scriptThe world's effort raised the political mercury | जगत की जुगत ने बढ़ाया सियासी पारा, यह है बड़ा राज... | Patrika News

जगत की जुगत ने बढ़ाया सियासी पारा, यह है बड़ा राज...

- दौरों की दौड़, प्रतिद्वंदियों से होड़

भरतपुर

Published: May 13, 2022 07:37:08 am

भरतपुर . मौसम की तल्खी के बीच अब सियासी पारा भी चढ़ा नजर आ रहा है। जिलाप्रमुख जगत की जुगत भरतपुर विधानसभा में खूब सुर्खियां बटोर रही है। सत्ता में काबिज कांग्रेस एंटी इनकमबेंसी का खतरा नहीं मान रही है, लेकिन भाजपा ने तख्ता पलट की टाल ठोक दी है। संभाग में सिरमौर कांग्रेस सत्ता की साख के सहारे वैतरणी पार करने का ख्वाब संजो रही है। वहीं भाजपा बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर भगवा फहराने की फिराक में है।
भरतपुर विधानसभा में जिलाप्रमुख जगत सिंह की एंट्री ने अब सियासत में नई चर्चा छेड़ दी है। जगत सिंह के दौरे भरतपुर विधानसभा में उनकी दौड़ को मजबूत करते नजर आ रहे हैं। यही वजह है कि भरतपुर विधानसभा के दावेदारों की धड़कनें बढ़ी हुई हैं। हालांकि अभी चुनावी सरगर्मियों में अच्छा-खासा वक्त है, लेकिन जगत सिंह की सक्रियता को सही समय पर राजनतिक एंट्री माना जा रहा है। हालांकि अभी तक भाजपा ने जातिगत लिहाज से किसी भी जाट प्रत्याशी पर दांव नहीं खेला है। भाजपा ने अब तक वैश्य-ब्राह्मण को ही तवज्जो दी है। ऐसे में सियासत का ऊंट किस करवट बैठेगा, अभी तय नहीं है। दोनों ही दल जातिगत आंकड़ों के लिहाज से मजबूत प्रत्याशियों पर दांव खेलते नजर आए हैं, लेकिन बसपा-लोकदल के सहारे सीट बढ़ाने में कामयाब हुई कांग्रेस को प्रत्याशी बदलने की मशक्कत भी करनी पड़ सकती है। वजह, विधायकों के विवाद के बीच कांग्रेस को 'नई तलाशÓ के लिए कवायद करनी पड़ सकती है।
जगत की जुगत ने बढ़ाया सियासी पारा, यह है बड़ा राज...
जगत की जुगत ने बढ़ाया सियासी पारा, यह है बड़ा राज...
असंतोष से दोनों दलों को खतरा

दोनों दल भले ही संभाग को फतह करने का ख्वाब संजो रहे हों, लेकिन असंतोष दोनों ही दलों के लिए बड़ा खतरा नजर आ रहा है। कार्यकर्ताओं की नाराजगी झेल रही कांग्रेस की फजीयत भी खूब हुई है। वहीं पोस्टर विवाद से भाजपा की फूट भी सामने आ चुकी है। ऐसे में भितरघात की आशंका दोनों ही दलों को खूब सता रही है।
वर्ष विजेता पार्टी
1951 हरीदत्त केएलपी
1957 होतीलाल आईएनडी
1962 नत्थी सिंह आईएनडी
1967 एन. सिंह एसएसपी
1972 बिजेन्द्र सिंह बीजेएस
1977 सुरेश कुमार जेएनपी
1980 राज बहादुर आईएनसी (यू)
1985 गिरिराज प्रसाद तिवारी आईएनसी
1990 रामकिशन जेडी
1993 आर.पी. शर्मा आईएनसी
1998 आर.पी. शर्मा आईएनसी
2003 विजय बंसल आईएनएलडी
2008 विजय बंसल भाजपा
2013 विजय बंसल भाजपा
2018 डॉ. सुभाष गर्ग आरएलडी
इधर, राष्ट्रीय लोकदल ने राजस्थान को छह जोन में बांटा

राष्ट्रीय लोकदल ने उत्तर प्रदेश के बाद अब राजस्थान में प्रदेश को छह क्षेत्रों ब्रज, मारवाड़, मेवाड़, मध्य राजस्थान, थार और हाड़ौती में विभाजित कर चुनावी तैयारी शुरू कर दी हैं। इनमें यूपी के विधायक और संगठन के वरिष्ठ नेताओं को प्रभारी लगाया गया है। मेवाड़ अंचल के उदयपुर में राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने सबसे वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है। फिलहाल राष्ट्रीय लोकदल की टिकट पर भरतपुर से विधायक डॉ. सुभाष गर्ग सरकार में तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री हैं। उन्हें समझौते में यह सीट मिली थी। जिलाध्यक्ष संतोष फौजदार ने बताया कि सभी जोन प्रभारी और सह प्रभारी शुक्रवार से ही फील्ड में जाएंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

BJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंRaj Thackeray Ayodhya Visit: राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा स्थगित, पांच जून को रामलला का दर्शन करने वाले थे मनसे प्रमुखलालू के ठिकानों पर CBI Raid; सामने आई RJD की पहली प्रतिक्रिया, मात्र 5 शब्द में पूरे सिस्टम को लपेटाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद कौन होगा दिल्ली का उपराज्यपाल? चर्चा में हैं ये 5 नामRoad Rage Case: नवजोत सिंह सिद्धू ने सरेंडर के लिए कोर्ट से मांगा वक्त, खराब सेहत को बताया कारणबेंगलुरू हवाईअड्डे को बम से उड़ाने की धमकी, अधिकारियों ने शुरू की जांचलालू यादव पर फिर शिकंजा, सीबीआई ने राजद सुप्रीमो से जुड़े 17 ठिकानों पर मारा छापाAzam Khan Release: दो साल बाद जेल से रिहा हुए आजम खान, दोनों बेटों ने किया रिसीव, शिवपाल भी पहुंचे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.