कोरोना जागरूकता में भी रोल मॉडल बने भीलवाड़ा

प्रभारी मंत्री ने प्रचार सामग्री का किया विमोचन, जागरुकता रथ को दिखाई हरी झंडी

By: Suresh Jain

Published: 22 Jun 2020, 09:58 PM IST

भीलवाड़ा।
कोरोना पर नियंत्रण कर भीलवाड़ा पूरे देश के लिए मॉडल बना। उसी प्रकार कोरोना के प्रति जागरूकता की दृष्टि से भी सबके लिए आदर्श बनकर सामने आना चाहिए। यह विचार जिले के प्रभारी मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया ने सोमवार को 10 दिवसीय जन जागरुकता अभियान के औपचारिक शुभारंभ पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में प्रचार सामग्री के विमोचन के करते हुए व्यक्त किए। बामनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में सरकार प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए पूरी तरह सचेत है। उनके दिए नारे राजस्थान सतर्क है की तर्ज पर भीलवाड़ा भी पूरी तरह सतर्क है। शुरूआत में जिले का नाम देश भर में नकारात्मक रुप से चर्चित हो गया था लेकिन राज्य सरकार के लगातार निर्देशों को जिला प्रशासन ने सख्ती से लागू किया और आमजन के पूर्ण सहयोग से कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्राण करने में सफलता प्राप्त की। इससे पूर्व प्रभारी मंत्री एंव प्रभारी सचिव विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जयपुर में हुए राज्य स्तरीय कार्यक्रम से जुड़े। इस दौरान सांसद सुभाष बहेडिय़ा, विधायक कैलाश त्रिवेदी, वि_ल शंकर अवस्थी, गोपाल खंडेलवाल, गोपीचंद मीणा, जब्बर सिंह सांखला, प्रभारी सचिव कुंजी लाल मीणा, जिला कलक्टर राजेंद्र भट्ट, महात्मा गांधी दर्शन समिति के जिला संयोजक अक्षय त्रिपाठी, नगर परिषद सभापति मंजू चेचानी, मेडीकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. राजन नंदा आदि उपस्थित थे। अतिथियों ने जागरुकता रथ व आरयूआईडीपी के ऑटो रिक्शा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
बामणिया ने विडियो कान्फ्रेंस रुम में अधिकारियों के साथ बैठक कर विभागीय कार्य योजनाओं की समीक्षा की। मनरेगा प्रवासियों के लिए वरदान साबित हुई है। इससे 4 लाख से अधिक श्रमिक नियोजन कर जिले में प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त कर रखा है। प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा ने मनरेगा में श्रमिक संख्या ५ लाख करने का लक्ष्य दिया।
तुलसी की चाय पीने से नहीं होगा कोरोना
प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा कहा कि भारत में हाथ जोडऩे की संस्कृति हमेशा से ही रही है, लेकिन विदेशी कल्चर ने इसकी जगह ले ली थी। अब सभी कोरोना का नमस्कार करने लगे है। इस अभियान के दौरान यह भी ध्यान रखे की कोई हाथ नहीं मिलाए। उन्होंने कहा कि तुलसी का पौधा हर घर में लगाए। नहीं है तो इसे अभियान से जोड ले। यह भी भीलवाड़ा मॉडल की तरह सफल हो जाएगा। उनका दावा है कि तुलसी की चाय पीने से कोरोना नहीं होगा।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned