आरबीएम की उखड़ती सांसों को मिला सुकून

- नए भर्ती मरीजों की संख्या में आई गिरावट, ऑक्सीजन की खपत भी गिरी

By: Meghshyam Parashar

Published: 28 May 2021, 04:19 PM IST

भरतपुर. कोरोना काल में मरीजों के बोझ तेल दबकर आरबीएम की उखड़ती सांसों को भी अब मरीजों के कम होने से सुकून मिला है। भर्ती मरीजों की संख्या में आई गिरावट के चलते अब व्यवस्थाएं पटरी पर लौट रही हैं। वहीं ऑक्सीजन की खपत में कमी आने से अस्पताल प्रशासन के साथ जिला प्रशासन को भी खासी राहत मिली है।
संक्रमितों की संख्या में कमी आने से अस्पताल में मरीजों बोझ कम हुआ है। ऐसे में करीब 15 दिन पहले बौनी नजर आ रही व्यवस्थाएं अब बेहतर सी हो रही हैं। खास तौर से बेड और ऑक्सीजन की किल्लत अब नहीं रही है। नए मरीजों को जहां आसानी से बेड उपलब्ध हो रहे हैं। वहीं ऑक्सीजन सिलेंडरों का उपयोग भी कम हुआ है। ऐसे में लोगों के साथ अस्पताल प्रशासन ने राहत की सांस ली है।

नए भर्ती मरीजों की संख्या

15 मई 57
16 मई 44
17 मई 40
18 मई 39
19 मई 23
20 मई 28
21 मई 31
22 मई 26
23 मई 19
24 मई 17
25 मई 19
26 मई 19

आरबीएम में भर्ती हुए मरीज
15 मई 269
16 मई 277
17 मई 264
18 मई 250
19 मई 214
20 मई 213
21 मई 209
22 मई 183
23 मई 181
24 मई 149
25 मई 146
26 मई 129

उपयोग में आ रहे सिलेंडरों की संख्या
15 मई 591
16 मई 599
17 मई 546
18 मई 511
19 मई 495
20 मई 458
21 मई 404
22 मई 416
23 मई 340
24 मई 326
25 मई 283
26 मई 236

एक्टिव केस दो हजार के नीचे, एक दिन में मिले 54 केस

कोरोना की दूसरी लहर अब सिमटती नजर आ रही है। रफ्ता-रफ्ता पॉजिटिव केसों में कमी ने खासी राहत दी है। अब जिले में एक्टिव केस 2 हजार से भी कम हैं। ऐसे में चिकित्सा विभाग राहत में है। जिल में गुरुवार को 54 नए पॉजिटिव मिले। वहीं तीन जने कोरोना से जिंदगी की जंग हार गए। हालांकि राहत की बात यह रही कि गुरुवार को रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या 422 रही। वहीं अब जिले में महज 1856 एक्टिव केस शेष हैं। चिकित्सा विभाग का कहना है कि यह भी जल्द रिकवर हो जाएंगे। अब भरतपुर संभाग कोरोना से जंग जीतता नजर आ रहा है। संभाग के करौली, धौलपुर एवं सवाईमाधोपुर में भी पॉजिटिव केसों की संख्या में तेजी से कमी आई है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned