Sonu Sood लगातार कर रहे हैं प्रवासी मजदूरों की मदद, Maharashtra का सीएम बनाने की उठी मांग

By: Sunita Adhikari
| Published: 23 May 2020, 05:17 PM IST
Sonu Sood लगातार कर रहे हैं प्रवासी मजदूरों की मदद, Maharashtra का सीएम बनाने की उठी मांग
Sonu Sood Helping Migrants

  • Sonu Sood प्रवासी मजदूरों की लगातार मदद कर रहे हैं। सोशल मीडिया (Social Media) पर उन्हें महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री बनाने की भी मांग उठ पड़ी है।

नई दिल्ली: देश में लोग कोरोना वायरस (Coronavirus) की मार झेल रहे हैं तो वहीं प्रवासी मजदूर (Migrant Workers) भूख की मार सह रहे हैं। अपने घर जाने को बेताब हैं प्रवासी मजदूर। यही वजह है कि हजारों की संख्या में ये पैदल ही घर की ओर निकल पड़े हैं। लेकिन इनके लिए अगर कोई हीरो के रूप में सामने आकर खड़ा हुआ है तो वह हैं फिल्मों में विलेन का रोल करने वाले एक्टर सोनू सूद। सोनू सूद (Sonu Sood) दिन रात एक करके इन प्रवासी मजदूरों की मदद कर रहे हैं। इन्हें घर पहुंचाने का पूरा इंतजाम करवा रहे हैं वो भी खाने के साथ। इन दिनों सोनू सूद ट्विटर (Sonu Sood Tweet) पर काफी एक्टिव हैं। इसलिए नहीं कि ट्वीट कर मजदूरों की स्थिति पर दुख जता सकें। बल्कि मजदूरों व प्रवासियों की फरियाद सुन वह उनकी मदद कर रहे हैं। कोई भी सोनू सूद को मदद की गुहार लगाता है तो एक्टर तुरंत ही उसे जवाब देते हैं कि अब परेशानी खत्म हुई, तुम जल्द ही अपने घर पहुंचोगे।

सोनू सूद के इस कदम की हर कोई तारीफ कर रहा है। ट्विटर पर #SonuSood ट्रेंड कर रहा है। वहीं लोग उन्हें लॉकडाउन के वक्त असली हीरो बता रहे हैं। कुछ वक्त पहले सोनू सूद ने कहा था कि उनसे मजदूरों का दुख देखा नहीं जा रहा है और इसलिए वह इनकी मदद के लिए हर संभव कोशिश करेंगे।

एक्टर ने कहा था कि 'यह मेरे लिए बेहद भावुक सफर रहा है। सड़कों पर पैदल चलकर घर जाते मजदूरों को देखकर मुझे काफी दुख होता है। मैं तब तक उन्हें घर पहुंचाने में मदद करता रहूंगा, जब तक आखिरी मजदूर अपने परिवार ने न मिल जाए।' एक्टर ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), कर्नाटक, बिहार (Bihar) और झारखंड (Jharkhand) जैसे राज्यों के मजूदरों को उनके घर पहुंचाने मदद की है। यही वजह है कि लोग उनको मजदूरों के लिए वैक्सीन बता रहे हैं। उन्हें भगवान तक बताया जा रहा है। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया पर उन्हें महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री बनाने की भी मांग उठ पड़ी है।

आपको बता दें कि प्रवासी मजदूरों की मदद के अलावा सोनू सूद ने डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए अपना मुंबई (Mumbai) स्थित होटल रहने के लिए दिया था। 1,500 पीपीई किट भी उन्होंने दान की थी। इसके अलावा रमजान के महीने में सोनू सूद भिवंडी इलाके में हजारों गरीबों और प्रवासी मजदूरों को खाना भी खिला रहे हैं। इसलिए लोग सोनू सूद को देश का असली हीरो बता रहे हैं।

Show More