script170 saw machines have to be shifted from the metro route, 40 meters sp | मेट्रो के रूट से शिफ्ट होनी है 170 आरा मशीनें, जमीन में मशीन उतारने 40 मीटर जगह होगी खाली, इधर चांदपुर में मूलभूत सुविधाएं भी नहीं हुईं | Patrika News

मेट्रो के रूट से शिफ्ट होनी है 170 आरा मशीनें, जमीन में मशीन उतारने 40 मीटर जगह होगी खाली, इधर चांदपुर में मूलभूत सुविधाएं भी नहीं हुईं

- 1950 से पहले बसा है टिंबर बाजार, अब आ गया है भीड़ भाड़ में, बाजार के नीचे अंडर ग्राउंड जाएगी मेट्रो

भोपाल

Published: July 18, 2021 09:12:31 pm

भोपाल. एम्स से सुभाष नगर तक 6.22 किमी मेट्रो के रूट पर काम चल रहा है। पिलर आकार लेते जा रहे हैं। मेट्रो के जंक्शन बोगदा पुल से आगे भारत टॉकीज तक अधिकारियों ने अलॉयमेंट सर्वे फरवरी में ही कर लिया है। टिंबर कारोबारी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि चांदपुर में जहां आरा मशीनों की शिफ्टिंग की जानी है , वहां जिला उद्योग केंद्र अभी मूलभूत सुविधाएं भी नहीं कर सका है। टिंबर कारोबारी बताते हैं यहां पांच साल में तीन से चार बार शिफ्टिंग के प्रयास किए गए, लेकिन नहीं हो सकी। ये बाजार 1950 से भी पहले का है, पिछले दस वर्षों से इसे यहां से शिफ्ट करने के प्रयास हो रहे हैं। सात साल पहले जमीन चांदपुर में तय की गई। व्यापारी प्लॉट आवंटन के रुपए तक जमा कर चुके हैं। इसके बाद भी कोई पहल नहीं हो रही।
मेट्रो के रूट से शिफ्ट होनी है 170 आरा मशीनें, जमीन में मशीन उतारने 40 मीटर जगह होगी खाली, इधर चांदपुर में मूलभूत सुविधाएं भी नहीं हुईं
- 1950 से पहले बसा है टिंबर बाजार, अब आ गया है भीड़ भाड़ में, बाजार के नीचे अंडर ग्राउंड जाएगी मेट्रो
इधर कंपनी अधिकारियों का कहना है कि वे अगले छह माह में यहां अंडर ग्राउंड मशीनें उतारकर काम शुरू कर देंगे। बोगदापुल से लेकर भारत टाकॉज तक आरा मशीनें लगी हैं। यहां बोगदा पुल जंक्शन से ही मेट्रो का रूट अंडर ग्राउंड हो जाएगा। इस एरिया में बरखेड़ी, क्रॉसिंग, भारत टॉकीज, अल्पना तिराहा (रेलवे स्टेशन), नादरा से आगे सिंधी कॉलोनी तक मेट्रो का रूट अंडर ग्राउंड है। इस कारण यहां ज्यादा जगह भी खाली करानी होगी। इसके आगे फिर से मेट्रो पिलर पर आएगी।
शाही औकाफ की जमीन पर मेट्रो का रूट
मेट्रो मशीनें उतारने के लिए यहां कम से कम 40 मीटर से ज्यादा जगह की जरूरत पड़ेगी। ऐसे में बोगदा पुल के आगे से काफी बड़ा हिस्सा लिया जाएगा। अंडर ग्राउंड स्टेशन बनाने के लिए भी अधिक जगह की जरूरत होती है। ऐसे में यहां काफी जमीनें शाही औकाफ से भी लेनी होगी। क्योंकि काफी संख्या में आरा मशीनें औकाफ की जमीनों पर लगी हैं। वे यहां किराएदार के रूप में बैठे हैं। कुछ मशीनें निजी खसरों पर भी ली हैं।
लेट होगा मेट्रो का काम

आरा मशीन शिफ्टिंग को लेकर अपनाई जा रही धीमी प्रक्रिया से मेट्रो के आगामी रूट पर निर्माण की प्रक्रिया धीमा पड़ सकती है। क्योंकि जिनके ऊपर चांदपुर को डवलप कर वहां लाइट और पानी जैसी मूलभूत जरूरत करने की जिम्मेदारी है, वे ही हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।
व्यापारी तैयार, विभाग पहल नहीं कर रहा
भोपाल का ये पहला मार्केट है जो 1950 से पहले का है, व्यापारी अपनी तरफ से प्लॉटों के रुपए तक जमा कर चुके हैं। लेकिन विभाग की तरफ से वहां अभी कोई व्यवस्था नहीं हुई। ऐसे में व्यापारी वहां कैसे जाएगा।
- इरशाद अली खान, टिंबर कारोबारी

अधिकारियों से चर्चा करेंगे
शिफ्टिंग को लेकर कहां क्या परेशानी आ रही है इस पर अधिकारियों से चर्चा की जाएगी। जल्द ही इसकी रिव्यू बैठक की जाएगी।

कवींद्र कियावत, संभागायुक्त

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

World Economic Forum 2022: दावोस एजेंडा के शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी, भारत बना दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा फार्मा प्रोड्यूसरयूएई के अबू धाबी एयरपोर्ट पर बड़ा हमला, दो भारतीयों समेत तीन की मौतवैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान, 12 से 14 साल तक के बच्चों को मार्च से लगेंगे टीकेPunjab Election 2022: पंजाब में चुनाव की तारीख टली, अब 20 फरवरी को होगी वोटिंग'किसी को जबरदस्ती नहीं लगाई कोरोना वैक्सीन ', केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में बतायाविधायक ने खड़े होकर कराई सड़कों की जांच, नमूने रखवा दिए एसडीएम ऑफिस मेंआखिर क्या है दलबदल कानून और क्यों पड़ी इसकी जरूरत, जानिए सब कुछऐसा क्या हुआ की सीएम योगी आदित्यनाथ का यह कैबिनेट मंत्री वर्षों बाद अचानक छानने लगे जलेबी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.