scriptFinger identity system will open horoscope of criminals of 18 states | 18 राज्यों के अपराधियों की कुंडली खोल देगा फिंगर आईडेंटिटी सिस्टम | Patrika News

18 राज्यों के अपराधियों की कुंडली खोल देगा फिंगर आईडेंटिटी सिस्टम

फिंगर प्रिंट सिस्टम काफी सहायक साबित हो रहा है, चूंकि नेशनल ऑटोमेटिक फिंगर आईडेंटिटी सिस्टम से अब देश के करीब 18 राज्य जुड़े हैं, इस कारण कोई व्यक्ति अपराध करने के बाद कितना भी बचना चाहे, वह नहीं बच पाएगा, हाल ही पुलिस ने भी ऐसे कई मामलों में अपराधियों को धर दबोचा है.

भोपाल

Published: April 06, 2022 12:29:28 pm

भोपाल. अपराधियों को पकडऩे में फिंगर प्रिंट सिस्टम काफी सहायक साबित हो रहा है, चूंकि नेशनल ऑटोमेटिक फिंगर आईडेंटिटी सिस्टम से अब देश के करीब 18 राज्य जुड़े हैं, इस कारण कोई व्यक्ति अपराध करने के बाद कितना भी बचना चाहे, वह नहीं बच पाएगा, हाल ही पुलिस ने भी ऐसे कई मामलों में अपराधियों को धर दबोचा है, जो अपराध करने के बाद क्षेत्र से गायब ही हो गए थे।

fingar.jpg


18 राज्यों के अपराधियों पर अंकुश
नेशनल ऑटोमेटिक फिंगर आईडेंटिटी सिस्टम से देश के 18 राज्य जुड़े हैं, इस कारण अगर कोई अपराधी किसी भी प्रकार का अपराध करने के बाद वह इन 18 राज्यों में कहीं भी भाग जाता है, तो भी वह पकड़ा जाएगा, इस सिस्टम को जनवरी 2022 से 18 राज्यों में लागू किया गया है। जिसकी सफलता इस बात से नजर आ रही है कि केवल एमपी में ही करीब दो दर्जन से अधिक बंद केस में अपराधियों तक पहुंचने में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है।

देश में कहीं भी किया अपराध तो पकड़ा जाएगा

इस सिस्टम के तहत किसी भी प्रकार की वारदात होने के बाद मौके पर मिले फिंगर प्रिंट को अपलोड कर दिया जाता है, इसके बाद वह अपराधी कहीं भी कोई अपराध करता है, तो फिंगर प्रिंट अपलोड होते ही सिस्टम की पकड़ में आ जाता है, इसलिए अब देशभर में कोई भी अपराधी किसी भी प्रकार का अपराध कर भाग भी जाता है तो उसे पुलिस कहीं से भी ढूंढ निकालेगी।

यह भी पढ़ें : 3 मिनट में मिल जाता है यहां वाहनों का फिटनेस सार्टिफिकेट

एमपी सहित ये राज्य जुड़े
नेशनल आईडेंटिटी सिस्टम को शुरूआती दौर में मध्यप्रदेश के साथ ही उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब, तमिलनाडू, कर्नाटका, कोलकाता, आन्ध्रप्रदेश, दिल्ली सहित 18 राज्यों में जनवरी 2022 से लांच किया गया है। ये सभी राज्य जुडऩे के साथ ही अपराधियों को पकडऩा पहले से काफी आसान हो गया है, इस सिस्टम के तहत और भी राज्यों को जोड़ा जाएगा। ताकि देश भी कहीं भी अपराध होने पर उसकी तुरंत धरपकड़ कर ली जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Crisis: क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया के फॉर्मूले जैसा ही एकनाथ शिंदे गुट को लाने की तैयारी में बीजेपी, समझें क्या है पार्टी का प्लान बीMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिकPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.