ही सौंपा गया है। आगामी दो-तीन दिन के अंदर पूर्व सार्वजनिक निर्माण मंत्री युनूस खान वरिष्ठ नेताओं के साथ आकर कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे। इसमें कार्यक्रम को पूरी जानकारी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं के साथ साझा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपने जन्मदिन पर को भरतपुर आ रही हैं। इस धार्मिक यात्रा को लेकर भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी के नेतृत्व में कुछ नेता उन स्थानों पर जाकर तैयारियों का जायजा ले चुके हैं, जहां वसुंधरा राजे जाएंगी। भाजपा के पूर्व जिला महामंत्री शिवराज तमरौली ने बताया कि कार्यक्रम लगभग तय हो चुका है। आदिबद्री में पांच हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था की जा रही है। गोवर्धन में संबंधित मंदिरों के सेवायतों से भी कार्यक्रम के बारे में बात की गई है। तीन पंडितों को भी पूजा कराने के लिए तय किया है। यह सिर्फ धार्मिक कार्यक्रम है। जन्मदिन की बधाई देने के लिए कार्यकर्ता और पदाधिकारियों के साथ समर्थक भी आएंगे। इसलिए भीड़ के हिसाब से भी कार्यक्रम की तैयारियां की जा रही है।

धार्मिक यात्रा से संगठन में बन रहे हैं नए समीकरण

बताते हैं कि वसुंधरा राजे की धार्मिक यात्रा के कार्यक्रम की सूचना लीक होने के साथ ही अब भरतपुर में भाजपा में भी नए समीकरण बन रहे हैं। चूंकि अब तक धार्मिक यात्रा को लेकर जितने भी दौरे वरिष्ठ नेताओं ने किए हैं, उनमें सिर्फ राजे समर्थित पूर्व विधायक व कार्यकर्ता दिखाई दिए हैं। जिलाध्यक्ष समेत कोई भी पदाधिकारी उनके साथ नजर नहीं आया है। पिछले दिनों युनूस खान के दौरे में राजे के समर्थक समझे जाने वाले पूर्व विधायक विजय बंसल, पूर्व सांसद बहादुर सिंह कोली, पूर्व विधायक अनीता सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष गिरधारी तिवारी, डॉ. जितेंद्र सिंह, पूर्व महामंत्री शिवराज सिंह तमरौली आदि उनके साथ नजर आए, लेकिन दूसरा गुट कहीं भी नजर नहीं आया।

पूर्व विधायक विजय बंसल बोले: भरतपुर को राजे ने ही दी हैं सौगातें

पूर्व विधायक विजय बंसल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के दौरे को लेकर भरतपुर की जनता में बहुत बड़ा उत्साह है। पिछले दो बार के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में 70 साल से पिछड़ा हुआ भरतपुर विकास के पथ पर अग्रसर हुआ। भरतपुर को मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज, नगर परिषद् से नगर निगम, महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज, भरतपुर से जयपुर चार लाइन सड़क यह वसुंधरा राजे की ही देन है। इसको लेकर भारी उत्साह व उल्लास है। सीएम के फेस को लेकर पार्टी में कोई मतभेद या मनभेद नहीं है। भाजपा में पिछले दो बार के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में जो सौगात मिली वह कभी नहीं हुए। भाजपा सरकार में काम हुए और कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री खजाना खाली है कहकर रोता रहा। भाजपा में वसुंधरा राजे ही मुख्यमंत्री पद का चेहरा है। वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही पार्टी अपनी सरकार बनाएगी।

पार्टी से निष्कासित हो चुके हैं विजय बंसल

नगर निगम चुनाव में भाजपा का मेयर नहीं बनने पर पार्टी में आंतरिक कलह व आपस में जमकर आरोप लगे थे। ऐसे में पार्टी ने जांच कराने के बाद पूर्व विधायक विजय बंसल व नगर निगम के पूर्व महापौर शिवसिंह भोंट को प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था। साथ ही कारण बताओ नोटिस भी दिया था। हालांकि यह दोनों ही राजे समर्थक माने जाते रहे हैं। पिछले कुछ माह पूर्व भी धौलपुर जाते समय राजे ने विजय बंसल से मुलाकात की थी। ऐसे में बयान और धार्मिक यात्रा के बीच अटकलें लगाई जा रही है कि राजे गुट ही कार्यक्रम को सफल बनाने की तैयारियों में जुटा हुआ है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned