तरकारी ने खाया ताव, धनिया हुआ धनाढ्य का

- एक सप्ताह में सब्जी के भाव आसमान पर

By: Meghshyam Parashar

Published: 30 Jun 2020, 08:23 PM IST

भरतपुर . लॉकडाउन में सस्ती सब्जी का लुत्फ उठा चुके लोगों को अब पिछले एक सप्ताह में सब्जी के भावों में आए उछाल ने चौंका दिया है। तरकारी के ताव खाने से लोगों को दो वक्त की सब्जी खरीदना खासा महंगा लग रहा है। खास बात यह है कि धनिया के बेतहाशा बढ़े दामों की वजह ये इसकी पहुंच अब केवल धनाढ्य घरों तक ही नजर आ रही है।
भडल्या नवमीं पर शादी समारोह की अधिकता एवं पेट्रोल-डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी की वजह से जहां सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी हो रही है। वहीं प्रमुख वजह स्थानीय सब्जी का मंडी में नहीं पहुंचना है। फल-सब्जी मंडी संघ के उपाध्यक्ष पिंटू उसरानी ने बताया कि पहले स्थानीय सब्जियां सहज रूप से मंडी में आ रही थीं। ऐसे में सब्जी के भाव कम थे, लेकिन अब बारिश का मौसम शुरू होते ही स्थानीय सब्जियां खत्म हो गई हैं। अब ज्यादातर सब्जियां बाहर से पहुंच रही हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी के बाद भाड़ा भी बढ़ा है। ऐसे में सब्जियों के भाव आसमान छूते नजर आ रह हैं।

टमाटर-धनिया रिकॉर्ड भाव पर

पूर्व में स्थानीय स्तर पर सहज रूप से उपलब्ध हो रहे टमाटर और धनिया अब बाहर से आ रहे हैं। ऐसे में इनके भाव रिकॉर्ड बना रहे हैं। पहले टमाटर चौमूं शाहपुरा से स्थानीय स्तर पर आ रहा था, जो अब हिमाचल प्रदेश से यहां पहुंच रहा है। ऐसे में इसके भाव अब 80 से 100 रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। इसके अलावा धनिया फिलहाल कोटपुतली से आ रहा है। ऐसे में इसके भाव आसमान छूते रहे 400 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गए हैं। अजमेर-पुष्कर से धनिया की आवक होने के बाद इनके भावों में कमी आने की संभावना है।

सब्जियों के भाव पहले और अब

सब्जी भाव पहले भाव अब
टमाटर 10-15 80-100 रु.
गोभी 40 से 60 90-100
खीरा 10 30 से 40
कोयला 10 25 से 30
घीया 10 30
शिमला मिर्च 40-50 100-120
तोरई 10 20
आलू 20 28-30
धनियां 50 400
(भाव प्रति किलो रिटेल में)

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned