मलेशिया के पूर्व पीएम महातिर ने फ्रांस हमले को ठहराया जायज, Kangana Ranaut ने किया पलटवार

By: पवन राणा
| Published: 30 Oct 2020, 04:11 PM IST
मलेशिया के पूर्व पीएम महातिर ने फ्रांस हमले को ठहराया जायज, Kangana Ranaut ने किया पलटवार
मलेशिया के पूर्व पीएम महातिर ने फ्रांस हमले को ठहराया जायज, Kangana Ranaut ने किया पलटवार

अभिनेत्री कंगना रनौत ( Kangana Ranaut ) ने मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ( Mahathir Mohamad ) के उन बयानों की आलोचना की है, जिसमें उन्होंने फ्रांस आतंकी हमले ( France Terror Attack )को जायज ठहराया था। कंगना ने उनके बयानों को मूर्खतापूर्ण बताया है।

मुंबई। फ्रांस के नीस में हुए आतंकी हमले ( France Terror Attack ) को मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ( Mahathir Mohamad ) ने जायज ठहराया है। साथ ही उन्होंने अपने विवादित ट्वीट में कहा था कि इतिहास में हुए नरसंहारों के लिए मुस्लिमों को गुस्सा होने और फ्रांस के लोगों की हत्या करने का हक है। हालांकि इस पर विवाद होने के बाद उन्होंने ट्वीट डिलीट कर दिए। इस पर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ( Kangana Ranaut ) ने पलटवार करते हुए महातिर को खून का प्यासा बताया है।

यह भी पढ़ें : जब दिलीप ताहिल की शर्त पर एक्ट्रेस ने वीडियो शूट कर बताया रेप सीन का एक्सपीरियंस

इतनी मूर्खतापूर्ण बात- कंगना

कंगना ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर एक ट्वीट में लिखा,'यह आदमी खून का प्यासा लगता है, क्या मूर्खतापूर्ण लॉजिक है? फिर तो इस लॉजिक के आधार पर हिन्दुओं को भी क्रिश्चिन और मुस्लिमों को अतीत के हिसाब से मारने का अधिकार है? एक देश के राष्ट्रपति होते हुए इस मूर्खतापूर्ण ढंग से बोलते हैं...हैरानी है!!!'

'टाइप में गलती हो गई'

कंगना ने अपने ट्ववीट में महातिर को मलेशिया का राष्ट्रपति लिख दिया था। इस गलती को देखने को बाद तुरंत गलती ठीक करने के लिहाज से दूसरा ट्वीट कर सही किया। इसमें उन्होंने लिखा,'राष्ट्रपति नहीं हैं लेकिन प्रधानमंत्री... टाइपो एरर के लिए माफ करें लेकिन बात को सही ठहराने की बजाय उनको प्रधान राक्षस कहा जाना चाहिए।' हालांकि इस बार भी वह भूल गईं कि महातिर पूर्व प्रधानमंत्री हैं।

यह भी पढ़ें : सीता के रोल से पॉपुलर हुई दीपिका चिखलिया संसद पर हमला करने वाले की पत्नी के रोल में

हमलों पर प्रतिक्रिया
फ्रांस में हुए आतंकी हमले को लेकर विश्वभर से प्रतिक्रिया आई है। कई देशों ने कट्टरवाद की इस बर्बर घटना पर निंदा की है। हालांकि कई मुस्लिम देशों ने फ्रांस का विरोध किया है। फ्रांस के उत्पादों के बहिष्कार की बात भी कही गई है।

ये है मामला
गौरतलब है कि फ्रांस के नीस शहर में गुरुवार को आतंकी हमला किया गया जिसमें 3 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। तीनों लोगों की बर्बरता से हत्या की गई। एक महिला का सिर कलम कर दिया गया। इससे कुछ दिन पहले पेरिस में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून क्लास में दिखाने के चलते एक टीचर की गला रेत कर हत्या की गई थी।