सरकारी खजाने को खुरच रही कार्मिकों की कारिस्तानी

-नहीं हुए वृद्ध फिर भी उठा रहे पेंशन

By: Meghshyam Parashar

Published: 23 Jun 2021, 12:41 PM IST

भरतपुर. सरकारी खजाने को खोखला करने में सरकारी कारिंदों की कारिस्तानी कोई कसर नहीं छोड़ रही है। ताजा मामले में सीकरी की कई ग्राम पंचायतों में ऐसे लोग वृद्धावस्था पेंशन उठा रहे हैं, जो अभी दस्तावेजों के लिहाज से वृद्ध नहीं हुए हैं, लेकिन पेंशन लेने में उन्होंने उम्रदराजों को भी पीछे छोड़ दिया है। यह सब ग्राम पंचायतों में लगे सरकारी कारिंदों की मेहरबानी से संभव हुआ है।वृद्धावस्था पेंशन के लिए सरकारी दस्तावेजों में मतदाता पहचान पत्र अहम है। पहचान पत्र में दर्ज जन्मतिथि के आधार पर ही वृद्धावस्था पेंशन बनने का प्रावधान है, लेकिन यदि सरकारी कर्मचारियों की मेहरबानी हो जाए और उन तक 'भेंटÓ पहुंच जाए तो युवा भी वृद्ध बनकर पेंशन लेने के हकदार हो जाते हैं, जबकि असल में बुजुर्ग लाठी टेकते हुए सरकारी दहलीज के चक्कर लगाते नजर आते हैं। खास बात यह है कि यह सब अधिकारियों की नाक के नीचे हो रहा है। फिर भी इनके खिलाफ कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही। सीकरी क्षेत्रों में ऐसे ढेरों उदाहरण हैं, जिनमें असल पात्र बुजुर्ग तो पेंशन के लिए मारे-मारे फिर रहे हैं, लेकिन अपात्रों के खाते में हर माह पेंशन पहुंच रही है। सीकरी क्षेत्र की करीब चालीस ग्राम पंचायतों में ऐसे अनगिनत मामले सामने आ रहे हैं।

केस नम्बर 1

ग्राम पंचायत मूंढौती निवासी अतर पत्नी बल्ला (62) वर्ष की बृद्धावस्था पेंशन 19 अगस्त 2020 को जारी की गई, जो हर माह लगातार मिल रही है। मतदाता पहचान पत्र के अनुसार लाभार्थी की आयु 50 वर्ष है, जिसका मतदाता पहचान पत्र क्रमांक आरजे-09/069/159217 तथा पीपीओ नम्बर आरजे-एस-11522151 है।

केस नंबर 2

ग्राम पंचायत बासबुर्जा निवासी आजाद पुत्र छोटे खान (66) की वृद्धावस्था पेंशन 3 मार्च 2014 को स्वीकृत की गई, जो अब तक लगातार मिल रही है, जबकि आजाद की मतदाता पहचान पत्र के अनुसार अभी आयु 57 वर्ष हुई है, जिसका मतदाता पहचान पत्र क्रमांक आरजे-09/069/219379 तथा पीपीओ नम्बर आरजे-एस-065877664 है।

केस नंबर 3

ग्राम पंचायत पड़लवास निवासी दुल्हेराम पुत्र रुगनी (64) वर्ष पेंशन उठा रहा है। इसकी उम्र दस्तावेजों में बढ़ा दी है। इसकी पेंशन 12 जून 2019 को स्वीकृत हुई है, जबकि दुल्हेराम की मतदाता सूची के अनुसार अभी आयु 52 वर्ष की है । इनका मतदाता पहचान पत्र क्रमांक आरजे-09/069/342176 तथा पीपीओ नम्बर आरजे-एस-097334331 है।

केस नंबर 4

ग्राम पंचायत रसिया निवासी रेखा पत्नी लालसिंह आयु (62) बढ़ाई हुई उम्र है, जो 25 जून 2018 से पेंशन ले रही है। रेखा की मतदाता पहचान पत्र के अनुसार आयु अभी 51 वर्ष की है। हर माह 750 रुपए पेंशन मिलती है। इसका मतदाता पहचान पत्र क्रमांक आरजे-09/069/435491 है तथा पीपीओ नम्बर आरजे-एस-08677700 है।

केस नंबर 5

ग्राम पंचायत पड़लवास निवासी भगवत पुत्र प्यारे आयु (61 ) बढ़ी हुई उम्र है। इसको 5 सितम्बर 2018 से वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृत हुई है। इनका मतदाता पहचान पत्र क्रमांक आरजे-09/069/342430 है। मतदाता पत्र के अनुसार इनकी आयु अभी 56 वर्ष की हुई है, लेकिन पिछले तीन सालों से पेंशन उठा रहे हैं। इनका पीपीओ नम्बर आरजे-एस-08893827 है।

केस नंबर 6

ग्राम पंचायत मूंढौती निवासी भंवर सिंह पुत्र हरिसिंह की आयु 58 वर्ष दर्शाई है, जो बढ़ाई हुई उम्र है, जबकि मतदाता सूची के अनुसार इनकी उम्र अभी 55 वर्ष हुई है। इनको 17 जून से ही पेंशन शुरू की गई है। इनका मतदाता पहचान पत्र क्रमांक आरजे-09/069/159184 है, जबकि इनका पीपीओ नम्बर आरजे-एस-12404901 है।


-वैसे तो मतदाता पहचान पत्र को आधार मानकर ही वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृत की जाती है। अगर फिर भी कोई व्यक्ति गलत दस्तावेज पेश कर पेंशन उठा रहा है तो इसकी जानकारी कर उचित कार्यवाही की जाएगी।

भारतभूषण दीक्षित, तहसीलदार नगर

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned