Lockdown के चलते पुलिस ने नहीं दी परमीशन, दूल्हा-दूल्हन ने बॉर्डर पर ही किया निकाह

Highlights:

-जनपद के मंडावली क्षेत्र के उत्तराखंड बॉर्डर पर हाफिज ने निकाह पढ़वाया

-कुछ लोगों की देखरेख में निकाह की रस्म अदायगी हुई

-दूल्हा दुल्हन को अपने साथ घर लेकर टिहरी उत्तराखंड लौट गया

By: Rahul Chauhan

Updated: 21 May 2020, 06:14 PM IST

बिजनौर। लॉकडाउन को लेकर जहां लोग घरों में रहने को मजबूर हैं तो वहीं चौथे चरण के लॉकडाउन में प्रदेश सरकार द्वारा कुछ छूट दी गई है। ऐसे में उत्तराखंड से शादी के जोड़े में आए दूल्हा दुल्हन का बॉर्डर पर ही हाफिज ने निकाह पढ़ा दिया। वो भी महज़ इसलिए कि उत्तराखंड सरकार ने दूसरे राज्य में जाने की अनुमति दूल्हे को नहीं दी थी। सड़क किनारे बॉर्डर पर निकाह की रस्म पूरी करके दूल्हा अपने 4 साथियों के साथ दुल्हन को अपने घर उत्तराखंड ले गया।

यह भी पढ़ें : इन शर्तों साथ एजुकेशनल इंस्टीट्यूट खोलने की मिली अनुमति

दरअसल, उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल के रहने वाले मुहम्मद फैसल अपने 4 साथियों के साथ बिजनौर के नगीना की रहने वाली दुल्हन को लेने के लिए बारात लेकर निकला था। लेकिन बारात को यूपी-उत्तराखंड की सीमा पर रोक दिया गया। वो भी इसलिए कि अभी भी उत्तराखंड सरकार ने दूसरे स्टेट में जाने की इजाज़त नहीं दी है। बल्कि बॉर्डर पर तक ही जाने की इजाज़त अभी उत्तराखंड वासियों को दी गई है।

यह भी पढ़ें: स्कूल ने दी बड़ी राहत, छात्रों को किताबों पर मिलेगी 30 प्रतिशत की छूट

इसी के तहत जनपद के मंडावली क्षेत्र के उत्तराखंड बॉर्डर पर हाफिज ने दूल्हे का निकाह पढ़वाया। इस निकाह में दुल्हन भी बॉर्डर पर ही अपने घर वालो के साथ पहुँच गई। कुछ लोगों की देख रेख में निकाह की रस्म अदायगी के बाद दूल्हा अपने साथ दुल्हन को अपने घर ले टिहरी उत्तराखंड लेकर लौट गया। दूल्हे फैसल ने बताया कि लॉक डाउन में बॉर्डर पर उसे और उसके घर वालो को रोक दिया गया। जिसके कारण वो लड़की के यहाँ निकाह करने नहीं जा सका। बाद में लड़की पक्ष भी बॉर्डर पर ही आ गया और दोनों ने एक दूसरे के साथ निकाह किया और अब वो अपनी दुल्हन को लेकर उत्तखण्ड के टिहरी गढ़वाल अपने गांव लौट रहा है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned