शादी हॉल आसपास है, इसलिए पार्क को बना दिया पार्किंग

बाग दिलकुशा में निगम कार्यालय के पास की मनमानी, शिकायत पर कार्रवाई नहीं

By: Pushpam Kumar

Published: 09 Jan 2021, 01:59 PM IST

भोपाल. बाग दिलकुशा के पास वार्ड 41 में पार्क को पार्किंग बना दिया। पास के दो शादीहॉल में कार्यक्रमों के वाहन यहीं रखे जाते हैं। निगम का जोन कार्यालय यहां से महज 100 मीटर दूर है, पर आपत्ति नहीं ली। पार्क में बड़ा गेट भी लगा है, जिसे जरूरत पर खोलकर वाहन अंदर रखे जाते हैं। निगम प्रशासन को शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं की गई। पार्किंग से अधिक नुकसान रहवासियों, बच्चों को है। यहां पार्क में पाथवे व कुर्सियां लगाई हुई हैं। जब शादी समारोह नहीं होता है, तब रहवासी यहां घूमने आते हैं, लेकिन रोजाना ऐसा नहीं होता, क्योंकि यहां चार पहिया वाहन खड़े हो जाते हैं।
मैरिज गार्डन में नियमों के खुली अवहेलना
नगर निगम में मैरिज गार्डन संचालन के लिए उज्जैन नगर निगम की उपविधियां लागू हैं। इसके तहत नियम तय है और इसमें पार्किंग के साथ ही आवाजाही के अलग गेट, आगजनी से बचाने के उपाय, प्रोसेसन समेत अन्य तरह के नियम हैं। यहां पार्किंग नियमों का ही ध्यान नहीं रखा जा रहा।
... अब कोई नहीं देखने वाला
मैरिज गार्डन को नियोजित करने और तय नियमों के अनुसार संचालन कराने भवन अनुज्ञा शाखा ने नोटिस देना शुरू किए थे। करीब डेढ़ सौ मैरिज गार्डन को नोटिस देकर पंजीयन को कहा था। कुछ में निरीक्षण भी किया था, पर थोड़े ही दिनों में कवायद बंद हो गई।
खानूगांव में भी कार्रवाई पूरी नहीं
खानूगांव में ही बड़ा तालाब किनारे मैरिज गार्डन को लेकर परिषद तक ने संकल्प पारित कर बंद करने का तय किया था। जिला प्रशासन ने तो ताला डाल दिया था, पर ताला तोड़कर शादियां कराई जा रही है।

हम मामले को दिखवाते हैं। पार्क में पार्किंग नहीं होना चाहिए। मैरिज गार्डन भी नियमों से ही संचालित हों, इसे सुनिश्चित कराएंगे।
केवीएस चौधरी, निगमायुक्त

Pushpam Kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned