इन नेताओं ने बीजेपी की कटाई नाक, लेकिन 'औकात' के हिसाब से हुई कार्रवाई

इन नेताओं ने बीजेपी की कटाई नाक, लेकिन 'औकात' के हिसाब से हुई कार्रवाई

Muneshwar Kumar | Updated: 22 Jul 2019, 01:53:38 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश के जिन नेताओं ने कटवाई पार्टी की नाक, उन पर अभी तक नहीं हो पाई है कोई कार्रवाई

भोपाल. मध्यप्रदेश बीजेपी ( news in mp bjp ) के दर्जन भर नेताओं ने अपनी करतूतों से पार्टी की नाक कटवाई है। नेताओं की करतूतों से बीजेपी ( Madhya Pradesh BJP ) की काफी किरकिरी भी हुई है। हद तो तब गई जब इन मामलों में कार्रवाई करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ( Narendra Modi ) को इंटरफेयर करना पड़ा। उसके बावजूद भी 'औकात' वाले नेताओं पर पार्टी कार्रवाई करने की हिमाकत नहीं कर पाई। हां, कुछ छोटे नेताओं पर कार्रवाई जरूर हुई। वो भी तुरंत। ऐसे में यह सवाल है कि क्या बीजेपी का यह डबल फेस है, जो नेताओं की हैसियत के हिसाब ( leaders capacity ) से कार्रवाई करती है।

 

ऐसे कई उदाहरण हैं, जिससे आप बीजेपी के दोहरी नीति के समझ सकते हैं। सबसे पहले बात करते हैं लोकसभा चुनावों के दौरान की। भोपाल की सांसद और उस समय बीजेपी की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ने गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया। विवाद बढ़ने पर पार्टी ने इनके बयान से किनारा कर लिया। पीएम मोदी ने कहा कि मैं उन्हें इस बयान के लिए कभी माफ नहीं करूंगा। लेकिन इस बयान को लेकर उनपर कोई कार्रवाई आज तक नहीं हुई।

news in mp bjp

 

अनिल सौमित्र पर तुरंत कार्रवाई हुई
लेकिन मध्यप्रदेश बीजेपी ने पार्टी के एक नेता अनिल सौमित्र पर ऐसे ही बयान को लेकर तुरंत कार्रवाई की। अनिल सौमित्र ने फेसबुक पर पोस्ट कर महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहे जाने पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी पाकिस्तान के राष्ट्रपिता हैं। पार्टी ने तुरंत इस पर एक्शन लिया और अनिल सौमित्र को निलंबित कर दिया।

 आकाश विजयवर्गीय

 

आकाश विजयवर्गीय ने अधिकारी पिटाई की
बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर में नगर निगम अधिकारी की बैट से पिटाई की। वीडियो सबने देखा। निगम अधिकारी की पिटाई के बाद आकाश को खुद की करतूत पर जरा भी अफसोस नहीं था और नहीं तो जब जेल गए तो पार्टी के कई नेता उनके आवभगत में लगे रहे। आकाश के बल्ले से निकले शॉट की चर्चा हर जगह थी। बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में पीएम मोदी ने यहां तक कह दिया कि बेटा किसी का भी उसे बाहर निकाला जाए।

इसे भी पढ़ें: रूस में 4 गोल्ड जीतने वाली भावना टोकेकर की खूबसूरत तस्वीरें, 47 की उम्र में प्रैक्टिस देख उड़ जाएंगे होश

 

लेकिन पीएम के कहे हुए अब एक महीना होने वाला है लेकिन कार्रवाई के नाम पर अब तक सिर्फ एक नोटिस जारी किया गया है। आकाश अब खामोश हैं। लेकिन पार्टी ने उनके ऊपर कोई कार्रवाई नहीं की। क्योंकि आकाश के ऊपर कैलाश विजयवर्गीय का साया है।

 

चैट वायरल होने पर तुरंत कार्रवाई
वहीं, पार्टी ने उज्जैन संभाग के महामंत्री प्रदीप जोशी का जब सेक्स चैट वायरल हुआ तो उनके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की। प्रदीप जोशी को बीजेपी ने निलंबित कर दिया। लेकिन आकाश का कृत भी कोई छोटा नहीं था जो उनके ऊपर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

इसे भी पढ़ें: मॉल में खरीदारी करने वाले लोगों के लिए है अच्छी खबर, सरकार ने दिए हैं ये निर्देश

Surendranath singh

 

सुरेंद्रनाथ सिंह को तुरंत नोटिस
गुमटी को लेकर भोपाल में प्रदर्शन करने वाले बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह ने प्रदर्शन किया। सुरेंद्रनाथ सिंह ने कहा कि अगर गुमटी हटी तो सड़कों पर खून बहेगा और वो खून अधिकारियों और सीएम कमलनाथ का होगा। अगले दिन उनकी गिरफ्तारी हुई और कोर्ट से जमानत भी मिल गई। इसके बाद बीजेपी ने भी उन्हें तुरंत नोटिस जारी कर दिया।

 

लेकिन बड़े नेताओं पर नोटिस जारी करने के लिए भी पार्टी को इंतजार करना पड़ा। सतना में बीजेपी के नगर पंचायत अध्यक्ष ने सीएमओ की पिटाई की। आरोप में राम सुशील पटेल जेल में है लेकिन बीजेपी ने कोई कार्रवाई नहीं की।

इसे भी पढ़ें: झाड़ू लगाने वाले पीएम की सांसद साध्वी प्रज्ञा बोलीं- 'नाली साफ कराने के लिए MP नहीं बनी हूं'

digvijay singh

 

दिग्विजय सिंह ने मोदी को लिखी चिट्ठी
पिछले दिनों मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखी। चिट्ठी लिख उन्होंने आकाश और साध्वी पर कार्रवाई के लिए याद दिलाया। साथ ही उन्होंने आकाश विजयवर्गीय की करतूत का वीडियो लिंक भी उस चिट्ठी में भेजा और कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने याद दिलाया कि आपके कहने के बावजूद भी इनलोगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned