बदायूं में मलेरिया से हो रही मौतें

बदायूं में मलेरिया से हो रही मौतें

Amit Sharma | Publish: Sep, 09 2018 06:18:35 PM (IST) Budaun, Uttar Pradesh, India

अब तक 102 मरीजों की मौत, स्वास्थ्य विभाग फेल।

बदायूं। जिले में मलेरिया का कहर है। मलेरिया फैल्सीपेरम से जिले में 70 % मरीजों की मौत हुई है। इन मौतों का कारण जांच के बाद सामने आया । टेस्ट में ज्यादातर पॉजिटिव मलेरिया के निकले। मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। जिले में अब तक 102 लोगों की मौत हो चुकी है। गांवों में मलेरिया विभाग ने पहले से कोई इंतजाम नहीं किया, जिसके कारण मौते हुई हैं। अब स्वास्थ्य विभाग नींद से जागा है। जिले में कई सालों से मलेरिया विभाग में कोई अधिकारी नहीं है। विभाग में कई सालों से कर्मचारियों की कमी है।

सरकारी अस्पताल में दवा नहीं
बदायूं में अब तक 102 लोगों की मौते हो चुकी है। जगत ब्लॉक के बेला गांव में पहुंचे तब पता चला कि यहां पर स्वस्थ्य विभाग की टीम है। टीम में डॉक्टर महेंद्र गंगवार ने बताया कि बहुत गंदगी है, जिससे कारण मच्छर पनप रहा है। मच्छर के काटने से यह मौतें हो रही हैं। जांच में मलेरिया की पुष्टि हुई है। वायरल से इतनी जल्दी मौतें नहीं हो सकती हैं। बता दें कि पंचायत और मलेरिया विभाग अपना काम कर लेते तो इन मौतों को रोका जा सकता था। वहीं जिन लोगो में मलेरिया पॉजिटिव आ जाता है, तो इसकी दवा भी स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं है। उसके लिए जिला अस्पताल मरीज को जाना होता है। डॉक्टरों का कहना है कि हमारे पास जो दवाये हैं, उन्हें ही दे सकते हैं। .

मलकापुर कौर गांव में छह मौतें
मलिकापुर कौर गांव में अमर सिंह के बड़े भाई की मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि अमर सिंह को बुखार आया था, जिसके बाद कई जगह से दवा ली लेकिन स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ और मौत हो गई। गांव में अब तक छह लोगों की मौत ऐसे ही हो चुकी है। गांव के श्याम सिंह ने बताया कि उन्हें ठण्ड देकर बुखार आता है और शारीर में ऐंठन होती है। डॉक्टर कोई इस बुखार का कारण नहीं बताता है। अगर जिला अस्पताल जाओ तो एक घंटे में नम्बर लाइन में आता है।

Ad Block is Banned