पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए एक शख्स ने लगाई Sonu Sood से मदद की गुहार, एक्टर ने दिया ये जवाब

By: Pratibha Tripathi
| Updated: 11 Jun 2020, 01:01 PM IST
पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए एक शख्स ने लगाई Sonu Sood  से मदद की गुहार, एक्टर ने दिया ये जवाब
Sonu Sood Replies to Migrant Workers on Twitter

  • प्रवासियों को उनके घर भेजने का इंतज़ाम कर रहे हैं सोनू सूद(Sonu Sood)
  • पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए सोनू सूद( Sonu Sood help) से मांगी मदद

नई दिल्ली। कोरोना वायरस(Coronavirus) का कहर अब पूरे देश तेज से बढ़ता जा रहा है, और इस महामारी ने अब तक हजारों लोगों को अपने गिरफ्त मेंले लिया है। इसी के बीच लोगों की परेशानियों को देखते हुए लॉकडाउन में कुछ ढीलाई बरती गई है। भले ही लॉकडाउन पूरे देश में अनलॉक कर दिया गया हो, लेकिन सोनू सूद (Sonu Sood Helpl)के भलाई का कांरवा अभी तक रूका नही है वो रोजाना प्रवासियों की मदद करते देखे जा रहे है।
यह भी पढ़ें:-Why Cheat India की स्क्रीनिंग पहुंचे ये बॉलीवुड सितारे - Emraan Hashmi - Patrika Bollywood

सोनू सूद (Sonu Sood on helping migrant workers) ने अब तक ना जाने कितने हजारों प्रवासियों को उनके घरों तक पहुंचाकर नेक काम किया है। उन्होनें इसके लिए ना केवल बसो का इंतजाम किया बल्कि दूसरे राज्यों में फंसे हुए लोगों को बसों ट्रेन के अलावा हवाई जहाज़ों के ज़रिए उन्हें उनके राज्यों तक पहुंचाया हैं। और ये सभी सुविधाएं उनके द्वारा फ्री में दी गई हैं।

सोनू के ट्विटर पर हर रोज़ सैकड़ों लोग घर पहुंचाने की गुहार लगाते हैं। इसी के बीच एक ऐसी ही गुहार लगाने वाली आवाज ने उन्हें गहरा आघात पंहुचाया है। जिससे वो काफी हिल गए है।
यह भी पढ़ें:-मौनी राय डीप नेक ड्रेस में दिखी बेहद ही बोल्ड - Star Screen Awards 2018 - Patrika Bollywood

दरअसल, एक यूज़र ने सोनू Sonu Sood Migrant Workers on Twitter) को ट्वीट करके बताया कि मेरे पड़ोसी सीताराम की पत्नी का वाराणसी में निधन हो गया है। और पत्नि के अंतिम संस्कार के लिए हम लोग उनके साथ बनारस जाना चाहते है। कृपया उनकी मदद कीजिए। आखिरी में यूजर्स ने यह भी लिखा कि हमें उनके आखिरी दर्शन के लिए आप ही मदद कर सकते है। आपके अलावा हमारे सामने कोई विकल्प नहीं है। इसके( Sonu Sood Replies to Migrant Workers on Twitter)जवाब में सोनू ने लिखा- आपकी क्षति के बारे में सुनकर दुख हुआ। उनको कल भेज दूंगा। वो जल्द अपने घर पहुंच जाएंगे। भगवान उन पर कृपा करे।

सोनू सूद के सामने आब तक ना जाने ऐसे कितने लोगों ने गुहार लगाई जो कभी अपने पिता से घर वालों से दूर रहने के कारण अतिंम समय में नही पंहुच सके है। मजदूरों के लिए सोनू सूद मसीहा बनकर आए है। और निस्वार्थ सेवा करके वो लोगों की मदद कर रहे है।

यह भी पढ़ें:-सलमान खान दोषी क़रार बाकी सभी फिल्मी सितारे बरी,सलमान को जेल मिलेगी या बेल!

बता दे कि सोनू सूद की यह सेवा लगातार मई महीने से शुरू हुई थी। जब प्रवासी मजदूर भूख प्यास से तड़फते हुए पैदल ही अपने घर जाने को मजबूर हो चुके थे। इसकी शुरुआत उन्होंने मुंबई से कनार्टक वाले कुछ प्रवासियों को भेजकर की। इसके बाद देश के सभी हिस्सों में वो अटके और भटके प्रवासियों को उनके घर भेजने का इंतज़ाम रहे हैं। इनमें यूपी, बिहार और उत्तराखंड के लोग शामिल हैं।

Corona virus coronavirus
Show More