भ्रष्ट लोगो पर कार्यवाही करने वाली एसीबी व न्यास अधिकारियों पर जालसाजी का मामला दर्ज

भ्रष्ट लोगो पर कार्यवाही करने वाली एसीबी व न्यास अधिकारियों पर जालसाजी का मामला दर्ज

dinesh swami | Publish: Sep, 05 2018 11:17:10 AM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

बीकानेर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के एक, नगर विकास न्यास के दो सेवानिवृत्त अधिकारियों व एक ठेकेदार के खिलाफ मंगलवार को सदर थाने में मामला दर्ज हुआ। चारों आरोपितों के खिलाफ मूल दस्तावेज गायब करने, कूटरचित दस्तावेज तैयार कर लाखों रुपए का नुकसान करने के आरोप लगे हैं।


बीकानेर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के एक, नगर विकास न्यास के दो सेवानिवृत्त अधिकारियों व एक ठेकेदार के खिलाफ मंगलवार को सदर थाने में मामला दर्ज हुआ। चारों आरोपितों के खिलाफ मूल दस्तावेज गायब करने, कूटरचित दस्तावेज तैयार कर लाखों रुपए का नुकसान करने के आरोप लगे हैं। मामला नगर विकास न्यास के तत्कालीन कनिष्ठ लेखाकार लालचंद सोनी की ओर से दर्ज करवाया गया है।

मंगलवार को सदर थाना पुलिस ने आरोपित अधिकारियों और फर्म के ठेकेदार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। सोनी ने चारों आरोपितों के खिलाफ अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या-२ में परिवाद पेश किया था। अतिरिक्त वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शालिनी शर्मा ने चारों आरोपितों के खिलाफ थाने में मामला दर्ज करने के आदेश दिए थे। सोनी ने आरोप लगाया कि एसीबी के अधिकारियों द्वारा ठेकेदार से साठगांठ कर नगर विकास न्यास से बिना कार्य किए फर्जी भुगतान करवाया। इसके बाद लाखों रुपए की बंदरबांट कर ली।

 

यह था मामला
परिवादी लालचंद सोनी ने रिपोर्ट में लिखा कि तत्कालीन एसीबी पुलिस अधीक्षक पर्बत सिंह, देव इन्फ्रा कम्पनी के प्रोपराइटर विनोद कुमावत, नगर विकास न्यास के सेवानिवृत्त अधिशासी अभियंता प्रेम वशिष्ठ तथा न्यास के ही सेवानिवृत्त सहायक अभियंता महावीर प्रसाद टाक ने मिलकर न्यास को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाया। साथ ही गड़बड़ी को छिपाने के लिए अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ मिलकर कूटरचित दस्तावेज तैयार किए। इससे पूर्व लालचंद सोनी के परिवाद पर जिला पुलिस अधीक्षक ने भी मामले की जांच कर आरोपितों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने की अनुशंसा की थी। जांच में सामने आया कि कार्य पूर्ण होने से पहले ही हाईमास्ट लाइटों को लेकर फर्जी एमबी एवं बिल तैयार कर फर्जी भुगतान उठाने का मामला सामने आया था।

 

 

तृतीय श्रेणी शिक्षक लेवल २ की काउंसलिंग ११ से
बीकानेर. तृतीय श्रेणी शिक्षक लेवल-२ की कट ऑफ लिस्ट जारी होने के बाद अब काउंसिलिंग ११ सितम्बर से होगी। जिला परिषदों की ओर से दस्तावेजों की जांच होगी। इस जांच के बाद २८ सितम्बर तक नियुक्ति दी जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned