बेटी की शादी को 15 साल में रेहड़ी वाले ने जोड़ी रकम, बदमाश ले उड़े एक लाख रुपए

-एक मजबूर पिता की दर्दनाक कहानी, कोतवाली पुलिस ने चार दिन में कोई कार्रवाई ही नहीं की
-सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध, फिर भी पुलिस लापरवाह

By: Meghshyam Parashar

Published: 21 Jul 2021, 03:24 PM IST

भरतपुर. शहर के सुभाष नगर कॉलोनी में रहने वाले रमनलाल प्रजापति पिछले चार दिन कोतवाली थाने के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन पुलिस का हर बार एक ही जवाब मिलता है कि जांच...जारी है...। अब पुलिस से यह पूछा कि जांच कब तक चलेगी तो आंख दिखाकर भगा दिया। बेटी की शादी के लिए जोड़ी रकम गंवाने के बाद रेहड़ी से फल बेचने वाला यह पिता दर-दर की ठोकर खा रहा है। बदमाश ने इनकी जोड़ी रकम करीब एक लाख सात हजार रुपए झांसा देकर एटीएम से निकाल ले गए। कोतवाली थाने में मामला भी दर्ज करा दिया, परंतु अभी तक पुलिस ने बैंक प्रबंधन से सीसीटीवी फुटेज तक प्राप्त नहीं किए हैं। पुलिस की लापरवाही व गैर जिम्मेदारी का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी इस तरह के खुलासे होते रहे हैं।
रमनलाल पुत्र गिर्राजप्रसाद प्रजापति (53) निवासी शंभू वाले हनुमान के पास सुभाष नगर कॉलोनी ने बताया कि 17 जुलाई की सुबह करीब आठ बजकर 24 मिनट पर कुम्हेर गेट आईडीबीआई के एटीएम पर पत्नी के खाते से रुपए निकालने गया। उसमें 10 हजार रुपए निकले, जैसे ही पर्ची एटीएम से पैसे निकल रहे थे, तभी तीन व्यक्ति आए। उन्होंने बातों के झांसे में लेकर कहा कि अभी ट्रांजेक्शन पूरा नहीं हुआ है, पैसे कट जाएंगे। दोबारा एटीएम लगाकर निरस्त करो। उसने एटीएम लेकर बदल लिया। अब रास्ते में ही था कि हीरादास एक्सिस बैंक के एटीएम से 10-10 हजार रुपए चार बार में निकालने का मैसेज आया। पांच-सात मिनट बाद ही रंजीत जनरल स्टोर फरीदाबाद को जरिए ऑनलाइन ट्रांजेक्शन भुगतान करने का मैसेज आया। तीनों बदमाशों ने एक लाख सात हजार रुपए निकाल लिए हैं। जाहरवीर मंदिर के सामने सीसीटीवी कैमरे में भी यह बदमाश साफ दिख रहे हैं।

बोला: साहब पेट काटकर जोड़ी रकम, अब बिटिया की शादी...

पीडि़त रमनलाल ने बताया कि वह रेहड़ी लगाकर फल बेचता है। उससे ही परिवार का गुजारा चल रहा है। यह रकम एक पॉलिसी के माध्यम से जोड़ी थी, जो कि कुछ समय पहले ही खाते में आई थी। तीन बेटियां व एक बेटे, पत्नी सहित परिवार का गुजारा रेहड़ी से ही होता है। एक बिटिया की शादी कर चुका हूं, दूसरी बेटी की शादी की तैयारी कर रहा था। अब सबकुछ लुट चुका हैं तो शादी कहां से करूंगा। यह चिंता खाए जा रही है।

साइबर क्राइम बढ़ा लेकिन पुलिस के हाथ खाली

शहर में पिछले कुछ माह से लगातार साइबर क्राइम की वारदात अधिक हो रही हैं। हाल में ही यहां साइबर क्राइम का संभागस्तरीय थाना खुलने की कवायद भी तेज हो गई है, परंतु जो मामले पुलिस की समझ में आते हैं, उनमें भी संबंधित थानों की पुलिस लापरवाही करती है। क्योंकि जब सीसीटीवी कैमरे में तीनों बदमाश आ चुके हैं तो अब संबंधित बैंक या फर्म से फुटेज लेकर उनकी पड़ताल नहीं किया जाना कहीं न कहीं पुलिस पर सवाल खड़ा कर रहा है।


एसएचओ का गैर जिम्मेदाराना बयान...

-मैं छुट्टी पर चल रहा हूं। मुझे इस प्रकरण के बारे में कोई जानकारी नहीं है।
रामकिशोर यादव

एसएचओ, थाना कोतवाली

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned