वेतन नहीं मिलने पर ईसीबी के शिक्षक करेंगे परीक्षाओं का बहिष्कार

तीन माह से नहीं मिल रहा है वेतन

 

बीकानेर. ईसीबी में वित्तीय संसाधनों की अनुपलब्धता के कारण शिक्षकों को पिछले तीन माह से वेतन नहीं मिल रहा है। इसे लेकर बुधवार को राजस्थान अभियांत्रिकी महाविद्यालय शिक्षक संघ रेक्टा के सदस्यों की बैठक हुई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि ईसीबी के कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। इसी के तहत 9 दिसंबर को आरटीयू व बीटीयू की परीक्षाओं का बहिष्कार, 11 दिसंबर को सभी कार्यो का बहिष्कार, 12 दिसंबर को सामूहिक अवकाश व 16 दिसंबर को अतिरिक्त प्रशासनिक कार्यभार के पदों से इस्तीफा देंगे।

रेक्टा के अध्यक्ष डॉ. शौकत अली ने बताया कि महाविद्यालय की ओर से वेतन नहीं देने पर सभी संकाय सदस्य कार्य का बहिष्कार कर उग्र आन्दोलन करेंगे। सभी कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलने के कारण उनके परिवारजन पर आर्थिक संकट का सामना करना पड़ चुका है। इसके लिए पूर्व में महाविद्यालय प्रशासन व राज्य सरकार के तकनीकी शिक्षा विभाग को विभिन्न पत्रों एवं ज्ञापनों द्वारा कई बार सूचित किया जा चुका है उसके उपरांत भी इस बाबत आज तक कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं हुई है।

वेतन दिलाने तथा ईसीबी की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करने के लिए मुख्यमंत्री सहित राज्यपाल, तकनीकी शिक्षा मंत्री, उर्जा मंत्री, उच्च शिक्षा मंत्री, प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा, जिला कलक्टर, संभागीय आयुक्त, कुलपति, संयुक्त सचिव तकनीकी शिक्षा, प्राचार्य ईसीबी आदि प्रशासन को पत्र लिख मांग की गई। बैठक में डॉ. ओ.पी.जाखड, सुभाष सोनगरा, डॉ. इंदु भूरिया, राजेंद्र सिंह, सुरेन्द्र सिंह तंवर, डॉ. नवीन शर्मा, वीरेंदर चौधरी, डॉ. शिवांगी बिस्सा, डॉ. प्रीती नरुका, डॉ. प्रवीण पुरोहित, डॉ. विजय मोहन व्यास, डॉ.देवेन्द्र गहलोत आदि उपस्थित रहे।

Atul Acharya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned