रणवीर शौरी ने नेपोटिज्म को लेकर कहा- बॉलीवुड में कुछ परिवारों की ठेकेदारी, सेलेब्स इन्हें खुश करने में लगे रहते हैं

By: Sunita Adhikari
| Published: 19 Sep 2020, 12:46 PM IST
रणवीर शौरी ने नेपोटिज्म को लेकर कहा- बॉलीवुड में कुछ परिवारों की ठेकेदारी, सेलेब्स इन्हें खुश करने में लगे रहते हैं
Ranvir Shorey On Nepotism

  • एक्टर रणवीर शौरी ने नेपोटिज्म पर अपनी बात रखी है। एक्टर ने कहा कि बॉलीवुड में कुछ परिवारों का दबदबा है, जिसे साफ तौर से देखा जा सकता है।

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही नेपोटिज्म का मुद्दा गरमाया हुआ है। एक्ट्रेस कंगना रनौत के अलावा कई एक्टर्स ने खुलकर नेपोटिज्म पर अपनी बात रखी है और बताया कि कैसे उन्हें भी इसका सामना करना पड़ा था या अभी इसका शिकार हो रहे हैं। अब एक्टर रणवीर शौरी ने नेपोटिज्म पर अपनी बात रखी है। एक्टर ने कहा कि बॉलीवुड में कुछ परिवारों का दबदबा है, जिसे साफ तौर से देखा जा सकता है।

हाल ही में रणवीर शौरी ने आजतक से बात करते हुए कहा कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म है। यहां कुछ परिवारों का दबदबा साफ महसूस किया जा सकता है। रणवीर ने कहा, मैं मानता हूं कि बॉलीवुड में कुछ परिवारों की ठेकेदारी है। ऐसे कई स्टार्स हैं, जो इन लोगों को खुश करने की कोशिश में लगे रहते हैं। मैंने भी शुरुआत में ऐसा करने की कोशिश की लेकिन बाद मैंने ये सब छोड़ दिया। मुझे उन्हें किसी भी तरह से खुश करने की जरूरत नहीं है।

रणवीर शौरी ने आगे कहा कि स्टार किड्स को थाली में सजाकर दिया जाता है। आउटसाइजर्स को काफी मेहनत करनी पड़ती है और सबकुछ नेपोटिज्म के चलते होता है। इसके कारण उन्हें काफी दुख और दर्द हुआ है। रणवीर शौरी ने आगे बताया कि कई बार उन्हें भी कई तरह की बातें कही गई हैं, जिसके कारण वह टूट गए थे। इसके साथ ही रणवीर शौरी ने कंगना रनौत के बारे में बात करते हुए कहा कि उनके द्वारा कही गई हर बात सही नहीं है। कई मौकों पर वह जरूरत से ज्यादा बोलती हैं और इस अंदाज में बोला है कि उन्हें काफी लाइमलाइट मिली है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि कंगना ने जो कहा था कि पूरी इंडस्ट्री ड्रग्स लेती है, मैं उस बयान का खंडन करता हूं। क्योंकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।

आपको बता दें कि इससे पहले भी रणवीर शौरी नेपोटिज्म को लेकर अपनी बात कह चुके हैं। जया बच्चन के थाली वाले बयान के बाद रणवीर ने ट्वीट कर कहा था, "थालियां सजाते हैं यह अपने बच्चों के लिए। हम जैसों को फेंके जाते हैं सिर्फ़ टुकड़े।अपना टिफिन खुद पैक करके काम पे जाते हैं हम। किसी ने कुछ दिया नहीं है। जो है, वो है जो यह लोग हमसे ले नहीं सके। इनका बस चलता तो वो भी अपने ही बच्चों को दे देते।" उनके इस ट्वीट ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं।

Jaya Bachchan
Show More