script नए साल से सीए बनना होगा आसान, समय भी एक वर्ष कम लगेगा | Changes made in CA course | Patrika News

नए साल से सीए बनना होगा आसान, समय भी एक वर्ष कम लगेगा

locationभीलवाड़ाPublished: Dec 11, 2023 08:58:49 am

Submitted by:

Suresh Jain

आईसीएआई ने फाइनल में ऑर्टिकलशिप अवधि एक वर्ष घटाई
इंटर व फाइनल में पेपर भी कम, वर्ष-2024 से बदलेगा परिदृश्य

नए साल से सीए बनना होगा आसान, समय भी एक वर्ष कम लगेगा
नए साल से सीए बनना होगा आसान, समय भी एक वर्ष कम लगेगा

भीलवाड़ा में चार्टर्ड अकाउंटेट बनने का सपना रखने वाले युवा प्रतिभाओं के लिए अगले वर्ष-2024 से परिदृश्य बदलने वाला है। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) की ओर से सीए कोर्स में किए गए बदलाव नए साल से लागू होंगे।

सीए फाइनल से लेकर इंटर ओर फाउण्डेशन तक में बदलाव होगा। सीए की बढ़ती मांग पूरी करने ओर अधिकाधिक प्रतिभाओं को इस क्षेत्र में लाने के लिए आकर्षित करने के लक्ष्य से सीए कोर्स व परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया गया है। यह बदलाव मई-2024 से होने वाली सीए फाइनल, इंटर व फाउण्डेशन परीक्षा से प्रभावी होंगे। इसमें सबसे बड़ा बदलाव सीए इंटर क्लीयर करने के बाद फाइनल की परीक्षा से पूर्व तीन वर्ष की आर्टिकलशिप अवधि को एक वर्ष घटा देना है यानि अब इंटर के दो वर्ष बाद ही विद्यार्थी फाइनल की परीक्षा देने के लिए पात्र होंगे। अभी इसके लिए तीन वर्ष इंतजार करना पड़ता था।

इससे सीए फाउण्डेशन करने के बाद तीन वर्ष में सीए इंटर व फाइनल दोनों पूरे किए जा सकेंगे। इसी तरह सीए इंटर व फाइनल की परीक्षा में नए वर्ष से 8 की बजाय 6 प्रश्नपत्र ही होंगे। दो ग्रुप में होने वाली इस परीक्षा में प्रत्येक ग्रुप में अब चार की बजाय तीन प्रश्नपत्र होंगे। नए परीक्षा पैटर्न में कम्प्यूटर व इकोनॉमिक्स का पेपर नहीं होगा। सीए इंटर व फाइनल में अब हर प्रश्नपत्र में तीस प्रतिशत प्रश्न बहुविकल्पीय (एमसीक्यू) होंगे। अब तक केवल थ्योरी के प्रश्नपत्र में ही ऐसा हो रहा था। सीए फाउण्डेशन परीक्षा में भी अगले वर्ष से इंग्लिश व बीसीके के प्रश्नपत्र नहीं होंगे।

कॉमर्स एजुकेशन हब बन चुका भीलवाड़ा
कक्षा 11 एवं 12 में कॉमर्स शिक्षा एवं कॉमर्स से जुड़े प्रोफेशनल कोर्सेज की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए भीलवाड़ा बेस्ट सेंटर के रूप में पूरे राजस्थान में पहचान बना चुका है। पिछले कुछ वर्षों के परिणामों में भीलवाड़ा से तैयारी करने वाले विद्यार्थियों का दबदबा बता रहा है कि कॉमर्स एजुकेशन के क्षेत्र में कैसे भीलवाड़ा हब बन चुका है। भीलवाड़ा में जिले के ही विद्यार्थी नहीं बल्कि चित्तौड़गढ़, अजमेर, उदयपुर, राजसमन्द, प्रतापगढ़, कोटा, टोंक, बारा, बूंदी, समेत राजस्थान के कई जिलों से विद्यार्थी आ रहे है।

सीए परीक्षा पैटर्न में बदलाव से लाभ
आईसीएआई वर्ष-2024 से सीए फाइनल, इंटर व फाउण्डेशन के परीक्षा पैटर्न में जो बदलाव करने जा रहा है वह विद्यार्थी हित में होने के साथ सीए बनने की राह अपेक्षाकृत आसान करेगा। कड़ी मेहनत करने वाली युवा प्रतिभाओं को अब सीए बनने में लगने वाला समय भी एक वर्ष कम हो जाएगा।
- प्रदीप लाठी, एक्सपर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो