B'day Special: बकार्डी शॉट सर्वर बनना चाहती थीं एक्ट्रेस Freida Pinto, पहली ही फिल्म को मिले 8 ऑस्कर

By: Shweta Dhobhal
| Published: 18 Oct 2020, 04:29 PM IST
B'day Special: बकार्डी शॉट सर्वर बनना चाहती थीं एक्ट्रेस Freida Pinto, पहली ही फिल्म को मिले 8 ऑस्कर
Slumdog Millionaire Fame Actress Freida Pinto Life Unknown Facts

  • एक्ट्रेस Freida Pinto मना रही हैं आज अपना 36वां जन्मदिन
  • एक्ट्रेस बनना चाहती थीं बकार्डी शॉट सर्वर
  • पहली ही फिल्म Slumdog Millionaire को मिले 8 ऑस्कर

नई दिल्ली। कहते हैं ना जिसके नसीब में जो लिखा है उसे वह जरूर मिलता है। अक्सर ऐसा होता है ना कि जब भी हम किसी बड़ी हस्ती की जिंदगी की कहानी के बारें में पढ़ते या फिर सुनते हैं तो हमें उनकी जिंदगी की कहानी किसी फिल्म से कम नहीं लगती है और सोचने लगते हैं कि काश! ऐसा ही कोई चमत्कार हमारे साथ भी हो जाए। आज स्लम डॉग मिलेनियर की एक्ट्रेस फ्रीडा पिंटो का 36वां जन्मदिन है। इस खास मौके पर आज हम आपको इस अभिनेत्री की जिंदगी से जुड़ें कुछ ऐसे किस्से सुनाएंगे। जिन्हें सुन आपको भी उनकी किस्मत पर यकीन नहीं होगा।

View this post on Instagram

Only smiles and sunshine for me today please!

A post shared by Freida Pinto (@freidapinto) on

फ्रीडा का जन्म 18 अक्टूबर 1984 में मुंबई के मैंग्लोर में हुआ था। वह एक कैथैलिक परिवार से संबंध रखती है। फ्रीडा बड़ी ही साधारण सी लड़की थी। उन्होंने ज्यादा चमक दमक की दुनिया पसंद नहीं थी। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया था कि वह बकार्डी शॉट सर्वर बनना चाहती थीं। वह चाहती थीं कि वह लोगों को ड्रिंक सर्व किया करें। लेकिन उनकी मां चाहती थीं कि वह एक मॉडल बने। जिसके बाद एक्ट्रेस ने मॉडलिंग करनी शुरू कर दी। जिसके बाद उनका सफर शुरू हो गया। मॉडलिंग के साथ-साथ उन्होंने इंटरनेशनल शो में शो में एंकरिंग करनी शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें- 'स्लमडॉग मिलेनियर' की इस मशहूर एक्ट्रेस ने कर ली सगाई, रोमांटिक तस्वीरों के साथ लिखी दिल की बात

freida pinto slumdog millionaire

फ्रीडा की मां उन्हें काफी गाइड करती थीं। जिसके चलते धीरे-धीरे वह मॉडलिंग से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखने लगी। उन्होंने अमेरिका के एक कार्टून किरदार ला-ला का भी रोल प्ले किया है। 2008 में फ्रीडा की किस्मत पूरी तरह से बदल गई। यही वह साल था जब फ्रीडा को स्लमडॉग मिलेनियर करने का ऑफर दिया गया था। उनकी यह पहली ही फिल्म थी और इस फिल्म को 2009 की सर्वोत्तम फिल्म के पुरस्कार से नवाज़ा गया था। उनकी इस फिल्म को एक नहीं बल्कि आठ ऑस्कर पुरस्कार मिले थे। उनकी इस सफलता के साथ ही उनका करियर सातवें आसमान पर जा पहुंचा।

 

बस उनकी पहली फिल्म के साथ उनकी किस्मत खुल गई और उन्होंने स्लमडॉग मिलेनियर के बाद कई और बड़ी फिल्में की जिसके साथ वह आज इंटरनेशनल स्टार के रूप में जानी जाती हैं। उन्होंने राइज ऑफ दि प्लैनेट ऑफ एप्स, तृष्णा, डे ऑफ दि फाल्कन जैसी कई सुपरहिट फिल्में की हैं।