वहीदा रहमान को नंगे पैर चलता देख जूती लेकर उनकी ओर दौड़ पड़े थे अमिताभ बच्चन

By: Pratibha Tripathi
| Updated: 20 Feb 2020, 05:27 PM IST
वहीदा रहमान को नंगे पैर चलता देख जूती लेकर उनकी ओर दौड़ पड़े थे अमिताभ बच्चन

  • वहीदा रहमान(Waheeda Rehman) के साथ अमिताभ बच्चन(Amitabh Bachchan )की पहली फिल्म थी 1971 में आई फिल्म ‘रेशमा और शेरा’
  • अमिताभ और वहीदा रहमान ने आखिरी बार राकेश ओमप्रकाश मेहरा की ‘दिल्ली 6’ में साथ काम किया था

नई दिल्ली। बॉलीवुड की चौहदवी का चांद कहलाई जाने वाली खूबसूरत अदाकारा वहीदा रहमान(Waheeda Rehman) आज अपना 82 वां बर्थडे सेलिब्रेट करने जा रही हैं। जहां एक ओर बॉलिवुड में वहिदा रहमान (Waheeda Rehman) की अदाकारी को देख लोग लोहा मान जाते थे तो दूसरी ओर इनकी खूबसूरती के कई एक्टर ऐसे दिवाने थे कि उनके साथ काम करने के लिये लाइन में खड़े मिलते थे। इन्ही में से एक थे अमिताभ बच्चन(Amitabh Bachchan )। जीं हा अमिताभ बच्चन भी एक समय वहीदा रहमान(Waheeda Rehman) के काफी दिवाने थे। एक इंटरव्यू के दौरान अमिताभ बच्चन(Amitabh Bachchan ) ने इस बात का खुलासा किया था जब उनसे एक सवाल पूछा गया कि फिल्म इंडस्ट्री में आपका सबसे फेवरेट कौन है। तब उन्होनें वही नाम लिया, जो अब तक लेते आए थे। दिलीप कुमार और वहीदा रहमान। वहीदा के प्रति अपनी दीवानगी का इज़हार करते हुए उन्होंने बताया कि कैसे वो एक फिल्म की शूटिंग के दौरान वहीदा रहमान की जूती लेकर बेतहाशा उनकी ओर भागे थे।

waheeda.jpg

अमिताभ ने इस बात का खुलासा करते हुए बताया कि वे वहिदा के साथ फिल्म में काम करने के लिए वे तरसते थे और उन्हें इस बात का सुनहरा अवसर 1971 में आई फिल्म ‘रेशमा और शेरा’ में मिला। वहीदा रहमान के साथ उऩकी यह पहली थी। इस फिल्म में सुनील दत्त और वहीदा रहमान के बीच रोमैंटिक एंगल था। जिसमें अमिताभ ने एक गूंगे लड़के का रोल किया था। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ऐसा सीन आया जब वहीदा रहमान और सुनील दत्त को नंगे पांव तपती रेत पर चलना था। और भारी गर्मी के कारण उस जगह का तापमान इतना ज्यादा था कि रेत पर पैर रखना भी मुश्किल हो रहा था।

waheeda-rehman.jpg

यहां तक पैर में जूते पहनने के बावजूद पांव में तकलीफ हो रही थी, फिर नंगे पांव पर शूट करना बेहद तकलीफमय था। इतनी दिक्कत वाली सिचुएशन में हर कोई परेशान था कि वहीदा रहमान नंगे पांव कैसे शूट करेंगी। जैसे तैसे वहिदा ने शूट खत्म किया और डायरेक्टर ने ब्रेक लेने को कहा। जैसे ही अमिताभ ने ब्रेक लेने की बात सुनी वो फौरन वहीदा की जूती उठाकर उनकी ओर दौड़ने लग गए। उस दिन का नजारा ही ऐसा था कि उस पल को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता कि वो पल उनके लिए कितना स्पेशल था