जनजागरण से ही कोरोना से लड़ा जा सकता है

जनप्रतिनिधियों, व्यापार संगठन व एनजीओ के प्रतिनिधियों से बोले कलक्टर

By: Suresh Jain

Published: 30 Sep 2020, 11:00 PM IST

भीलवाड़ा .
तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए व्यापक जन जागरण की आवश्यकता महसूस की जा रही है। यही वजह है कि मुख्यमंत्री 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में कोविड-19 जन आंदोलन छेडऩे जा रहे हैं। इस अभियान में स्वयंसेवी संगठनों, व्यापार संगठन एवं जनप्रतिनिधियों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है। बुधवार को नगर परिषद सभागार में आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए जिला कलक्टर शिव प्रसाद एम नकाते ने यह बात कही।
नकाते ने कहा कि जन आंदोलन के दौरान विभिन्न प्रकार के आयोजनों के माध्यम से लोगों को कोरोना वायरस बचने के लिए जागरूक किया जाएगा। शहर को विभिन्न हिस्सों में बांट कर इस अभियान को चलाया जाएगा और हर घर तक सन्देश पहुंचाया जाएगा। प्रत्येक हिस्से में स्वयंसेवी संगठनों, व्यापार संघ आदि को जोड़ा जाएगा। बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा, एडीएम राकेश कुमार व एनके राजौरा, एसडीएम रिया केजरीवाल, सीएमएचओ डॉ मुस्ताक खान, नगर परिषद आयुक्त दुर्गा कुमारी व स्थानीय जनप्रतिनिधि व विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने वीसी में बताया अभियान के बारे में
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को वीसी के माध्यम से जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को अभियान के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि महीने भर तक चलने वाले इस जन आंदोलन में सभी को सक्रिय भूमिका निभानी है और इसे सफल बनाते हुए कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को जीतना है।
.................
शहर के चिन्हित क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लगाई
भीलवाड़ा . कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने एवं शहर के विभिन्न क्षेत्रों में संक्रमित व्यक्तियों के पाए जाने के कारण विभिन्न थाना क्षेत्रों के तहत चिन्हित क्षेत्रों में कंटेनमेंट एरिया घोषित करते हुए निषेधाज्ञा लागू की है। यह आदेश उपखण्ड मजिस्ट्रेट रिया केजरीवाल ने बुधवार को जारी किए है। इसी प्रकार अन्य स्थानों पर लगाई गई निषेधाज्ञा को हटाई गई है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned