ये जानलेवा बीमारियां होने पर भी आती है सुस्ती, इन संकेतों को बिल्कुल भी ना करें नज़रअंदाज़

कई लोग बिना कोई काम किए हुए भी थकान महसूस करते हैं, मानो जैसे उनके शरीर में कोई ऊर्जा ही न हो। अगर आप इसे भी सामान्य समझते हैं तो जरा ठहर जाइये!

By: Faiz

Published: 01 Jul 2019, 12:22 PM IST

 

भोपालः आजकल काम की व्यस्तताओं के कारण अकसर लोग सही समय पर पर्याप्त मात्रा में पोषण देने वाला भोजन नहीं कर पाते हैं। जिसके परिणाम स्वरूप शरीर में कमजोरी आना ( lack of energy ) और थोड़े थोड़े से काम के बाद ही थक जाना लोगों में आम सी समस्या बनती जा रही है। शरीर में कमजोरी के कारण शरीर सुस्त रहने लगता है। इसका एक कारण पर्याप्त नींद ना लेने से भी होता है। ये तो हुई एक सामान्य बात, लेकिन आजकल आमतौर पर ये भी देखने में आ रहा है कि, कई लोग बिना कोई काम किए हुए भी थकान महसूस करते हैं, मानो जैसे उनके शरीर में कोई ऊर्जा ( healthline ) ही न हो। अगर आप इसे भी सामान्य समझते हैं तो जरा ठहर जाइये! लगातार सुस्ती और थकान एक तरह की शारीरिक अव्यवस्था है, जो हमें कुछ गंभीर बीमारियो का संकेत देता है। तो आइये जानते हैं कि, शरीर में लगातार ऊर्जा की कमी और सुस्ती यानी लिथार्जी, किन बीमारियों का संकेत देती है।

 

पढ़ें ये खास खबर- Today Petrol Diesel Rate: रोज़ाना बढ़ रहे हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर के रेट

 

-एनीमिया

ये बीमारी होने पर शरीर में आयरन की कमी हो जाती है। इस बीमारी का शिकार सबसे ज्यादा महिलाएं होती हैं, क्योंकि पीरियड्स और प्रेगनेंसी में महिलाओं के शरीर से खून ज्यादा निकल जाता है। इसके अलावा स्तनपान के समय भी महिलाओं के शरीर में आयरन की आवश्यक्ता ज्यादा हो जाती है। एनीमिया के कारण शरीर का रंग पीला पड़ सकता है, लेकिन कमजोरी और थकान इसका प्रमुख लक्षण ( symptoms ) है।


-डायबिटीज

लगातार बढ़ने वाली थकान और सुस्ती का कारण डायबिटीज भी हो सकता है। ज्यादा प्यास लगना, बार-बार पेशाब लगना और थकान आदि डायबिटीज के प्रमुख शुरुआती लक्षण हैं। दरअसल, डायबिटीज होने पर शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। ग्लूकोज की सही मात्रा शरीर में एनर्जी के लिए जरूरी है इसलिए आपकी सुस्ती का कारण डायबिटीज भी हो सकती है।


-थायरॉइड

थायरॉइड की समस्या भी आपकी थकान की वजह हो सकती है। थायरॉइड गले के निचले हिस्से में स्थित ग्रंथियों से निकलने वाला हार्मोन है जो शरीर के मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करता है। इसी हार्मोन के असंतुलन के कारण शरीर में कई तरह की परेशानियां शुरू हो जाती हैं। इन परेशानियों में थकान और सुस्ती भी एक परेशानी है, जो थायरॉइड रोग का शुरुआती लक्षण हो सकता है।

पढ़ें ये खास खबर- इम्यून सिस्टम हो जाएगा इतना स्ट्रांग कि कोई भी बीमारी आपको छू नहीं पाएगी, जानिए कैसे

 

-लिवर की बीमारी

लगातार सुस्ती और चिड़चिड़ापन लिवर की समस्या का संकेत भी हो सकता है। लिवर शरीर का महत्वपूर्ण भाग है जो आहार में लिए गए भोजन और पेय पदार्थों को ऊर्जा में बदलकर शरीर के अंगों को ये ऊर्जा सप्लाई करता है। अगर आपको ड्रग्स लेने, एल्कोहल लेने या फास्ट फूड्स की आदत है, तो सबसे पहले आपका लिवर ही प्रभावित होता है। लिवर की समस्या में थकान, सुस्ती और कमजोरी के अलावा हल्का बुखार, भूख कम लगना और शरीर में दर्द भी इसके लक्षण ( diagnosis ) हैं।

 

-दिल की समस्या

आपकी लगातार सुस्ती की वजह दिल की किसी गंभीर बीमारी की तरफ भी इशारा हो सकती है। हार्ट अटैक के लगभग 70 प्रतिशत मामलों में महीनों पहले से सुस्ती और थकान की शिकायत देखी गई है। दिल की बीमारियों में हार्ट अटैक के अलावा, हार्ट ब्लॉकेज, हार्ट फेल्योर आदि भी शामिल हैं। इन बीमारियों से बचाव के लिए अपने आहार को संतुलित और पौष्टिक रखें।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned