भोजपुरी एक्ट्रेस Anupama Pathak की आत्महत्या का खुला राज, सुसाइड नोट से हुआ असल आरोपियों के नाम का खुलासा

By: Shweta Dhobhal
| Published: 07 Aug 2020, 11:29 AM IST
भोजपुरी एक्ट्रेस Anupama Pathak की आत्महत्या का खुला राज, सुसाइड नोट से हुआ असल आरोपियों के नाम का खुलासा
Bhojpuri Actress Anupama Pathak Suicide Truth Came Out

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने फांसी लगाकर ( Anupama Pathak committed suicide by hanging herself ) आत्महत्या कर ली। उनके घर से पुलिस को सुसाइड नोट ( Police has also found suicide note ) भी बरामद हुआ है। जिसमें उन्होंने कई लोगों द्वारा उन्हें परेशान करने की बात कही है। अनुपमा कैंसर बीमारी ( Anupama was suffering from cancer ) से ग्रस्त थीं और वह आर्थिक तंगी से भी गुज़र ( She was also going through financial crisis) रही थीं।

नई दिल्ली। मनोरंजन जगत से लगातार एक के बाद एक कई दुखद समाचार आते जा रहे हैं। बीते दिन फिल्म इंडस्ट्री से एक नहीं बल्कि दो कलाकरों ने दुनिया अलविदा कह दिया। जहां एक ओर हिंदी टीवी इंडस्ट्री के अभिनेता समीर शर्मा ( Sameer Sharma ) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वहीं दूसरी ओर भोजपुरी इंडस्ट्री ( Bhojpuri Actress ) की मशहूर अभिनेत्री एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ( Anupama Pathak ) ने मुंबई स्थित अपने किराए के मकान पर फांसी लगा ( Anupama Pathak Committed Suicide ) कर आत्महत्या कर ली। खबरों की माने तो अनुपमा कैंसर बीमारी ( Anupama was suffering from cancer disease ) से पीड़ित थी। इन दिनों वह आर्थिक तंगी से भी गुज़र ( Anupama was also going through financial crisis ) रही थी। जिसकी वजह से वह काफी परेशान थी।

 

अभिनेत्री अनुपमा पाठक के घर से सुसाइड नोट ( A suicide note has also been recovered from Anupama Pathak's house. ) भी बरामद हुआ है। जिसमें उन्होंने बताया है कि आखिर उन्होंने सुसाइड क्यों है? इस लेटर में अनुपमा लिखती हैं कि "मनीष झा ( Manish Jha ) नाम के एक व्यक्ति ने इसी साल मई के महीने में उनसे दो पहिया वाली गाड़ी ली थी, लेकिन जब वह अपने मूल निवास से वापस लौटे और उन्होंने मनीष से अपनी दो पाहिया वाले वाहन वापस मांगे तो शख्स ने अनुपमा को वाहन देने से माना कर दिया। अनुपमा नोट में आगे लिखती हैं कि उनका एक दोस्त है। जिसके कहने पर उन्होंने विस्डम प्रोडक्शन कंपनी ( Wisdom Production Company ) में 10 हज़ार रूपये निवेश किए थे। कंपनी ने उनसे वादा किया साल 2019 के दिसंबर महीने में वह उनका पैसा ब्याज़ समेत वापस कर देगी,लेकिन कंपनी ने भी अनुपमा को पैसे देने से इंनकार किया दिया। घर से मिले सुसाइड केस को पढ़ने के बाद साफ पता चलता है कि अनुपमा पाठक कई समस्यों से घिरी हुई थीं।

अनुपमा पाठक सुसाइड की जांच काशीमीरा पुलिस ( Kashimiri Police Investigate Anupama Pathak Case ) कर रही है। पुलिस का कहना है कि 'वह इस में जांच पड़ताल शुरू कर चुके हैं। अनुपमा के दोषयों के खिलाफ कार्रवाही ( Action will be taken against the culprits of Anupama) की जाएगी। सुसाइड नोट पर जो बातें-बातें लिखी गई है। उन सभी तथ्यों की जांच कर सबूतों को जुटाने में लगी है। पुलिस ने यह भी बताया कि 2 अगस्त को ही अनुपमा ने फांसी लगाकर ( On August 2, Anupama committed suicide by hanging herself) खुदखुशी कर ली थी, लेकिन उनकी मृत्यु की खबर दो दिन बाद सबके सामने आई थी। बता दें सोशल मीडिया पर अनुपमा पाठक ने सोशल मीडिया ( Anupama Raise Voice for Sushant Singh Rajput Suicide case ) पर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस का मुद्दा भी उठाया था।