script एमपी आएंगे विश्व जागृति मिशन के सुधांशु महाराज, चार दिनों तक होगा सत्संग | Sudhanshu Maharaj Vishwa Jagruti Mission Satsang in Bhopal | Patrika News

एमपी आएंगे विश्व जागृति मिशन के सुधांशु महाराज, चार दिनों तक होगा सत्संग

locationभोपालPublished: Feb 05, 2024 07:24:00 pm

Submitted by:

deepak deewan

विख्यात धर्म प्रचारक और विश्व जागृति मिशन (वीजेएम) के संस्थापक आचार्य सुधांशु महाराज एमपी आ रहे हैं। यहां फरवरी के अंत में उनका विराट भक्ति सत्संग शुरु होगा। आचार्य सुधांशु का यह सत्संग राजधानी भोपाल में आयोजित किया जाएगा। इसके लिए तैयारियां भी शुरु कर दी गई हैं। सुधांश महाराज कई सालों बाद भोपाल आ रहे हैं।

sudhanshuji.png
विश्व जागृति मिशन (वीजेएम) के संस्थापक आचार्य सुधांशु महाराज
विख्यात धर्म प्रचारक और विश्व जागृति मिशन (वीजेएम) के संस्थापक आचार्य सुधांशु महाराज एमपी आ रहे हैं। यहां फरवरी के अंत में उनका विराट भक्ति सत्संग शुरु होगा। आचार्य सुधांशु का यह सत्संग राजधानी भोपाल में आयोजित किया जाएगा। इसके लिए तैयारियां भी शुरु कर दी गई हैं। सुधांश महाराज कई सालों बाद भोपाल आ रहे हैं।
आचार्य सुधांशु का राजधानी में आयोजित भक्ति सत्संग चार दिन का होगा।
इसके लिए विश्व जागृति मिशन भोपाल मंडल को अनुमति मिल गई है। विश्व जागृति मिशन भोपाल मंडल के एमपी उपाध्याय ने बताया कि आचार्य सुधांशु का यह सत्संग 29 फरवरी से प्रारंभ होगा और 3 मार्च तक आयोजित किया जाएगा।
यह भी पढ़ें: एचएसआरपी प्लेट पर बड़ी राहत, कार-बाइक वालों का नहीं कटेगा चालान

सुधांशु महाराज के इस सत्संग में हजारों लोग शामिल होंगे। यही कारण है कि सत्संग के लिए समुचित स्थान तलाशा जा रहा है। उपाध्याय के अनुसार सत्संग का स्थान शीघ्र ही तय करेंगे। पूरे तीन साल के अंतराल के बाद भोपाल में आचार्य सुधांशु के प्रवचन होंगे।
विश्व जागृति मिशन से 40 लाख से अधिक लोग जुड़े
2 मई 1955 को सहारनपुर जिले के हरिपुर में जन्मे आचार्य सुधांशु 22 साल की उम्र में भारत यात्रा पर निकल पड़े थे। वे देशभर के अधिकांश धर्मस्थलों पर गए। सन 1978 में उनकी शादी हुई। योगी सदानंद महाराज के मार्गदर्शन में आचार्य सुधांशु ने ध्यान का कठिन अभ्यास किया। स्वामी मुक्तानंद के प्रोत्साहन के बाद उन्होंने धार्मिक, सामाजिक संस्था विश्व जागृति मिशन की स्थापना की। 1991 को स्थापित विश्व जागृति मिशन अब एक विशाल संगठन बन चुका है जिससे 40 लाख से अधिक लोग जुड़े।
यह भी पढ़ें- कई जगहों पर हुई जोरदार बरसात, पश्चिमी विक्षोभ ने फिर बिगाड़ा मौसम

दुनिया भर में उनके 10 मिलियन से अधिक भक्त हैं। आचार्य सुधांशु के 2.5 मिलियन से अधिक शिष्य हैं। वे लोगों में भगवान के प्रति आस्था जगाते हैं, उनके मन में भक्ति का भाव उत्पन्न करते हैं। साथ ही भगवान के प्रति समर्पण का रास्ता भी दिखाते हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो