अस्पताल के फर्श पर पड़ी महिला दर्द से करहाती रही, डॉक्टरों ने नहीं सुनी सिसकियां

यूपी में सत्ता तो बदली लेकिन बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था है कि बदलने का नाम नहीं ले रही।

By: Rahul Chauhan

Published: 20 Jul 2018, 11:39 AM IST

बुलंदशहर। यूपी में सत्ता तो बदली लेकिन बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था है कि बदलने का नाम नहीं ले रही। यही कारण है कि अलग-अलग जनपदों से आए दिन लचर स्वास्थ्य व्यवस्था की तस्वीरें सामने आती रहती हैं। वहीं अब बुलंदशहर के जटिया सीएचसी से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां पेट दर्द में एक पीड़िता अस्पताल परिसर में फर्श पर पड़ी तड़पती रही, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने उसे उठाने की जहमत नहीं उठाई। वहीं जब कैमरा अस्पताल परिसर में पहुंचा तो डॉक्टरों को महिला की याद आई और उसे वार्ड में ले जाया गया।

यह भी पढ़ें : पति ने पत्नी को डाक से भेजा कुछ ऐसा सभी के पैरो तले खिसक गई जमीन, मामला पहुंचा थाने

दरअसल, डॉक्टरों के मुताबिक पीड़िता को कई दिन पहले जटिया सीएचसी में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद उसका इलाज कर छुट्टी दे दी गई थी, लेकिन गुरुवार शाम पीड़िता के पेट मे फिर तेज दर्द हुआ और परिजन उसे लेकर फिर सीएचसी पहुंचे। यहां तेज दर्द होने के कारण वह अस्पताल परिसर के फर्श पर ही लेट गई। वहीं आरोप है कि महिला कई घंटे दर्द के कारण फर्श पर लेटी रही लेकिन अस्पताल प्रशासन के किसी भी कर्मचारी ने सुध नहीं ली। हालांकि जब परिसर में कैमरे पहुंचा तो पीड़ित महिला को वार्ड में ले जाया गया।

यह भी पढ़ें : कमिश्नर ने किया घटना स्थल का दौरा, हर 3 घंटे में सीएम योगी को भेजी जा रही रिपोर्ट

डॉ. अजीत बाबा का कहना है कि महिला कई दिन पहले यहां इलाज कराने के लिए भर्ती हुई थी। जिसके बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया था। लेकिन गुरूवार फिर से उसे पेट में दर्द हुआ जिसके कारण वह फर्श पर लेट गई। लेकिन जैसे ही स्टाफ को इस बारे में पता चला तो वह महिला को वार्ड में ले आए। यदि इस मामले में किसी की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned