प्रिंसीपल के कार्यालय पर जड़ दिया ताला, पुलिस ने की समझाइश

रूपवास कस्बे के राजकीय महाविद्यालय में लेक्चरर नहीं लगाए जाने को लेकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने जिला संयोजक कृष्णा जाट के नेतृत्व में विरोध करते हुए प्रिंसीपल कार्यालय पर तालाबंदी की गई।

By: rohit sharma

Published: 17 Feb 2021, 09:18 PM IST

भरतपुर. रूपवास कस्बे के राजकीय महाविद्यालय में लेक्चरर नहीं लगाए जाने को लेकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने जिला संयोजक कृष्णा जाट के नेतृत्व में विरोध करते हुए प्रिंसीपल कार्यालय पर तालाबंदी की गई। सूचना पर एसआई सुगन मीणा को मौके पर पहुंचे और समझाइश कर ताला खुलवाया। बताया जा रहा है कि बुधवार को एबीवीपी कार्यकर्ता राजकीय महाविद्यालय पहुंच गए। जहां किसी भी शिक्षक के नहीं मिलने पर इन्होंने प्रिंसीपल डॉ. रविन्द्र कुमार के कार्यालय पर तालाबंदी कर दी। जानकारी मिलने पर तहसीलदार अल्का श्रीवास्तव ने थाना प्रभारी भोजाराम को अवगत कराया। जिस पर पुलिस ने पहुंच समझाइश की। जाट ने बताया कि महाविद्यालय में ५ विषय इसी सत्र २०२०-२१ में शुरु किए गए है। जिसमें राज. विज्ञान, अर्थशास्त्र, समाज शास्त्र, इतिहास व लोक प्रशासन है। इन विषयों को पढ़ाने के लिए कोई भी शिक्षक नहीं है। जिससे कक्षाएं शुरु नहीं हो सकी हंै। महाविद्यालय में कार्यालय कार्य के लिए भी कोई लिपिक व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी नहीं है। महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं के लिए स्कॉलरशिप पोर्टल भी अभी तक शुरु नहीं हो पाया है। जिससे को भी छात्र-छात्रा स्कॉलरशिप के लिए आवेदन नहींकर सका।


परमदरा में छात्र-छात्राओं ने लगातार तीसरे दिन कक्षाओं का किया बहिष्कार


डीग तहसील के गांव परमदरा में बुधवार को छात्र-छात्राओं ने गांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पर एक शिक्षक को नहीं हटाने की मांग को लेकर लगातार तीसरे दिन कक्षाओं का बहिष्कार कर विद्यालय के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन किया। इस दौरान गांव के एक व्यक्ति ने विद्यालय के प्रधानाचार्य को विलंब से विद्यालय आने का उलाहना दिया, जिससे माहौल गर्मा गया। इस पर प्रधानाचार्य ने उच्चाधिकारियों और पुलिस को दी। सूचना पर तहसीलदार अशोक कुमार एवं एसआई भरत लाल मय जाब्ता के मौके पर पहुंचे। उन्होंने छात्र-छात्राओं व प्रधानाचार्य रामदयाल जाटव और ग्रामीणों को समझाइश की।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned