पहले बहन को खोया, अब हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए दर-दर की खा रहा ठोकर

-आरोपी राजीनामा करने के लिए बना रहे दबाव, पीडि़त भाई ने लगाई एसपी से गुहार

By: Meghshyam Parashar

Published: 23 Sep 2021, 08:00 PM IST

भरतपुर. दो महीने पहले दहेज की मांग को लेकर विवाहिता की हत्या कर के बाद आत्महत्या का रूप देकर कृत्य को छिपाने वाले मृतका के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर उसका भाई दर-दर की ठोकर खा रहा है, लेकिन उसे न्याय नहीं मिल पा रहा है। उसने ससुराल वालों पर उसकी छोटी बहन को भी प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। पुलिस भी आरोपियों को गिरफ्तार करने में रुचि नहीं दिखा रही है जबकि पीडि़त पुलिस थाने के चक्कर लगाकर परेशान हो गया। पुलिस पीडि़त को थाने से फटकार कर भगा देती है।
पीडि़त पुष्पेंद्र कुमार ने परेशान होकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से हत्या आरोपियों को गिरफ्तार कराने की गुहार लगाई है। सुपर मार्केट के सामने रहने वाले पुष्पेंद्र कुमार ने पुलिस अधीक्षक को दिए पत्र में बताया कि वर्ष 2013 में उन्होंने दो बहनों की शादी सामूहिक विवाह सम्मलेन में उच्चैन के मदरियापुरा निवासी रामस्वरूप के पुत्र सुन्दर और भूरा के साथ की थी। धार्मिक रीति रिवाज से शादी कर दोनों बहनों को ससुराल के लिए विदा कर दिया था। कुछ दिन तो सब ठीक ठाक चलता रहा, लेकिन बाद में उसकी बहनों के ससुरालजन दहेज की मांग करने लगे और मांग पूरी नहीं होने पर उसकी बहनों को प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। उसकी बड़ी बहन लता ने जब पीहर पक्ष को अपने साथ हुई आपबीती बताई तो उन्होंने गणमान्य नागरिकों के माध्यम से ससुरालवालों के साथ समझाइश की तब उन्होंने आगे से उसकी बहिनों के साथ किसी तरह का जुल्म नहीं करने का विश्वास दिलाया, लेकिन कुछ दिनों बाद फिर से प्रताडि़त करने लगे और फिर गत 17 जुलाई को उसकी बहन लता का गला घोंटकर हत्या कर दी। इसे आत्महत्या का रूप देकर घर से फरार हो गए। पीडि़त ने बताया कि गांव के लोगों ने ही उन्हें बहन की हत्या करने की सूचना दी। बाद में मृतका का पोस्टमार्टम कराकर बहन के ससुरालीजन कस्तूरी, सुशीला, कलुआ सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ उच्चैन थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई। पीडि़त पुष्पेंद्र ने आरोप लगाया कि पुलिस के अनुसंधान अधिकारी की ओर से आरोपियों से मिलीभगत कर रखी है। इस वजह से आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही और आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। साथ ही दूसरी बहन रेखा को भी धमका कर राजीनामा कराने का दवाब बना रहे है। पीडि़त ने आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कराने की मांग कर न्याय दिलाने की मांग की है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned