कैंसर से जूझ रही सोनाली ने बेटे के लिए लिखी इमोशनल पोस्ट, आपकी आंखें भी भर आएंगी

By: Mahendra Yadav
| Published: 19 Jul 2018, 05:04 PM IST
कैंसर से जूझ रही सोनाली ने बेटे के लिए लिखी इमोशनल पोस्ट, आपकी आंखें भी भर आएंगी
Sonali bendre

सोनाली ने अपनी ताजा सोशल पोस्ट में बेटे रणवीर के लिए दिल छू जाने वाली बातें लिखी हैं।

बॉलीवुड की खूबसूरत अभिनेत्रियों में से एक सोनाली बेंद्रे कैंसर से जूझ रहे हैं। कैंसर के इलाज के दौरान भी वह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। बता दें कि सोनाली ने ही सोशल मीडिया के जरिए जानकारी दी थी कि उन्हें हाईग्रेड कैंसर हो गया है। पिछले दिनों उन्होंने अपनी एक तस्वीर पोस्ट की थी। जिसमें उनके बाल कटे हुए नजर आ रहे थे। दरअसल सोनाली को कैंसर के इलाज केे लिए अपने बाल कटवाले पड़े थे।

बेटे के लिए सोशल मीडिया पर लिखी भावुक बात:
सोनाली ने अपनी ताजा सोशल पोस्ट में बेटे रणवीर के लिए दिल छू जाने वाली बातें लिखी हैं। इतना ही नहीं उन्होंने बेटे के साथ एक तस्वीर भी पोस्ट की है। तस्वीर के साथ सोनाली ने बताया कि कैसे उनका 12 साल का बेटा रणवीर इस लड़ाई में उनकी ताकत बन चुका है।

 

कैंसर से जूझ रही सोनाली ने बेटे के लिए लिखी इमोशनल पोस्ट, आपकी आंखें भी भर आएंगी

बेटे को कैसे बताएं बीमारी के बारे में:
सोनाली ने अपनी पोस्ट में बेटे के बारे में लिखा,'आज से ठीक 12 साल, 11 महीने और और 8 दिन पहले जब रणवीर पैदा हुआ, वह मेरे दिल पर राज करने लगा। इसके बाद से मैंने और गोल्डी ने जो कुछ भी किया उसके सेंटर में बस बेटे की खुशी और उसका ही सुख होता था। ...और जब मुझे मेरी इतनी बड़ी बीमारी कैंसर के बारे में पता चला तो हमारे लिए सबसे बड़ी दुविधा यह थी कि हम उससे इस बारे में क्या और कैसे कहें।'

 

सच्चाई बताना जरूरी था:
सोनाली ने आगे अपनी पोस्ट में लिखा,'हम उसे प्रॉटेक्ट भी करना चाहते थे और हमें यह भी पता था कि कि उसे सारी सच्चाई बताना बेहद जरूरी भी था। हम हमेशा उसके साथ ओपन और ईमानदार रहे हैं और यह समय भी कुछ अलग नहीं था। उसने इस खबर को बड़े ही मच्योर ढंग से सुना और समझा...और मेरे लिए वह अचानक ही मेरी ताकत और पॉज़िटिविटी का सोर्स बन गया। कुछ परिस्थितियों में अब वह बेटे की जगह एक पैरंट्स की तरह बिहेव करता है, वह मुझे उन चीजों की याद दिलाया करता है जो मुझे करना जरूरी है।'मैं फिलहाल रणवीर के साथ वक्त बिता रही हूं, उसका समय वकेशन चल रहा है। उसका पागलपन और उसकी शरारतें मुझे इस बीमारी से उबरने में मेरी मदद कर रहा। ...और आज हमें एक-दूसरे से ताकत मिल रही।'