script पटाखा फैक्ट्री में दो गुना बारुद, जमुनियाछीर में 12 पटाखा गोदाम आबादी के बीच, हलालपुरा में तीन दुकानों में स्टॉक से ज्यादा पटाखे, सभी सील | Double the amount of gunpowder in the firecracker factory, 12 firecrac | Patrika News

पटाखा फैक्ट्री में दो गुना बारुद, जमुनियाछीर में 12 पटाखा गोदाम आबादी के बीच, हलालपुरा में तीन दुकानों में स्टॉक से ज्यादा पटाखे, सभी सील

locationभोपालPublished: Feb 07, 2024 10:50:59 pm

- खजूरी में गैस गोदाम आबादी के बीच, जांच के बाद बैरागढ़ के हलालपुरा का पटाखा बाजार, जमुनियाछीर के गोदाम और गैस गोदाम को शिफ्ट करने की तैयारी

- 80 फीसदी दुकानें और गोदाम आबादी के बीच, एक चिंगारी करा सकती है बड़ा हादसा, दुकानों में कई जगह बिजली के तार भी कटे मिले हैं

पटाखा फैक्ट्री में दो गुना बारुद, जमुनियाछीर में 12 पटाखा गोदाम आबादी के बीच, हलालपुरा में तीन दुकानों में स्टॉक से ज्यादा पटाखे, सभी सील
पटाखा फैक्ट्री में दो गुना बारुद, जमुनियाछीर में 12 पटाखा गोदाम आबादी के बीच, हलालपुरा में तीन दुकानों में स्टॉक से ज्यादा पटाखे, सभी सील
भोपाल. हरदा में हुए ब्लास्ट के बाद राजधानी में भी पटाखा दुकानों, फैक्ट्री और गोदाम को लेकर जांच हुई। हुजूर के जमुनियाछीर स्थित 12 गोदाम जो आबादी के बीच आ गए हैं, उनमें स्टॉक रजिस्टर मेंटेन नहीं था। गोदाम में कितना स्टॉक है, पता ही नहीं, कई गोदाम भरे हुए मिले। आग लगी तो बड़ा हादसा हो सकता है, यहां सभी 12 गोदाम सील कर दिए। एसडीएम हुजूर आशुतोष शर्मा ने बताया कि गोदामों पर डिप्ले बोर्ड भी नहीं था। रतुआ में एक फैक्ट्री में तय मात्रा से दो गुना बारुद मिला है, उसे भी सील कर मजदूर परिवार को वहां से हटाया है। इधर पिपलानी पुलिस ने अभिषेक कुमार जैन निवासी आनंद नगर के घर से अस्सी हजार के पटाखे जब्त किए हैं।
बैरागढ़ में में तीन दुकानें सील

बैरागढ़ के मुख्य थोक बाजार हलालपुरा में तीन पटाखा दुकानों को सील किया गया है। इनमें तय लिमिट से ज्यादा पटाखे भरे हुए थे। प्रतिबंधित सुतली बम भी मिले हैं। प्रशासन ने कालू पटाखा, दुर्गा पटाखा और सोनी पटाखा की तीन दुकानों को सील कर दिया है। आस-पास बाजार और रहवासी क्षेत्र भी है। कार्रवाई के बाद इस बाजार को यहां से शिफ्ट करने की तैयारी हो गई है।
बैरसिया में एक दुकान और फैक्ट्री सील

बैरसिया क्षेत्र में पटाखों की दो फैक्ट्री और 15 सौ केजी लाइसेंस की एक दुकान है। एसडीएम विनोद सोनकिया ने जांच शुरू की तो एक पटाखा फैक्ट्री में थोड़ी बहुत कमियां मिलीं, जिसे दुरुस्त् करने के निर्देश देकर छोड़ दिया। लेकिन रतुआ स्थित मीना फायर वर्कस, प्रॉ आशा गनवानी की पटाखा फैक्ट्री में लिमिट से ज्यादा बारुद रखा था। पास में ही मजदूर का परिवार रह रहा था, फैक्ट्री सील कर परिवार को यहां से शिफ्ट करा दिया है। बैरसिया में 15 सौ केजी के लाइसेंस मनीष पटाखा की दुकान सड़क के किनारे है, एसडीएम ने वाहनों से हादसे की आशंका के चलते उसे सील कर दिया है। ऊपर से बिजली की लाइन भी गुजर रही है।
आबादी के बीच गैस गोदाम

इधर एसडीएम एमपी नगर एलके खरे ने अपने क्षेत्र के गैस गोदामों की जांच की तो खजूरी स्थित भारत गैस का गोदाम आबादी के बीचों बीच मिला। अगर इस गोदाम में किसी दिन कोई हादसा हुआ तो हरदा जैसा कांड होगा। एसडीएम ने तीन गैस गोदाम चेक किए जिनमें से खजूरी वाले को यहां से शिफ्ट करने और जंबूरी मैदान के करीब गैस गोदाम को भी यहां से शिफ्ट करने की रिपोर्ट तैयार की है। ये रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपी जाएगी।
वर्जन्

जहां जरूरत होगी फैक्ट्री, गोदाम शिफ्ट करेंगेटीमें जांच कर रही हैं, रिपोर्ट मेरे पास आएगी, इसके बाद जहां जरूरत होगी वहां से गोदाम, फैक्ट्री, दुकान या बाजार को शिफ्ट किया जाएगा। गैस गोदाम भी कहीं शहर में हैं तो उनको भी हटवाएंगे।
कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

ट्रेंडिंग वीडियो