कोवैक्सिन का टीका लगने से वॉलिंटियर की मौत पर दिग्विजय ने उठाए सवाल, स्वास्थ्य मंत्री ने दिया जवाब

कोवैक्सिन ट्रायल पर तेज हुई सियासत, मृतक वॉलिंटियर के परिजन से मिलने पहुंचे दिग्विजय, सरकार से किए तीखे सवाल..

By: Shailendra Sharma

Published: 09 Jan 2021, 07:50 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोवैक्सीयन के ट्रायल को लेकर सियासत गर्मा गई है। कोवैक्सीनेशन से वॉलिंटियर की मौत होने के बाद राज्यसभा सांसद और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह मृतक के घर पहुंचे और परिजन का हाल जानकर सरकार पर जमकर निशाना साधा।

a30e07c2-1aec-4dbd-a3dc-d6622071c98b.jpg

दिग्विजय ने साधा सरकार पर निशाना
कोवैक्सिन का ट्रायल टीका लगने के बाद वॉलंटियर दीपक मरावी की मौत के बाद दिग्विजय सिंह भोपाल के टीलाजमालपुर स्थित दीपक के घर पहुंचे और परिजन से मुलाकात की । दिग्विजय ने सवाल करते हुए कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि कोरोना वॉलंटियर गरीब बस्तियों से ही क्यों है ? उन्होंने एक निजी अस्पताल का नाम लेते हुए सवाल पूछा कि निजी अस्पताल में कोवैक्सिन ट्रायल किया गया। जहां शुरुआती 6 दिन में महज 45 ही वॉलंटियर आए लेकिन फिर 1 महीने के अंदर ही 1700 से अधिक लोगों पर ट्रायल हो गया। जिन लोगों पर ट्रायल हुआ उनमें 95 फीसदी लोग भोपाल के हैं। जिनमें से अधिकतर निजी अस्पताल के पास की ही गरीब बस्तियों के रहने वाले हैं। ये भी शिकायतें उन्हें मिली हैं कि एक ही परिवार के कई लोगों को टीका लगाया गया है।

 

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया जवाब
दिग्विजय सिंह की तरफ से उठाए गए सवालों का स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने जवाब दिया। प्रभुराम चौधरी ने कहा कि वो खुद डॉक्टर हैं और उन्हें पता है कि कोवैक्सिन से किसी की भी मौत नहीं हो सकती है। लेकिन हर मौत दुखद है और मौत के कारणों की जांच सरकार की ओर से कराई जाएगी।

देखें वीडियो- बॉलीवुड एक्ट्रेस के बोल्ड तेवर

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned