scriptMP Honeytrap Case : नोटिस के बावजूद आज पूर्व CM कमलनाथ से न तो पेनड्राइव ले सकेगी SIT, न ही बयान, जानें वजह | kamalnath will not give pendrive nor statement today on Honeytrap case | Patrika News

MP Honeytrap Case : नोटिस के बावजूद आज पूर्व CM कमलनाथ से न तो पेनड्राइव ले सकेगी SIT, न ही बयान, जानें वजह

locationभोपालPublished: Jun 02, 2021 12:54:30 pm

Submitted by:

Faiz

कमलनाथ के वकील की ओर से एसआईटी को भेजे गए सूचना पत्र के मुताबिक, पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों के चलते कमलनाथ फिलहाल भोपाल में मौजूद नहीं रह सकेंगे। अपने तय कार्यक्रमों से निपटकर वो आगामी 7 जून को भोपाल आ सकेंगे।

News

MP Honeytrap Case : नोटिस के बावजूद आज पूर्व CM कमलनाथ से न तो पेनड्राइव ले सकेगी SIT, न ही बयान, जानें वजह

भोपाल/ मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप मामले की जांच में जुटी SIT द्वारा बुधवार 2 जून का नोटिस दिये जाने के बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से न तो संबंधित पेनड्राइव मिल सकेगी और न ही इस संबंध में उनके बयान दर्ज किये जा सकेंगे। कमलनाथ के वकील ने एसआईटी को आज भोपाल में उपस्थित न होने के संबंध में सूचना पत्र दे दिया है। एसआईटी को भेजे गए सूचना पत्र के मुताबिक, पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों के चलते कमलनाथ फिलहाल भोपाल में मौजूद नहीं रह सकेंगे। अपने तय कार्यक्रमों से निपटकर वो आगामी 7 जून को भोपाल आ सकेंगे। इसके बाद अब एसआईटी कमलनाथ के दिल्ली से भोपाल लौटने के बाद ही उनके बंगले पर मामले को लेकर मुलाकात कर सकेगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोना की तीसरी लहर से इस तरह लड़ेंगे CM शिवराज, बनाया एक्शन प्लान


इसलिये SIT को चाहिए कमलनाथ से पेनड्राइव और बयान

आपको बता दें कि, कमलनाथ ने हनीट्रैप से जुड़ी पेन ड्राइव सबके और खुद के पास होने की बात कही थी। उनके इस बयान को आधार मानते हुए एसआईटी ने पेनड्राइव और कमलनाथ के बयान को जांच में शामिल किया है। एसआईटी के मुताबिक, कमलनाथ के मुताबिक, अगर पेनड्राइव में कुछ खास है तो इससे हनीट्रैप केस को सुलझाने में बल मिल सकता है। इसी के चलते दो दिन पूर्व एसआईटी द्वारा कमलनाथ को नोटिस भेजकर आज उनसे उन्हीं के बंगले पर उपस्थित रहने को कहा गया था। ताकि, कमलनाथ के बयान के मुताबिक जांच को बल मिल सके।

एसआईटी के जांच अधिकारी शशिकांत चौरसिया ने दो दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को नोटिस भेजकर भोपाल स्थित उनके बंगले पर पेनड्राइव सुपुर्द करने और संबंधित बयान दर्ज को कहा था। कमलनाथ को दिये गए नोटिस में हनीट्रैप केस को लेकर दर्ज एफआईआर का जिक्र है, तो वहीं 21 मई को ऑनलाइन पत्रकारवार्ता में कमलनाथ के जरिये हनीट्रैप प्रकरण की सीडी पेनड्राइव होने का हवाला भी दिया गया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP Corona Update: 24 घंटे में 1078 पॉजिटिव, संक्रमितों की संख्या पहुंची 7 लाख 81 हजार के पार, 24 घंटे में 45 की मौत


कमलनाथ ने ऑनलाइन प्रेस वार्ता में किया था पेनड्राइव का जिक्र

आपको ये भी बता दें कि, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की ओर से की गई ऑनलाइन पत्रकार वार्ता का प्रसारण सोशल मीडिया पर भी हुआ था। इसी दौरान उन्होंने पेन ड्राइव के संबंध में भी जानकारी दी थी। इस संबंध में उनका बयान समाचार पत्रों में भी प्रकाशित किया गया था। जांच टीम के अधिकारी ने लिखा है कि थाना पलासिया इंदौर में हनीट्रैप के मामले में दर्ज केस की जांच में सीडी पेनड्राइव बेहद खास सबूत है। इस सीडी पेनड्राइव को प्राप्त कर इस अपराध के इन्वेस्टिगेशन को और अधिक प्रभावशाली बनाया जा सकेगा।

कोरोना वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब – जानें इस वीडियो में

https://www.dailymotion.com/embed/video/x814dxu
loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो