script शास्त्री नगर सरस्वती नगर री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत हाउसिंग बोर्ड ने लगाया शिविर | Housing Board organized camp under Shastri Nagar Saraswati Nagar Re De | Patrika News

शास्त्री नगर सरस्वती नगर री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत हाउसिंग बोर्ड ने लगाया शिविर

locationभोपालPublished: Dec 09, 2023 07:19:12 pm

शास्त्री नगर सरस्वती नगर री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत हाउसिंग बोर्ड ने लगाया शिविर। रहवासियों से उनकी सहमति के लिए सहमति पत्र भरवाए जा रहे हैं। 10 दिसंबर तक यह शिविर चलेगा। प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए 51% रहवासियों की सहमति अनिवार्य है। सरकार की नई री डेंसिफिकेशन पॉलिसी के तहत यहां की 50 साल पुरानी मल्टियों को नए सिरे से बनाया जाएगा।

15dd6658-af2e-45b1-a30b-b7cf856ff158.jpg
भोपाल. री-डेवलपमेंट पॉलिसी के तहत टीटी नगर क्षेत्र के सरस्वती नगर, शास्त्री नगर के फ्लेट्स को नए सिरे से बनाया जाएगा। हाउसिंग बोर्ड इन्हें विकसित कर रहा है। इसके लिए इन दोनों कॉलोनियों के रहवासियों से सहमति पत्र की प्रक्रिया की जा रही है। दस दिसंबर तक सहमति पत्र भरवाने के बाद काम शुरू कर दिया जाएगा। निर्माण के दौरान रहवासियों को किराए के मकान में रहने के लिए किराया भी दिया जाएगा। हाउसिंग बोर्ड नए फ्लेट्स के लिए रहवासियों से कोई शुल्क नहीं देगा।
10.41 रुपए प्रतिवर्ग फीट की दर से देंगे किराया
- हाउसिंग बोर्ड यहां के रहवासियों से जो सहमति पत्र भरवा रहा है उसमें शासन द्वारा तय 10.41 रुपए प्रतिवर्गफीट की दर से किराया दिया जाएगा। यदि कोई रहवासी 800 वर्गफीट का मकान किराए से लेता है तो उसे 8 हजार 328 रुपए का किराया दिया जाएगा। यहां 500 से अधिक परिवार रहते हैं और इन्हें अब नए फ्लेट्स मिलेंगे।
50 साल पुराने भवन
- सरस्वती नगर और शास्त्री नगर को हाउसिंग बोर्ड ने करीब 50 साल पहले विकसित किया था। अब यहां के भवन बेहद जर्जर हो चुके हैं। नगर निगम इन भवनों को जर्जर भी घोषित कर चुका है। आए दिन यहां छज्जे गिरने से लेकर पलस्तर निकलने व बारिश में पानी टपकने की स्थिति बनती है। ऐसे में इन भवनों को नए सिरे से बनाकर नए फ्लेट दिए जाने से आगामी तीन से चालीस साल तक की दिक्कत दूर हो जाएगी।
20 फीसदी ज्यादा बड़ा होगा घर, 1000 रुपए में होगी नई रजिस्ट्री
- यहां सहमति पत्र के दौरान हाउसिंग बोर्ड अधिकारियों ने रहवासियों को बताया कि नए भवन में उनके फ्लेट की साइज पहले से 20 फीसदी ज्यादा होगी। यानि 450 वर्गफीट की बजाय ये घर 540 वर्गफीट तक के होंगे। इसके साथ भवन की रजिस्ट्री भी 1000 रुपए में मिल जाएगी। 20 फीसदी अतिरिक्त हिस्से के लिए जरूर वर्तमान दर से स्वयं के खर्च पर रजिस्ट्री कराना होगी।
पांच नंबर बाजार का री-डेवलपमेंट होगा
- पांच नंबर बाजार भी नए रंग रूप में नजर आएगा। यहां के 99 फीसदी दुकानदारों ने इसे नए सिरे से विकसित करने के सहमति पत्र पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि ये शहर का सबसे पहला री-डेवलप होने वाला बाजार होगा। इसके अलावा हाउसिंग बोर्ड ने रविशंकर मार्केट को री-डेवलप करने का प्रस्ताव बनाया हुआ है। भोपाल विकास प्राधिकरण ने अपने पुराने प्रोजेक्ट्स को री-डेवलप करने प्रक्रिया शुरू कर रखी है। आगामी समय में शहर में 40 से 50 साल पुरानी सभी कॉलोनियों को नए सिरे से विकसित करने का काम शुरू नजर आएगा।
कोट्स
हम पांच नंबर समेत सरस्वती नगर, शास्त्री नगर और अन्य क्षेत्रों को री-डेवलपमेंट पॉलिसी के तहत विकसित करने जा रहे हैं। इसके लिए लोगों से सहमति ली जा रही है।
- चंद्रमौली शुक्ला, आयुक्त हाउसिंग बोर्ड

ट्रेंडिंग वीडियो