नाराज किसानों ने कलेक्ट्रेट का घेराव कर सरकार को दी ये बड़ी चेतावनी

नाराज किसानों ने कलेक्ट्रेट का घेराव कर सरकार को दी ये बड़ी चेतावनी

Nitin Sharma | Publish: Sep, 05 2018 06:57:20 PM (IST) Bijnor, Uttar Pradesh, India

मांग पूरी न होने पर कर देंगे ये काम

बिजनौर।उत्तर प्रदेश के पश्चिम में स्थित बिजनौर जिले में बुधवार को भारतीय किसान यूनियन अंबावता गुट की बिजनौर के गन्ना समिति कार्यलय में पंचायत संपन्न हुई।जिसके बाद किसानों ने अपनी 12 सूत्रीय मांगों को लेकर सड़क पर जोरदार प्रदर्शन किया और कलेक्ट्रेट पहुंच कर डीएम कार्यालय का घेराव कर अपनी 12 सूत्रीय मांगों के जल्द से जल्द निस्तारण की मांग की। साथ ही किसानों के नेता प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा की अगर जल्द ही किसानों की बात नहीं मानी गई,तो किसान सड़को पर उतरकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने को बाध्य हो जाएंगे।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें-नोएडा के सैक्टर 12 स्थित साई कृपा धाम बल कुटीर पर प्रदेश महिला आयोग की टीम निरीक्षण के पहुंची

किसानों सामने रखी अपनी समस्या की ये मांग

बिजनौर में लगातार किसान अपनी कई समस्याओं को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।किसान सड़कों पर उग्र प्रदर्शन व सरकारी दफ्तरों का घेराव कर अपनी मांगों के निस्तारण की मांग कर रहे हैं। इसी कड़ी में आज किसान यूनियन अम्बावता गुट ने सड़को पर उतरकर जोरदार प्रदर्शन किया और कलेक्ट्रेट पहुंचकर डीएम कार्यलय का घेराव किया। इस दौरान किसानाें ने जमकर हंगामा भी किया। साथ ही सरकार के सामने अपनी मांगे रखी।

यह भी पढ़ें-बड़ी खबरः एसएसपी ने सांसद के बेटे आैर इस दिग्गज विधायक से की ये मांग तो बोले- 'जल्द दूंगा नमूना'

इन मांगों काे न मानने पर दी चेतावनी

किसानों ने प्रदर्शन करने के साथ ही संपूर्ण कर्ज माफ, बिजली की बढ़ी दरें वापस लेने, 60 वर्ष से ऊपर के किसान को 5000 मासिक पेंशन देने, गन्ने का पेमेंट ब्याज सहित दिलाए जाने जैसी 12 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डीएम को सौंपा।किसानों की सभी मांगों को अगर जल्द से जल्द पूरा नहीं किया गया।तो किसान यूनियन अम्बावता सड़को पर उतरकर उग्र आंदोलन करेंगे।

यह भी पढ़ें-भाजपा के इस पैतरे से पश्चिम यूपी में खत्म हो जाएगा ये बड़ा मुद्दा, यह है वजह

Ad Block is Banned