script राजस्थान में चुनावी हिंसा: 4 गांवों के लोगों का पड़ोसी गांव पर हमला, मकानों और मंदिर पर पथराव, मूर्तियां खंडित | violence in bharatpur next day of rajasthan assembly election heavy police force deployed | Patrika News

राजस्थान में चुनावी हिंसा: 4 गांवों के लोगों का पड़ोसी गांव पर हमला, मकानों और मंदिर पर पथराव, मूर्तियां खंडित

locationभरतपुरPublished: Nov 26, 2023 01:07:06 pm

Submitted by:

santosh Trivedi

Violence in Deeg Rajasthan: सीकरी थाने के गांव महरायपुर में रविवार सुबह करीब 10 बजे करीब चार गांवों के ग्रामीणों ने हमला कर दिया। मामला एक दिन पहले विधानसभा चुनाव के लिए हुए मतदान से जुड़ा है। इसमें करीब आधा घंटे तक गांव में पथराव किया गया।

rajasthan_bharatpur_deeg_voilance_today.jpg

Violence in Deeg Rajasthan: भरतपुर/नगर। सीकरी थाने के गांव महरायपुर में रविवार सुबह करीब 10 बजे करीब चार गांवों के ग्रामीणों ने हमला कर दिया। मामला एक दिन पहले विधानसभा चुनाव के लिए हुए मतदान से जुड़ा है। इसमें करीब आधा घंटे तक गांव में पथराव किया गया। साथ ही फायरिंग की गई। इससे करीब छह लोग चोटिल हुए हैं।

पुलिस ने फ्लैग मार्च निकाला
इनका मेडिकल कराया गया है। ग्रामीणों ने पुलिस को खाली खोखे सुपुर्द किए हैं। गांव में आरएसी की एक कंपनी को तैनात किया गया है। साथ ही 16 घंटे के अंदर पथराव की सातवीं घटना को देखते हुए मेवात में पुलिस ने फ्लैग मार्च निकाला है। इसके अलावा सीकरी कस्बे में भी दुकानों पर पथराव की छिटपुट घटना हुई है।

उपद्रवी गांवों के रास्ते होकर भाग गए
सुबह करीब 10 बजे महरायपुर के आसपास के करीब चार गांवों के ग्रामीण लाठियां व ईंट-पत्थर लेकर गांव में पहुंचे। जहां किसी ग्रामीण के एक प्रत्याशी के पक्ष में एकजुट होकर मतदान करने की बात का उलाहना देने पर विवाद शुरू हो गया। भीड़ ने गांव की चौपाल, मकानों व मंदिर पर पथराव कर दिया। इससे हनुमान मंदिर में स्थापित शिव परिवार की मूर्तियां भी खंडित हो गईं।

ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस करीब पौन घंटे की देरी से मौके पर पहुंची, तब पथराव होता रहा। सूचना पर सीकरी पुलिस पहुंची, लेकिन उपद्रवी नहीं माने। इस पर आरएसी की एक कंपनी, नगर, पहाड़ी, सीकरी, गोपालगढ़ थाना पुलिस मौके पर पहुंचे। तब जाकर पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ने की कोशिश की तो उपद्रवी गांवों के रास्ते होकर भाग गए।

देरी से पहुंचा पुलिस बल
ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस बल करीब एक घंटा की देरी से मौके पर पहुंचा। ऐसे में ग्रामीणों को घरों में छिपकर जान बचानी पड़ी। उसके बाद भी सिर्फ एक थाने की पुलिस पहुंची। पुलिस के सामने भी उपद्रवी बेखौफ होकर पथराव करते रहे। घरों के दरवाजों पर काफी देर तक पत्थर फेंके गए।

16 लोग हिरासत में
25 नवंबर की शाम मतदान होने के बाद से ही क्षेत्र में कुछ वारदात हुई हैं। महारायपुर में हुई घटना को लेकर 16 लोगों को हिरासत में लिया है। पीड़ितों ने रिपोर्ट दर्ज कराई है।
बृजेश ज्योति उपाध्याय, एसपी, डीग

ट्रेंडिंग वीडियो