scriptheart attack in early age | कम उम्र में आ रहे हार्ट अटैक के मामले, यह है पांच प्रमुख कारण | Patrika News

कम उम्र में आ रहे हार्ट अटैक के मामले, यह है पांच प्रमुख कारण

heart attack in early age- भोपाल में 17 साल के किशोर और 22 साल के युवक की हार्ट अटैक से मौत...।

भोपाल

Updated: May 02, 2022 03:34:53 pm

भोपाल। ऐसे कई मामले पिछले दिनों आए जिनमें 40 की उम्र वाले लोगों को अचानक हार्ट अटैक (heart attack ) आया और वे मौत की नींद सो गए। लेकिन, महज 17 साल की उम्र में किसी को हार्ट अटैक आए तो यह मामले अलग ही हैं। राजधानी भोपाल में 17 साल के किशोर की हार्ट अटैक से मौत हो गई। चिकित्सक इसके पीछे कई वजह बताते हैं, जो कम उम्र में हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार होती हैं। आप को भी सतर्क रहते हुए अपनी लाइफ स्टाइल और खानपान का विशेष ध्यान रखना होगा।

heart1.jpg


एक जानकारी के मुताबिक देश में 3 करोड़ से ज्यादा लोग दिल से जुड़ी बीमारियों के शिकार हैं। इस देश में प्रत्येक 3 सेकंड में एक व्यक्ति की मौत हार्ट अटैक से हो जाती है। इसमें 50 प्रतिशत लोग 50 साल से अधिक वाले हैं, 25 फीसदी लोग 40 साल की उम्र वाले है और अब इनसे कम उम्र वालों की भी संख्या बढ़ रही है। क्योंकि 18 से 25 साल की उम्र के युवा सिगरेट और शराब का सेवन करने लगे हैं। जो हार्ट अटैक का अहम कारण साबित हो रहा है।


नशा करने से कमजोर होता है दिल

भोपाल के हमीदिया अस्पताल के हृदय रोग विशेषज्ञ डा. आरएस मीना बताते हैं कि ज्यादा नशा करने से हार्ट की मायकार्डियल मसल्स कमजोर हो जाती है। इन्हीं मशल्स से हार्ट का निर्माण होता है। इन मसल्स के कमजोर होने से धड़कन की गति असामान्य हो जाती है और कार्डियक फेलियर का खतरा बढ़ जाता है।

attck_1.jpg

 

What's Behind the Rise in Heart Attacks Among Young People

 

कम उम्र में हार्ट अटैक के यह हैं पांच कारण

  • स्मोकिंग

ज्यातार युवा एक दूसरे की देखा-देखी स्मोकिंग या शराब पीने लगते हैं। डाक्टरों के अनुसार यह आदतें इंसान के भीतर कार्डियोवस्कुलर डिजिज जैसी बीमारी के लक्षण पैदा करते हैं। इसके बाद बाडी में फैट बनता है और उसे फिर कोरोनरी हार्ट की बीमारी हो जाती है।

  • शराब का सेवन

शराब पीने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है, जिसका सीधा असर बल्ड वेसैल्स पर पड़ने से हार्ट पंपिंग शुरू हो जाती है। इससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। यह हर दिन पीने से खतरा भी बढ़ने लगता है। जब अटैक आता है तो व्यक्ति को संभलने का अवसर नहीं मिलता है।

  • जंक फूड

आजककल के युवा वर्ग की चाहत जंक फूड ज्यादा हो गई है। कम समय में जंक फूड खाकर यह लोग गुजारा करते हैं, इससे वो तली चीजों का ज्यादतर इस्तेमाल करते हैं। इससे शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है और इसका सीधा असर दिल पर पड़ने लगता है, नतीजा कभी भी हार्ट अटैक की स्थिति बन जाती है।

  • ओवर वर्क लोड

कम उम्र के बच्चे अति उत्साह में अपनी लाइफ स्टाइल में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि उन्हें काने-पीने की भी चिंता ज्यादा नहीं रहती। वे बाहर की चीजों को रोक नहीं लगा पाते। ज्यादातर समय कंप्यूटर पर बैठे रहने और शारीरिक श्रम नहीं कर पाने के कारण वे खतरे की ओर बढ़ने लगते हैं। दफ्तर से लेकर हर जगह फोन पर ही व्यस्त रहते हैं। इसमें सोशल मीडिया भी काफी हद तक जिम्मेदार हैं। इस वजह से वर्क लोड सीधा ब्लड सेल्स पर असर डालता है। इसी कारण युवा वर्ग कम उम्र में ही ब्लड प्रेशर जैसी समस्या के शिकार हो रहे हैं। नतीजा कभी भी हार्ट अटैक हो सकता है।

  • तनाव में जीवन

तनाव (स्ट्रेस) में जीवन गुजारना भी खतरे से खाली नहीं है। एक स्वस्थ मन और स्वस्थ तन रखना भी बेहद जरूरी होता है। यह आपके दिल और मस्तिष्क पर प्रभाव डालता है। इससे जितना बचे और एंजॉय करें उतना अच्छा है। इसलिए स्वस्थ लाइफ जीएं, प्रसन्न रहें और परिवार के समय अच्छा वक्त बिताएं।

17 साल के किशोर की हार्ट अटैक से मौत

अयोध्या नगर थाना क्षेत्र में शुक्ला क्रेशर बस्ती में रहने वाले विक्की प्रजापति पुत्र ब्रजेश प्रजापति की 17 साल की उम्र में मौत हो गई। प्रारंभिक जांच में हार्ट फेल होना बताया जा रहा है। आनंद के पिता ब्रजेश मजदूरी का काम करते हैं और विक्की उनके काम में हाथ बंटाता था। पांच फरवरी को विक्की के पेट और सीने में तेज दर्ज उठने पर उसे बायपास स्थित करोंद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से दवाएं देकर उसे छुट्टी कर दी गई थी। सोमवार दोपहर 12 बजे उसे अचानक सीने और पेट में दर्ज उठा, परिजन उसे लेकर अस्पताल जाते उससे पहले ही उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने सोमवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। विक्की के परिवार में मां हेमलता और एक बडा़ भाई है।

22 साल के योग प्रशिक्षक की मौत

इधर, टीटी नगर थाना क्षेत्र स्थित सेकंड नंबर बस स्टैप पर संस्कार भारती कार्यालय है। उसके कमरे में अजीत सिंह यादव रहते हैं। उन्हीं के साथ वाले कमरे में सतना निवासी युवा योग प्रशिक्षक आनंद त्रिपाठी पिता अमरनाथ त्रिपाठी (22) भी रहते थे। सोमवार रात 12 बजे जब अजीत अपने कमरे में सोने जा रहे थे तभी आनंद त्रिपाठी को बेसुध पड़े देखा और पुलिस को सूचना दी। पुलिस का अनुमान है कि संभवतः हार्ट अटैक से मौत हुई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीअब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : 21 मई को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर'मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा'- Virat Kohli ने रिटायरमेंट का संकेत देकर चौंकायाअकाली दल के दिग्गज नेता व पंजाब के पूर्व मंत्री तोता सिंह का निधन, सरपंच से पार्टी प्रेसिडेंट तक ऐसा था सफरभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.