scriptazadi ka amrit mahotsav free entry national monuments 5 to 15 august | मोदी सरकार का बड़ा ऐलान : देश के स्मारकों में नहीं देना होगा टिकट का पैसा, देखें लिस्ट | Patrika News

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान : देश के स्मारकों में नहीं देना होगा टिकट का पैसा, देखें लिस्ट

आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आगामी 10 दिन यानी '5 से लेकर 15 अगस्त' तक किसी भी स्मारक में घूमने पर कोई एंट्री फीस नहीं लगेगी।

भोपाल

Published: August 04, 2022 02:13:35 pm

भोपाल. मध्य प्रदेश समेत देशभर के ऐतिहासिक स्मारकों में घूमने का सबसे बढ़िया मौका है। क्योंकि, आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आगामी 10 दिन यानी '5 से लेकर 15 अगस्त' तक किसी भी स्मारक में घूमने पर कोई एंट्री फीस नहीं लगेगी। इस संबंध में प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण ने देशभर के 3700 स्मारकों, पुरातत्‍व स्‍थल और संग्रहालयों को बिना टिकट के मुफ्त में सैर करने का ऐलान किया है। इन स्मारकों में देश के ताजमहल, लालकिला के साथ साथ मध्य प्रदेश के कुछ सबसे लोकप्रिय स्मारक सांची में अशोक स्तंभ, खजुराहो के ब्रह्मा और हनुमान मंदिर, होशंग शाह का मकबरा, मान सिंह पैलेस, ग्वालियर किला, रजवाड़ा, छत्री बाग, बाज बहादुर पैलेस, चौसठ योगिनी मंदिर आदि हैं।

News
मोदी सरकार का बड़ा ऐलान : देश के स्मारकों में नहीं लगेगा टिकट का पैसा, देखें लिस्ट,मोदी सरकार का बड़ा ऐलान : देश के स्मारकों में नहीं लगेगा टिकट का पैसा, देखें लिस्ट,मोदी सरकार का बड़ा ऐलान : देश के स्मारकों में नहीं लगेगा टिकट का पैसा, देखें लिस्ट


यह पहला मौका है जब इतने लम्बे समय के लिए मॉन्युमेंट्स फ्री किए जा रहे हैं। अभी तक केवल विश्व धरोहर दिवस, विश्व धरोहर सप्ताह, महिला दिवस, विश्व संग्रहालय दिवस पर मॉन्युमेंट्स को फ्री किया जाता था। एएसआई की तर्ज पर ही स्टेट ऑर्कियोलॉजी भी अपने मॉन्युमेंट्स को फ्री करने का प्लान कर रही है। हालांकि अभी तक इसकी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। लेकिन अधिकारियों के अनुसार जल्द ही यह घोषणा हो सकती है। राज्य पुरातत्व में गूजरी महल सहित फोर्ट के कर्ण महल, जहांगीर महल सहित कई स्मारक आते हैं।

यह भी पढ़ें- हाईकोर्ट ने कलेक्टर से कहा- सत्ताधारी पार्टी का एजेंट, पद के योग्य नहीं, वीडियो में देखें कोर्ट हियरिंग


एमपी के इन प्रमुख स्मारकों पर 5 से 15 अगस्त नहीं लगेगा शुल्क

-सांची स्तूप
सांची स्तूप एक बौद्ध परिसर है, जो अपने महान स्तूप के लिए प्रसिद्ध है। यह मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के सांची टाउन में एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। महान स्तूप भारत की सबसे पुरानी पत्थर की संरचनाओं में से एक है, और भारतीय वास्तुकला का एक महत्वपूर्ण स्मारक है।

-खजुराहो का ब्रह्मा और हनुमान मंदिर
खजुराहो के ब्रह्मा और हनुमान मंदिर का निर्माण 922 ईस्वी के आसपास किया गया था और यह भगवान ब्रह्मा और हनुमान को समर्पित था। इसकी पूरी संरचना ग्रेनाइट और बलुआ पत्थर से निर्मित है। अपनी अद्भुत मूर्तिकला, डिजाइन और वास्तुकला के कारण यह मंदिर पूरे भारत से लाखों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।


-होशंग शाह का मकबरा
होशंग शाह का मकबरा मांडू में निर्मित संगमरमर का निर्माण था। इसे पहले की अवधि में भारतीय उपमहाद्वीप क्षेत्र में अफगान संस्कृति का पहला संगमरमर का निर्माण माना जाता है।


-ग्वालियर का किला
ग्वालियर का किला मध्य प्रदेश के ग्वालियर के पास स्थित एक पहाड़ी किला है। किला कम से कम 10 वीं शताब्दी से अस्तित्व में है। किले को अपने इतिहास में कई अलग-अलग शासकों द्वारा नियंत्रित किया गया है। वर्तमान में किले के अंदर दो मुख्य महल हैं – गुजरी महल और मान मंदिर महल।


-छत्री बाग
छत्री बाग एक लोकप्रिय स्मारक है, जो इंदौर में खान नदी के पास स्थित है। यह स्थापत्य शैली के बेहतरीन उदाहरणों में से एक है। कई स्मारकों में सबसे आकर्षक वह स्मारक है जो होल्कर वंश के संस्थापक मल्हार राव होल्कर प्रथम की स्मृति में है।


-बाज बहादुर पैलेस
यह महल पहाड़ी ढलान पर स्थित है; यह इंदौर शहर से लगभग 95 किमी पश्चिम में है। बाज बहादुर महल राजपूत और मुगल वास्तुकला और शैली का मिश्रण है। महल का नाम शासक बाज बहादुर के नाम पर पड़ा है जो संगीत और कला के शौकीन थे।


-रजवाड़ा
रजवाड़ा एक ऐतिहासिक महल है, जो इंदौर शहर में स्थित है। इसे लगभग दो शताब्दी पहले मराठा साम्राज्य के होल्करों ने बनवाया था। यह सात मंजिला महल छतरियों के पास स्थित है। राजवाड़ा महल शाही भव्यता और स्थापत्य कौशल का एक बेहतरीन उदाहरण है।


-चौसठ योगिनी मंदिर
यह मंदिर भारत के सबसे पुराने विरासत स्थलों में से एक है। यह 64 योगिनियों के साथ देवी दुर्गा को समर्पित है। इस मंदिर का निर्माण 10वीं शताब्दी ईस्वी में कलचुरी साम्राज्य द्वारा किया गया था।

यह भी पढ़ें- ट्रेन में लाश के साथ सफर कर रहे थे यात्री, जैसे ही पता चला मच गया हड़कंप

केंद्रीय मंत्री ने दिया आदेश

News

इस संबंध में केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी ने इस संबंध में बुधवार यानी 3 अगस्त 2022 को ट्वीट करते हुए जानकारी दी है। ये आदेश पांच अगस्त (शुक्रवार) से लागू किया जाएगा। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने कहा कि, पूरे देश में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने संरक्षित सभी स्मारकों और स्थलों में 5 से 15 अगस्त तक मुफ्त प्रवेश किया जा सकेगा। उन्होंने ASI का एक बयान भी साझा किया है।

अब राशन दुकान पर कम दाम पर मोबाइल डाटा भी मिलेगा, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरकश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या का बदला हुआ पूरा, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिरायासुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.