scriptfarm laws repeal on hanuman beniwal | अच्छा रहता केन्द्र सरकार पहले ही काले कानून वापस ले लेती -बेनीवाल | Patrika News

अच्छा रहता केन्द्र सरकार पहले ही काले कानून वापस ले लेती -बेनीवाल

तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने पर नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने शुक्रवार को कहा कि अच्छा यह रहता केन्द्र सरकार पहले ही काले कानूनों को वापस ले लेती।

बीकानेर

Published: November 19, 2021 07:29:02 pm

बीकानेर। तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संस्थापक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने शुक्रवार को सर्किट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अच्छा यह रहता केन्द्र सरकार पहले ही काले कानूनों को वापस ले लेती। एक साल तक किसानों ने संघर्ष किया और आठ सौ से ज्यादा किसानों ने शहादत दी। संसद से लेकर सड़क तक रालोपा ने लड़ाई लड़ी। सभी के संघर्ष का परिणाम है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को झुकना पड़ा।
farm laws repeal on hanuman beniwal
hanuman beniwal in Bikaner
बेनीवाल ने कहा कि केन्द्र सरकार बिल तैयार करने से पहले किसानों से रायशुमारी करती और एनडीए के घटक दलों के साथ बात करती तो यह नौबत नहीं आती। उत्तर भारत में एक मात्र रालोपा ने संसद से लेकर सड़क तक पर उतर कर कृषि कानूनों का विरोध किया।
देश में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल श्रीगंगानगर जिले में
बेनीवाल ने केन्द्र की भाजपा सरकार के साथ प्रदेश की कांग्रेस सरकार भी हमला बोलते हुए कहा कि देश में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में है। कोरोना पूरी तरह से खात्मा हो जाए। कोई जल्दबाजी नहीं है। जोधपुर से बड़े आंदोलन की शुरुआत करेंगे। किसानों की सम्पूर्ण कर्ज माफी, टोल मुक्त राजस्थान और सम्पूर्ण व्यवस्था परिवर्तन के मुद्दे रहेंगे।
बीकानेर सांसद पर कटाक्ष
उन्होंने बीकानेर सांसद पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यहां के सांसद कृषि कानूनों को अच्छा बताते थे, अब क्या कहेंगे। बेनीवाल ने साथ ही एनडीए के प्रति नरमी दिखाते हुए कहा कि केन्द्र सरकार कोई अच्छे बिल लाएगी तो साथ देंगे। बिल किसान और जवान के हित में होने चाहिए। हालांकि उन्होंने एनडीए में जाने की मंशा से इनकार किया।
भावना ठीक नहीं थी भाजपा की
बेनीवाल ने कहा कि मेवाड़ और कोटा भाजपा के गढ़ रहे है। उप चुनाव में जमानते जब्त हुई। उत्तरप्रदेश, पंजाब के चुनाव के चलते और किसानों के डटे रहने से केन्द्र सरकार को बिल वापस लेने पर मजबूर होना पड़ा। कुल मिलाकर सरकार की भावना ठीक नहीं थी। बेनीवाल ने किसान के नाम पर राजनीति करने वालों पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नहा-धोकर, सफेद कुर्ता पायजामा पहनकर किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले भी ठीक नहीं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.