अब बारिश के दौरान बिजली के खंभों में करंट का नहीं रहेगा खतरा

-मानसून में करंट से बचाव के लिए बीईएसएल करेगी कई उपाय

By: Meghshyam Parashar

Updated: 24 Jul 2020, 06:55 PM IST

भरतपुर. मानसून को देखते हुए करंट से बचाव के लिए कई कदम उठाए जा रहे है। इस दौरान खुले पैनल को बन्द करने, ट्रांसफार्मर की फेसिंग व खतरे वाले इलाकों में विद्युत तंत्र का ठीक करने के काम किए जा रहे हैं। बीईएसएल के सीओओ जयन्त राय चौधरी ने बताया कि शहर में खतरे वाले इलाकों के ट्रांसफार्मरों के पास से झाडिय़ां हटाने के साथ चारों ओर लगाई गई फेसिंग की मरम्मत की जा रही है। उन्होंने बताया कि तारों के आसपास से पेड़ों की छंटाई की जा रही है। बिजली के तार आपस में नहीं टकराए, इसके लिए सेपरेटर लगाए जा रहे है। कम्पनी ने विद्युत तंत्र को बेहतर बनाने के लिए अतिरिक्त चार टीमें फील्ड में तैनात की है

पैनल कवर चोरी होने से परेशानी

शहर में बिजली के पैनल कवर चोरी की बढती समस्या से बिजली कम्पनी बीईएसएल परेशान है। शहर में कई बाद पैनलों में नए कवर लगाए जा चुके हैं। कुछ दिनों में कवर चोरी हो जाते है। चौधरी ने आम नागरिकों से पैनल कवर चोरी रोकने में सहयोग की अपील करते हुए कहा कि पैनल खुले रहने से बिजली का करंट लगने का खतरा बना रहता है। उन्होंने बताया कि मानसून को देखते हुए कम्पनी ने एक बार फिर खुले पड़े सभी पैनलों के कवर लगाने का फैसला किया है।

लोहे के खम्बों पर लगेंगे प्लास्टिक के पाइप

बीईएसएल ने लोहे के खम्बों में करंट प्रवाह की आशंका देखते हुए भीड़ भाड़ वाले इलाकों के करीब 350 लोहे के पोल में प्लास्टिक के पाइप लगाने का काम शुरू कर दिया है। पिछले साल कम्पनी ने करंट से बचाव के लिए लोहे के पोल पर विशेष तरीके का पेंट कराया था लेकिन कई पोल से पेंट हट गया है। ऐसे में अब पोल को प्लास्टिक पाइप से ढकने का फैसला किया गया है।

सावधानी रखें, बिजली के करंट से बचें

बीईएसएल ने बरसात को देखते हुए भरतपुर शहर में लोगों को बिजली के संभावित खतरों से बचाने के लिए सावधानी बरतने तथा विद्युत तंत्र से दूर रहने की सलाह दी है। मौसम शुरू होते ही विद्युत तंत्र से खतरा बढ़ जाता है। ट्रांसफार्मर, पैनल बॉक्स, विद्युत लाइनें, विद्युत पोल, स्टे वायर आदि बरसात के दौरान गीले होने के कारण इनमें करंट आने की आशंका रहती है। लोगों की लापरवाही ही कई बार विद्युत हादसों का कारण बनती है।

इन बातों का ध्यान रखें
- बारिश के मौसम में बिजली की लाइनों से दूर रहें।
- विद्युत लाइनों पर आंकड़ें डालने का प्रयास नहीं करें।
- अपने जानवरों को बाहर खुला नहीं छोडे, उन्हें खंभो से नहीं बांधे और खंभों व ट्रांसफार्मरों से दूर रखें।
- बरसात में खंभों पर लगे स्टे वायर को नहीं छूएं।
- विद्युत तंत्र के आसपास नंगे पैर नहीं घूमें। अर्थिंग मिलने से आपको करंट का तेज झटका लग सकता है।
- बिजली के खंभों, आर्मेड केबिल के उपर व तारों के आसपास कपड़े नहीं ुसुखाएं।
- बिजली के खंभों पर विज्ञापन बोर्ड, टीवी केबल, पम्पलेट आदि नहीं लगाएं।
- घर के सामने से गुजर रहे तारों पर प्लास्टिक पाइप नहीं चढाएं, इनमें पानी भर जाने से करंट का खतरा बना रहता है।
- पार्कों में या घरों के बाहर बच्चों को विद्युत तंत्र के आसपास नहीं खेलने दें।
- ट्रांसफार्मरों के नीचे कचरा नहीं फेकें, कचरे के चलते पशुओं का यहां जमावड़ा लगा रहता है। ऐसे में पशुओं को करंट लग सकता है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned