बीएड कॉलेजों की हुई चांदी, दो साल के कोर्स का आखिरी मौका न गवां बैठे इसलिए दोगुने अभ्यर्थियों ने दी प्रवेश परीक्षा

छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल(व्यापमं) ने गुरुवार को प्री-बीएड और डीएलएड की प्रवेश परीक्षा कराई। दुर्ग के परीक्षा केंद्रों में करीब 8 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए।

By: Mohammed Javed

Published: 07 Jun 2018, 04:04 PM IST

भिलाई . छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल(व्यापमं) ने गुरुवार को प्री-बीएड और डीएलएड की प्रवेश परीक्षा कराई। दुर्ग के परीक्षा केंद्रों में करीब 8 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए। यह पहली मर्तबा है जब बीएड में प्रवेश के लिए अभ्यर्थियों के बीच टफ कॉम्पीटिशन होगा। एडमिशन न मिलने की वजह से दिक्कत महसूस कर रहे बीएड कॉलेजों की भी इस साल चांदी हो गई है। प्रदेशभर से ५० हजार से अधिक विद्यार्थियों ने प्री-बीएड के फार्म जमा कर परीक्षा दी। यह आंकड़ा इस लिए भी चौकाने वाला है, क्योंकि पिछले तीन साल पहले ये संख्या आधी हुआ करती थी। इस साल के बाद बीएड चार साल का हो जाएगा। यही वजह है जिसने विद्यार्थियों के बीच हड़कंप का काम किया। दो साल के बीएड का आखिरी मौका होने की बात जानकर विद्यार्थी टूट पड़े।

कब तक आएगा रिजल्ट, काउंसलिंग?
व्यापमं इस परीक्षा का रिजल्ट १८ जून तक जारी कर सकता है। इस साल व्यापमं की ओर से सभी प्रवेश परीक्षाओं के नतीजे समय से पहले जारी किए गए हैं, ऐसी ही संभावना प्री-बीएड में भी नजर आ रही है। रिजल्ट जारी होने के बाद २० जून तक काउंसलिंग के संबंध में स्थिति साफ हो जाएगी। पिछले साल बीएड की काउंसलिंग २७ जून से शुरू हुई थी। इस बार भी तिथियां आसपास ही होंगी।

एमकेसीएल ही कराएगी काउंसलिंग
एससीईआरटी के मुताबिक अनुबंध के तहत इस साल बीएड की काउंसलिंग एमकेसीएल को ही सौंपी जा सकती है। इस साल काउंसलिंग पैटर्न में बदलाव किए जा सकते हैं। हालांकि काउंसलिंग एजेंसी को लेकर अभी विभाग ने कोई भी अधिकृत बयान नहीं दिया है, इसलिए इसमें बदलाव भी हो सकते हैं।

इस साल भी लागू होगा पुराना नियम
बीएड की काउंसलिंग कराने वाली कंपनी एमकेसीएल अब अलग से दस्तावेज परीक्षण व सहायता केंद्र नहीं बनाएगी। छात्र कहीं से भी अपनी सुविधानुसार काउंसलिंग के फार्म भरकर च्वॉइस लॉक कर सकेंगे। यह पिछले साल का ही नियम है, जिसे इस साल भी लागू किया जा सकता है। सारी प्रक्रिया ऑनलाइन है इसलिए छात्र अपने घर से भी काउंसलिंग की प्रक्रिया में शामिल हो सकेंगे। फार्म भरने के बाद दस्तावेज परीक्षण केंद्र जाने की अलग से कोई जरूरत नहीं होगी। पूर्व के वर्षों में एमकेसीएल ने ट्विनसिटी सहित प्रदेश भर में करीब ६४ दस्तावेज परीक्षण केंद्र बनाए थे, जिनमें से कुछ की लगातार शिकायत मिलने के बाद विभाग ने यह अहम फैसला लिया था।

सारंग जोशी, समन्वयक, एससीईआरटी - बीएड की परीक्षा हो गई है, अब रिजल्ट के बाद काउंसलिंग का शेड्यूल तय किया जाएगा। ८ दिनों में इस पर विभागीय चर्चा हो सकती है। रिजल्ट १७-१८ तक आने की संभावनाएं हैं।

Mohammed Javed Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned