चिकित्सा विभाग ने किया नवाचार

गूगल शीट पर मिलेगी कोरोना बेड की जानकारी
रोगियों को तत्काल मिल सकेगी उपचार की सुविधा

By: Suresh Jain

Published: 27 Nov 2020, 10:34 PM IST

भीलवाड़ा।
जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखकर जिला प्रशासन ने नवाचार किया है। अब कोई भी व्यक्ति घर बैठे ये जान सकेगा कि कोरोना के उपचार के लिए किस सरकारी और प्राइवेट अस्पताल में कितने पलंग खाली है। इतना ही नहीं अन्य कई जानकारी भी हर समय एक क्लिक पर मिल सकेगी। कोरोना के उपचार के लिए अधिकृत किए सभी अस्पतालों के लिए एक गूगल शीट तैयार की है, जिसमें हर समय यह देखा जा सकेगा कि भीलवाड़ा शहर में कोरोना के उपचार के लिए इन अस्पतालों में सामान्य और आईसीयू के बेड खाली हैं या नहीं और अस्पताल में ऑक्सीजन की सुविधा है या नहीं। इससे कोई भी मरीज तुरंत उस अस्पताल में पहुंच सकेंगे, जहां बेड खाली हैं। जिला प्रशासन ने शहर में कोरोना के इलाज के लिए सरकारी एमजी अस्पताल सहित 10 निजी अस्पतालों को अधिकृत किया है। जिला प्रशासन की ओर से तैयार गूगल शीट का लिंक सभी अस्पताल, प्रशासनिक और चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के पास रहेगा।
गूगल शीट पर मिलेगी जानकारी डिटेल
गूगल शीट का लिंक प्रशासनिक व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को दिया गया है। इससे वे 24 घंटे सभी अस्पताल के बेड और ऑक्सीजन की उपलब्धता पर निगरानी रख रहे हैं। सभी अस्पताल को भी दिन में दो बार बेड, ऑक्सीजन, आईसीयू वार्ड सहित सभी जानकारियां अपडेट करने के निर्देश दिए गए हैं।
लेनी होगी जानकारी
विभाग की ओर से तैयार की गई गूगल शीट को आम व्यक्ति तो नहीं खोल सकता है, लेकिन उसके बारे में कोविड कंट्रोल रूम के फोन नंबर 01482-233035 पर पूछ सकते हैं। यहां पर गूगल शीट उपलब्ध है ताकि मरीज को अस्पताल लाते समय रास्ते में ही इस नंबर पर फोन करके पूछ सकते हैं। कंट्रोल रूम पर सबसे नजदीकी अस्पतला या आपकी ओर से जिन अस्पताल की जानकारी मांगी जा रही है उसके बारे में अपडेट डिटेल मिल जाएगी कि वहां पर बेड खाली है या नहीं और ऑक्सीजन है या नहीं। फोन पर जानकारी नहीं मिलती और आप शहर के किसी ऐसे अस्पताल में चले गए हैं जहां पर कोविड के आरक्षित बेड खाली नहीं है तो भी उस अस्पताल के संचालक गूगल शीट देखकर यह बता सकते हैं उस समय उनके सबसे नजदीकी कौनसे अस्पतला में बैड खाली हैं ताकि मरीज को जल्दी से जल्दी इलाज मिल सके।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुस्ताक खान ने बताया कि जिला कलक्टर शिवप्रसाद एम नकाते ने नवाचार करने का आइडिया दिया। क्योंकि किसी भी चुनाव में ताजा आंकड़े अपडेट करने के लिए गूगल शीट का उपयोग किया जाता है। यही प्रयोग कोरोना के रोगियों को जल्दी इलाज उपलब्ध कराने और प्रशासनिक प्रबंधन के लिए किया है। इसमें रोगियों सहित जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग को भी सुविधा हो रही है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned