scriptCrocodile caught in Kaliasot Dam | भारी बारिश के बीच अचानक पानी से बाहर निकला मगरमच्छ, मचा हंगामा | Patrika News

भारी बारिश के बीच अचानक पानी से बाहर निकला मगरमच्छ, मचा हंगामा

कलियासोत डैम में पकड़ा गया मगरमच्छ.....

भोपाल

Published: August 12, 2022 12:52:20 pm

भोपाल। गुरुवार को सावन माह बीत गया। शुक्रवार से भादौं माह की शुरुआत हो जाएगी। बारिश का दौर जारी है। गुरुवार को भी बादल छाए रहे। इस दौरान कभी तेज तो कभी मध्यम बारिश हुई। शहर में शाम तक 23.9 मिमी यानी पौन इंच से अधिक बारिश दर्ज की गई। पिछले तीन दिनों से बारिश का दौर चल रहा है। अगस्त माह में अब तक 136 मिमी (पांच इंच) से अधिक बारिश दर्ज की जा चुकी है। इस साल हुई बारिश से पूरे मानसूनी सीजन का कोटा पूरा हो चुका है। मानसूनी सीजन में भोपाल में 42.04 इंच बारिश होना चाहिए, जबकि अब तक सीजन में 42.36 इंच बारिश दर्ज हो चुकी है। कैचमेंट एरिया में अच्छी बारिश होने से बड़ा तालाब का वाटर लेवल बढ़ा हुआ है। इस कारण भदभदा और कलियासोत डैम के तीन-तीन गेट खोले गए हैं। केरवा के भी आठ में से ज्यादातर गेट खुले हुए हैं। कोलार डैम के गेट फिलहाल बंद कर दिए गए हैं।

photo1660288458.jpeg
Crocodile

डैम से निकला मगरमच्छ

कलियासोत के 13 शटर गेट के दूसरी ओर से नगर निगम की टीम ने एक मगर को पकड़ा। यह गेट खोलते- बंद करते समय डैम से दूसरी ओर नदी वाले हिस्से में आ गया था। निगम की टीम ने इसका मुंह और शरीर रस्सी से बांधा, ताकि ये किसी पर हमला न करे। वन विभाग को इसकी सूचना दी गई। मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम मगरमच्छ को जाल में बांधकर अपने साथ ले गई। गौरतलब है कि कलियासोत में कई घड़ियाल और मगरमच्छ डाले गए थे। इनका संरक्षण करने के लिए ऐसा किया गया था। जब भी कलियासोत के गेट खुलते हैं, इनके दूसरी ओर आने की आशंका बनी रहती है।

मछली पकड़ने गया युवक फंसा, रेस्क्यू कर बाहर निकाला

कलियासोत नदी में कोलार की ओर मछली पकड़ने गया भीमनगर का युवक राम विनय यहां एक ऊंचे टापू पर फंस गया। पानी का स्तर लगातार बढ़ने से उसकी हिम्मत बाहर आने की नहीं हुई। फायर ऑफिसर पंकज खरे को जानकारी मिली तो वे मौके पर पहुंचे और रस्सियों के सहारे उसे बाहर निकाला गया। गौरतलब है कि डैम में लगातार बढ़ते जलस्तर के बावजूद युवक मछलियां पकड़ने में व्यस्त रहा। ऐसे में लापरवाही पर उसकी जान भी जा सकती थी। हालांकि, शाम तक कलियासोत के गेट बंद कर दिए गए थे।

पड़रिया जाट गांव बना टापू

जिले का पड़रिया जाट गांव तेज बारिश की वजह से चारों तरफ से पानी से घिर गया और टापू में बदल गया है। यहां करीब 700 लोग गांव में ही कैद हो गए हैं। स्कूल बंद हैं तो राखी बांधने ससुराल से बहनें नहीं आ सकीं। गांव के मुख्य सड़क पर नाले के उफान पर होने से यह हालात बने हैं। ग्रामीणों का आसपास के क्षेत्रों से संपर्क टूट गया है।

बागमुगालिया में 20 दुकानें में भर गया पानी

बाग मुगालिया क्षेत्र में मुख्यमार्ग किनारे 20 दुकानों का बाजार पानी से भर गया। यहां पीडब्ल्यूडी ने पक्की रोड बनाई, कॉलोनियों का पानी रोड के दूसरी ओर ढलान में जाने का रास्ता नहीं दिया। एक पाइप डाला था, जिसकी क्षमता बेहद कम है। ऐसे में पानी सड़क के किनारों पर फैलता हुआ बाजार और आसपास जमा हो गया। यहां जमा पानी रोड पर जमा होकर दूसरी ओर किसी झरने की तरह फूट पड़ा।

कार पर गिरा पेड़

एलआइजी 12 सोनागिरी में खुले मैदान में खड़ा पेड़ अचानक गिर गया। ये पेड़ घर के सामने खड़ी एक गाड़ी पर गिरा, जिससे गाड़ी टूट गई। इसके साथ ही बरखेड़ा पठानी से चार शिकायतें पेड़ गिरे की दर्ज हुई। कोहेफिजा में निगम के स्वीमिंग पुल के पीछे की ओर निर्माणाधीन मकान के पास पेड़ गिरा।

सेंट फ्रांसिस स्कून के पास चर्च के सामने पेड़ गिरने की दो शिकायतें दर्ज हुई। हजरत निजामुद्दीन कॉलोनी में पेड़ गिरें।

पंप से निकालना पड़ा

जलभराव की कुल 28 शिकायतें निगम के पास पहुंची। सबसे अधिक शिकायतें सेफिया कॉलेज रोड से जुड़े क्षेत्रों की रही। यहां घरों में पानी चला गया। बरखेड़ी में जलभराव हुआ और घरों में पानी भर गया। इसके साथ ही शाहपुरा ए सेक्टर में दो फीट तक पानी जमा हुआ। यहां पंप से पानी निकालना पड़ा।

मिसरोद क्षेत्र इंडस गार्डन के हर गंगा नगर में जलभराव हुआ। गैस राहत अस्पताल में भी जलभराव हुआ। यहां निगम के अमले को पानी निकालना पड़ा। अयोध्या बायपास में इलेक्ट्रिक दुकान समेत आसपास पानी जमा हो गया। निगम का अमला पहुंचा और पानी निकाला।

गलियों, घरों से निकालते रहे पानी

सुबह से ही बारिश का दौर चलने से शिवनगर, करोद, पंबाजी बाग, गिरधर परिस, श्रीनगर कॉलोनी, कटारा, मिसरोद गांव समेत कई क्षेत्रों में पानी गलियों में ही जमा हो गया। शिवनगर में घरों में पानी गया तो लोग उसे उलीचकर बाहर निकालने लगे। शाहपुरा तालाब किनारे सड़क पर जमा जमा होने से लोगों को रास्ता बदलना पड़ा। चूनाभट्टी काली मंदिर के सामने रोड पर दो फीट तक पानी जमा हो गया। अन्य क्षेत्रों में भी ऐसी ही स्थिति है। बुधवार चौकी के पास लगातार बारिश से पेड़ भी गिर गया।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

सच बोलने की सजा भुगतनी पड़ी... बिहार के कृषि मंत्री के इस्तीफे पर BJP ने नीतीश पर किया हमलाअमित शाह के जम्मू दौरे से पहले पुलवामा में आतंकी हमला, पुलिस का एक जवान शहीद, CRPF जवान जख्मीIAF की ताकत में होगा इजाफा, कल सेना में शामिल होगा स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर, जानें इसकी खासियतIND vs SA 2nd T20: 2 गेंदबाज जो साउथ अफ्रीका को हराने में टीम इंडिया की मदद करेंगेबिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने दिया इस्तीफा, डिप्टी सीएम को सौंपा पत्रहिमाचल पहुंचे जेपी नड्डा, BJP जिला कार्यालय का लोकार्पण करने के बाद पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ की बैठकपंजाबः लॉरेंस बिश्नोई का करीबी गैंगस्टर टीनू हिरासत से चौथी बार फरार, मूसेवाला मर्डर केस में होनी थी पूछताछकांग्रेस के तीन बड़े प्रवक्ताओं ने दिया इस्तीफा, मल्लिकार्जुन खड़गे को अध्यक्ष बनाने के लिए करेंगे प्रचार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.