मध्य प्रदेश के सरकारी भवनों में खुलेंगे निजी अस्पताल, CM शिवराज बोले- 30 अप्रैल तक बेवजह घर से न निकलें

प्रदेश में विकराल रूप धारण कर रहे कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता को बताया कि, मौजूदा स्थितियां अत्यंत विकट है।

By: Faiz

Published: 18 Apr 2021, 06:44 PM IST

भोपाल/ मध्य प्रदेश में तेजी से अपने पाव पसार रहे कोरोना वायरस के सूबे में कुल संक्रमितों की संख्या 4 लाख के पार जा पहुंची है। दूसरी लहर के संक्रमण की रफ्तार का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि, मात्र अप्रैल माह के 17 दिनों के भीतर ही सूबे में 1 लाख से अधिक केस मिल चुके हैं। प्रदेश में विकराल रूप धारण कर रहे कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता को बताया कि, मौजूदा स्थितियां अत्यंत विकट है।

 

पढ़ें ये खास खबर- कमलनाथ बोले- 'शिवराज जी... आप कब तक झूठ बोलते रहेंगे' शहडोल मेडिकल कॉलेज में हुई मौतों पर उठाए सवाल


लोग खुद लगाएं जनता कर्फ्यू

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि, कुल मिलाकरक देखें, तो कोरोना के इलाज के लिये प्रदेश के निजी अस्पतालों की अहम भूमिका देखी जा रही है। सीएम ने ऐलान किया कि, अगर कोई निजी अस्पताल खोलना चाहता है तो, सरकार द्वारा उसको अनुमति देने के साथ साथ हर संभव मदद करेगी। साथ ही साथ, जरूरत पड़ने पर निजी अस्पताल संचालन के लिये सरकारी भवन तक मुहैय्या कराने की व्यवस्था करेगी। सीएम ने कहा कि, अभी घरों से बाहर निकलना बहुत ज्यादा मुश्किल खड़ी कर सकता है। इसलिये आगामी 30 अप्रैल तक कोई भी अनावश्यक रूप से घर से बाहर न निकले। गांव, मोहल्लों, कॉलाेनियों यहां तक की बड़ी इमारतों तक में लोग जनता कर्फ्यू लगाएं।


सख्त होगा अगला लॉकडाउन

बता दें कि, राजधानी भोपाल , इंदौर समेत प्रदेश के जिन शहरों में एक्टिव केसेज की संख्या लगातार बढञ रही है, वहां सरकार द्वारा एक सप्ताह का लॉकडाउन और बढञाया गया है। सीएम ने ये भी कहा कि, अगर इस अवधि में कोरोना की रफ्तार काबू में नहीं आई, तो सरकार द्वारा आगे भी पाबंदियां बढ़ाई जा सकती हैं। सीएम ने ये भी कहा कि, सोमवार से लगने वाले लॉकडाउन की अवधि में पाबंदियों को सख्त किया जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- CM शिवराज ने महाराष्ट्र सरकार पर लगाया गंभीर आरोप, शिवसेना सांसद बोले- 'हम नहीं करते ऐसे पाप'


सीएम शिवराज की जनता से अपील

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि, ये एक युद्ध है। इसमें सबको सारे मतभेद भुलाकर एकजुट होकर संक्रमण के खिलाफ लड़ना होगा। सरकार अपने स्तर पर पूरे प्रयास कर रही है, लेकिन जब तक समाज का पूरा सहयोग नहीं होगा, हम कोरोना को शीघ्र नियंत्रित करने में सक्षम नहीं होंगे। बीमारी के थोड़े भी लक्षण दिखने पर तुरंत जांच करवाएं। इस अवधि में होम आइसोलेट या कोविड केयर सेंटर में रहकर इलाज कराएं। यहां सरकार द्वारा दवाओं, डॉक्टर की परामर्श आदि की पूरी व्यवस्था की गई है।

 

RATLAM: नकली डॉक्टर कर रहा था कोरोना का इलाज, हुई कार्रवाई - Video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned