scriptmadhya pradesh flood Rescue Operations On | 7 जिलों की बाढ़ में फंसे है 2 हजार से अधिक लोग, मुख्यमंत्री ने किया हवाई सर्वे | Patrika News

7 जिलों की बाढ़ में फंसे है 2 हजार से अधिक लोग, मुख्यमंत्री ने किया हवाई सर्वे

मध्यप्रदेश में बाढ़ से हालात खराब, मुख्यमंत्री कर रहे हैं हवाई सर्वे, पीएम और गृहमंत्री को बताई स्थिति...।

भोपाल

Updated: August 04, 2021 04:42:32 pm

भोपाल। मध्यप्रदेश के 7 जिलों में बाढ़ से हालात खराब है, युद्ध स्तर पर बचाव कार्य चल रहा है। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हवाई सर्वे के बाद दिल्ली पहुंच जाएंगे। वे केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात करेंगे। इससे पहले, शिवराज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से फोन पर बात कर उन्हें बाढ़ प्रभावित इलाकों की जानकारी दी।

shivraj1.jpg

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को हवाई सर्वेक्षण कर रहे है। इससे एक दिन पहले मौसम खराब होने की वजह से उनका हवाई सर्वे नहीं हो पाया था। इस बीच वे मंत्रालय स्थित सिचुएशन रूम से ही स्थिति का जायजा ले रहे थे। उन्होंने बुधवार को दूसरे दिन भी प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से प्रदेश में बाढ़ की स्थिति पर बुधवार को भी बात की। उन्होंने युद्ध स्तर पर किए जा रहे बचाव कार्य की जानकारी दी।

गृहमंत्री ने दिया मदद का भरोसा

बुधवार को गृहमंत्री अमित शाह ने बाढ़ प्रभावित इलाकों की हर संभव मदद का भरोसा दिया है। मुख्यमंत्री ने उन्हें प्रदेश में किए जा रहे बचाव कार्य की जानकारी दी। उन्होंने केंद्र सरकार से मिल रही मदद की भी सराहना की। उन्होंने गृहमंत्री का धन्यवाद भी दिया है।

cm.png

7 जिलों में 5950 लोगों को बचाया

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में मीडिया को बाढ़ प्रभावित इलाकों में चल रहे रेस्क्यू आपरेशन की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में बाढ़ की स्थिति गंभीर है। शिवपुरी, श्योपुरकला, दतिया, ग्वालियर, गुना, भिंड और मुरैना जिलों में 1225 गांव प्रभावित हैं।

अब तक जो लोग हमने सुरक्षित निकाले हैं, श्योपुर के 32 गांव में 1500 लोग फंसे हुए थे। शिवपुरी के 90 गांव में 2 हजार लोग फंसे थे। दतिया, ग्वालियर, मुरैना और भिंड जिलों के 240 गांव थे, 5 हजार 950 लोगों को सुरक्षत निकालने में सफलता प्राप्त की है। अभी तक की जानकारी के मुताबिक 1950 लोगों को निकालने के प्रयास जारी है।

खराब मौसम की वजह से एयरफोर्स के हेलीकाप्टर को रेस्क्यू आपरेशन चलाने में कठिनाई आ रही थी। आज फिर एयरफोर्स ने बचाव कार्य शुरू किया है। आर्मी और बीएसएफ की टीम लगी हुई है। एनडीआरएफ की तीन टीमें पहले से थी, दो टीमें और आ रही हैं। आर्मी और एसडीआरएफ की 70 से ज्यादा टीमें बचाव कार्य में लगी हुई हैं। अब तक 5 हेलीकाप्टर 4 ग्वालियर में और एक शिवपुरी में लगे हैं। खराब मौसम के कारण कल काम बंद हो गया था। शिवपुरी में राहत मिली है, पार्वती नदी का जल स्तर बारिश कम होने की वजह से कम होना शुरू हुआ है।

दतिया : आखों के सामने बह गया पुल, देखें VIDEO

कहां क्या स्थिति

  • ग्वालियर में पानी रुका हुआ है। वाटर लेवल कम होना शुरू हुआ है। बाढ़ से 46 गांव प्रभावित हैं। 17 रेस्क्यू स्थल हैं। तीन हजार लोगों को राहत कैंप में रखा है। 13 स्थलों पर राहत कैम्प लगाए गए हैं।
  • -दतिया में आर्मी पहुंच गई है। हाल ही में रेस्क्यू का काम चल रहा था। 18 रेस्क्यू स्थल है, 16 में काम पूरा हो गया है। 11 सौ लोगों को रेस्क्यू किया गया है। वाटर लेवल दतिया में भी कम हो रहा है। सभी मुख्य मार्ग बंद हैं। एनएच-3 सुरक्षा की दृष्टि से बंद किया गया है, वहां एक स्थान पर क्रेक आया है। रतनगढ़ का पुल पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है और एक पुल और वहां टूटा है।
  • -शिवपुरी में भी वाटर लेवल घट रहा है। राहत कैंपों में लोगों को रखा गया है। 22 प्रभावित गांवों में रेस्क्यू चल रहा है। राहत कैंपों में लोगों को रखा गया है। 800 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है।
  • भिंड में एसडीआरएफ की टीमें पहुंच गई है। चंबल का पानी लगातार बढ़ रहा है। कोटा बैराज से भी पानी छोड़ा है, जब वो पानी यहां पहुंचेगा तो वाटर लेवल और बढ़ेगा। निचले स्तर पर जो गांव थे उन्हें खाली करा लिया गया है। भिंड में भी 800 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है।
  • श्योपुर में ग्वालापुर, निरावत, मेवाड़ा और जाटखेड़ा यह पूरी तरह से बाढ़ से घिरे हुए थे, अब वहां भी पानी कम हो रहा है। आर्मी वहां रास्ता बनाते हुए आगे बढ़ रही है। लोग अभी सुरक्षित हैं। वहां लोगों की जिंदगी को फिलहाल खतरा नहीं है।
  • मुरैना में सावधानी के तौर पर गांव खाली करवाने का काम जारी है। सुरक्षित स्थानों पर लोगों को पहुंचाया जा रहा है। हमारा कम्यूनिकेशन व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई है। हमने टेलीकम्यूनिकेशन मिनिस्ट्री से बात कर रहे हैं कि कैसे यह सिस्टम जल्दी ठीक किया जा सके, क्योंकि यह पूरी तरह ठप है।
  • रेलवे ट्रैक के बारे में सीएम ने बताया कि गुना और शिवपुरी के बीच रेल सेवा बंद है। रेलवे इंफ्रास्ट्रक्चर प्रभावित हुआ है। हम लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में हैं। प्रधानमंत्रीजी और गृहमंत्री जी से आज चर्चा हुई। उनके सहयोग से ही आर्मी, वायुसेना की मदद ले पाए।
datia_1.png

गृहमंत्री पहुंचे बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में पहुंच गए हैं। उन्होंने सिंध नदी के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और लोगों से मिले। मिश्र ने एनडीआरएफ और एसडीआरएफ समेत प्रशासन की ओर से चलाए जा रहे रेस्क्यू आपरेशन का जायजा लिया। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र ने स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों से बात की और स्थिति का जायजा लिया। इस बीच उन्होंने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.