अब गांव नहीं सहेंगे नीर की पीर

- चार साल में 1426 गांवोंं को मिलेगा पानी

By: Meghshyam Parashar

Published: 26 Dec 2020, 10:26 AM IST

भरतपुर . बूंद-बूंद पानी के लिए जद्दोजहद करते लोगों के हलक तर करने के लिए सरकार ने अब कमर कस ली है। जिले के हर घर तक पानी पहुंचाने के लिए सरकारी मंशा के अनुरूप विभाग ने खाका खींच लिया है। हालांकि इसमें थोड़ा वक्त लगेगा, लेकिन जिले के 1426 गांवों को आगामी 4 साल में पीने का भरपूर पानी मुहैया हो सकेगा। इसके लिए गांव-गांव ग्राम जल एवं स्वच्छता मिशन समितियों का गठन किया जा रहा है। कुल राजस्व गांवों में से 934 गांवों में यह कवायद की जा चुकी है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका ने सात दिसंबर के अंक में ये प्यास है बड़ी...सियासत के नीर में जनता पानी-पानी शीर्षक से प्रमुखता से समाचार प्रकाशित कर मामले का खुलासा किया था। इसके बाद से लगातार यह मुद्दा उठाया जा रहा है।
भारत सरकार की जल जीवन मिशन योजना के तहत विभाग इस योजना को अमलीजामा पहनाने में जुट गया है। इसके लिए विभाग ने चार वर्ष का लक्ष्य तय किया है। जिले के गांवों में हर घर तक पानी पहुंचाने के लिए गठित की गईं समितियों का क्रियान्वयन, निरीक्षण, संचालन एवं संधारण में पूर्ण योगदान रहेगा। खास तौर से परम्परागत जल स्रोतों एवं पानी के उपलब्ध साधनों का ब्यौरा समिति विभाग को देगी। इसके आधार पर विभाग पानी पहुंचाने की प्रक्रिया को अमल में लाएगा। समिति के कंधों पर गंदले पानी के निस्तारण का भी जिम्मा रहेगा। गांव-गांव और घर-घर पानी पहुंचाने की इस महत्वपूर्ण योजना में केन्द्र और राज्य सरकार की 50-50 प्रतिशत भागीदारी रहेगी। इसके अलावा 10 प्रतिशत अंशदान स्थानीय समुदाय की ओर से वहन किया जाएगा। स्थानीय समुदाय की भागीदारी का उद्देश्य लोगों में इस पेयजल योजना में अपनत्व की भावना को जगाना है। इस वर्ष 84 गांवों में योजना की स्वीकृति जारी की जा चुकी है। शेष का कार्य जारी है। अन्य की निविदा प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण की जाएगी।

बेरोजगार युवकों को दिलाया जाएगा प्रशिक्षण

जलदाय विभाग की ओर से घर-घर पानी पहुंचाने की योजना के उद्देश्य की पूर्ति के लिए बेरोजगार युवकों को प्रशिक्षण दिलाने की ठानी है, इससे योजना निर्बाध रूप से चलती रहे। जलदाय विभाग के अनुसार पंचायत स्तर पर बेरोजगार युवकों को इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर एवं फिटर का प्रशिक्षण देकर योजना के संचालन को तैयार किया जाएगा। इन युवकों को आरएसएलडीसी की ओर से प्रशिक्षित किया जाएगा।

हर व्यक्ति को मिलेगा 55 लीटर पानी

जलदाय विभाग ने बताया कि योजना के तहत प्रति गांव में हर व्यक्ति को प्रतिदिन 55 लीटर पानी के हिसाब से सप्लाई की जाएगी। इसके लिए तैयारी की जा चुकी है। जिले के 1426 राजस्व गांवों में प्रति व्यक्ति के हिसाब से पानी दिया जाएगा। प्रति व्यक्ति इसका आंकलन 55 लीटर के हिसाब से किया गया है।

इनका कहना है

जिले के सभी गांवों में पहुंचाने के लिए योजना को मूर्त रूप दिया जा रहा है। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। यह योजना चार वर्ष के लिए है। अभी 84 गांवों की योजना स्वीकृत की जा चुकी है। शेष का काम भी जल्द पूरा किया जाएगा। विभाग इसमें मुस्तैदी से जुटा है।

- हेमंत कुमार, एसई, जलदाय विभाग भरतपुर

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned